Hindi News ›   World ›   Australian Special Trade Envoy Tony Abbott said that India has emerged as a better option due to trade dispute with China

'ये था भारत का चालाक कदम': चीन से जुड़े समझौते का जिक्र करते हुए ऐसा क्यों बोले ऑस्ट्रेलियाई पीएम के विशेष प्रतिनिधि

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव Updated Fri, 03 Dec 2021 09:47 AM IST

सार

ऑस्ट्रेलियाई प्रतिनिधि ने कहा कि चीन बहुत बदल चुका है। वह अब शस्त्र का व्यापार करता है। उसके मनमाने रवैये के कारण उस पर भरोसा नहीं किया जा सकता। 
 
भारत चीन
भारत चीन - फोटो : iStock
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

चीन की गलत व्यापारिक नीतियों और उसके मनमाने रवैये के चलते कई देश उससे दूरी बनाने लगे हैं। शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया ने चीन की साजिशों एक बार फिर पर्दाफाश किया है। ऑस्ट्रेलियाई पीएम के विशेष प्रतिनिधि और पूर्व पीएम टोनी एबॉट ने कहा कि चीन व्यापार का शस्त्रीकरण कर रहा है और उसने ऐसी परिस्थितियां पैदा कर दीं हैं, जिससे उसे एक विश्वसनीय साझेदार के रूप में नहीं देखा जा सकता। 

विज्ञापन


टोनी एबॉट ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में, हमनें एक बहुत ही अलग चीन देखा है। जो चीन हम लोग देख रहे हैं वह लोगों की पीठ पर छुरा घोंप रहा है। यही कारण है कि चीन ने मनमाने ढंग से ऑस्ट्रेलिया के साथ 20 बिलियन डॉलर के व्यापार को रद्द कर दिया। 


चीन को सबक सिखाने के लिए चालाकी से आगे बढ़ रहा भारत
ऑस्ट्रेलिया के विशेष प्रतिनिध ने कहा कि कई देशों के साथ चीन के व्यापारिक विवाद के चलते भारत एक विकल्प के तौर पर उभर कर सामने आया है। क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदार(आरसीईपी) से दूर रहना भारत का एक चालाक कदम था, जिसने चीन को उसी की भाषा में जवाब दिया।  

आर्थिक रूप से टेकऑफ करने की दहलीज पर भारत
टोनी एबॉट ने कहा भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है। उसके पास वह सबकुछ है, जो दुनिया को चाहिए। वह आर्थिक रूप से टेकऑफ करने की दहलीज पर पहुंच चुका है। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि हम भारत के साथ एक प्रारंभिक फसल व्यापार समझौता कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुक्त व्यापार समझौता भारत और ऑस्ट्रेलिया की बेहतरी के लिए होगा। 

'मेक इन इंडिया' के लिए हमारे पास सब कुछ 
उन्होंने कहा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया आर्थिक भागीदार हैं। भारत इस समय एक बड़ा उत्पादक देश बन चुका है और ऑस्ट्रेलिया के बाद प्राकृतिक संसाधन वाली अर्थव्यवस्था है। भारत के 'मेक इन इंडिया' की हर जरूरत को हम पूरा कर सकते हैं। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00