विज्ञापन
विज्ञापन
Home ›   Video ›   Specials ›   LOK SABHA ELECTIONS 2019: SATIRE ON PRESENT SITUATION OD INDIAN POLITICS

‘टिकट’ परमो धर्म: ... विचारधारा गई तेल लेने, देखिए क्या है “भारतीय टिकट पार्टी”

1K Views
वीडियो डेस्क, अमर उजाला डॉट कॉम Updated Wed, 10 Apr 2019 10:27 PM IST

हरिशंकर परसाई ने अपने एक व्यंग्य में प्रजातंत्र को बचाने के सवाल को मजेदार तरीके से उठाया था। उन्होंने कहा ये प्रजातंत्र कैसे बचेगा और बच भी गया तो इसका करेंगे क्या? उस दौर के किस्सों को उन्होंने शामिल किया था लेकिन उनका एक किरदार भैया जी अब भी मौजूं है। वो भैया जी से पूछते हैं कि प्रजातंत्र कैसे बचेगा। भैया जी जवाब में कहते हैं 'हमें तो बस इतना पता है हम बचेंगे तो प्रजातंत्र बचेगा'। अब चलूं जरा टिकिट की जुगाड़ करनी है। एक लाइन में भारतीय टिकट पार्टी की बेहतरीन भूमिका परसाई जी ने रख दी थी। देखिए भारतीय लोकतंत्र की वास्तविकता से जुड़ी ये खास रिपोर्ट।

अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Latest

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
सबसे तेज अनुभव के लिए
अमर उजाला लाइट ऐप चुनें
Add to Home Screen
Election