विज्ञापन

लाल बछिया के जन्म से दुनिया के शीघ्र खात्मे के संकेत, दहशत

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 12 Sep 2018 01:42 PM IST
इस्राइल में जल्द ही दुनिया के अंत का संकेत करने वाली रहस्यमयी लाल बछिया के पैदा होने की चर्चा है।
इस्राइल में जल्द ही दुनिया के अंत का संकेत करने वाली रहस्यमयी लाल बछिया के पैदा होने की चर्चा है।
विज्ञापन
ख़बर सुनें
इस्राइल में जल्द ही दुनिया के अंत का संकेत करने वाली रहस्यमयी लाल बछिया के पैदा होने की चर्चा है। माना जा रहा है कि 2000 हजार सालों में पहली बार इस्राइल में लाल बछिया अवतरित हुई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बछिया के कारण लोगों में दहशत है।
विज्ञापन
लोगों में यह आशंका घर करने लगी है कि परस्पर शत्रु देशों की सेनाएं एक दूसरे के खिलाफ भिड़ने की तैयारी में हैं और जल्द ही दुनिया का खात्मा हो जाएगा। ईसाई और यहूदी, दोनों के ही धर्म ग्रंथों के मुताबिक लाल बछिया का धरती पर पैदा होना दुनिया के सर्वनाश का संकेत है।

हालांकि येरूशलम स्थित टेंपल इंस्टीट्यूट की ओर से कहा गया है कि नवजात बछिया का गहन परीक्षण किया जा रहा है। परीक्षण के बाद विशेषज्ञ बताएंगे कि बछिया पूरी तरह लाल है या नहीं। बताया जा रहा है कि देवदूत को ईश्वर ने बताया था कि पहली लाल गाय के पैदा होने के साथ ही दुनिया का विनाश हो जाएगा।



बछिया के पैदा होने की घोषणा खुद टेंपल इंस्टीट्यूट ने यूट्यूब पर की है और यह भी बताया है कि बछिया का परीक्षण जारी है। यदि बछिया में कोई खामी नहीं पाई गई तो इंस्टीट्यूट घोषित करेगा कि दुनिया के समक्ष बाइबिल की सत्यता को एक बार फिर बहाल करने का वादा पूरा हो गया है।
 
अंतिम फैसले का दिन
ईसाईयों और यहूदियों में दुनिया के अंत से जुड़ी भविष्यवाणियों में लाल गाय सबसे महत्वपूर्ण चीज है। बाइबिल में कहा गया है कि धरती पर एक पूर्ण रूप से लाल बछिया के जन्म लेने का मतलब है कि यहूदी मसीहा ने जन्म ले लिया है।

इसके बाद मानव को अंतिम फैसले का सामना करना पड़ेगा। जो भी व्यक्ति नैतिकता और भगवान में विश्वास करने वाला होगा उसको अपना नाम ‘जीवन की किताब’ में दर्ज कराने का अधिकार होगा यानी वह जिंदा रहेगा। लेकिन जिनका नाम इस किताब में नहीं होगा उनको आग की दरिया में फेंक दिया जाएगा। 
 
तीसरे टेंपल के निर्माण की कवायद
बताया जा रहा है कि लाल बछिया की बलि देने के बाद येरूशलम स्थित माउंट मोरिया पर तीसरे टेंपल का निर्माण किया जा सकता है। टेंपल इंस्टीट्यूट समेत दुनिया भर के अन्य संगठन माउंट मोरिया पर तीसरा टेंपल बनाने की तैयारी में जुट गए हैं।

लेकिन तीसरा टेंपल तभी बनेगा जब वहां पहले से मौजूद चीजों को ध्वस्त किया जाए। कट्टरपंथी यहूदियों के मुताबिक टेंपल को दोबारा बनाया गया तो दुनिया में यहूदी मसीहा अवतरित हो जाएंगे। यह रहस्यमयी घटना उस तथ्य की याद दिलाती है जिसे ईसाई ‘द रैपचर’ कहते हैं। माना जाता है कि द रैपचर की स्थिति में सभी ईसाई श्रद्धालु (मृत और जीवित) आकाश में पहुंचकर प्रभु ईसामसीह के साथ रहने लगेंगे। 

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Rest of World

डिनर का बिल 42 लाख रुपये, दुबई के प्रिंस ने खाया अब तक का सबसे महंगा खाना

दुबई के एक प्रिंस ने चीन में 4,00,000 युआन (42.29 लाख रुपए) का डिनर का बिल चुकाया है। प्रिंस द्वारा चुकाए गया बिल सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है।

24 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी के छात्रों ने सफाईकर्मी को दिया हैरतंगेज तोहफा

ब्रिटेन की ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी के छात्रों ने कुछ ऐसा किया कि उनकी हर जगह वाहवाही हो रही है। उन्होंने अपनी यूनिवर्सिटी के एक सफाईकर्मी को कभी न भूलने वाला तोहफा दिया है। हरमन गोर्डन पिछले एक दशक से अपने देश नहीं जा पा रहे थे जिनकी मदद छात्रों ने की।

21 सितंबर 2018

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree