पाटाखाल क्षेत्र के ग्रामीण भी खौफजदा

Pauri Updated Fri, 14 Dec 2012 05:30 AM IST
श्रीनगर। हिंडोलाखाल ब्लॉक के पट्टी पाटाखाल क्षेत्र के गांवों के लोग भी गुलदार की धमक से भयभीत हैं। दिन ढलने से पहले ही बस्तियों की ओर रुख कर रहे गुलदार ने अब तक क्षेत्र में कई मवेशियों को भी अपना शिकार बना दिया है। लोगों ने वन विभाग से क्षेत्र में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने की मांग की है।
क्षेत्र के गौंली, गुरूछोली, सौडू, भंडाली, नौली, बरसोली एवं पाटाखाल-मयाली में कई दिनों से लोगों में दिन-दोपहर गुलदार के दिख जाने से असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। पाटाखाल के संजय उनियाल का कहना है कि एक माह पूर्व गौंली के भक्तिराम का बैल और दस दिन पूर्व गौंली के मुकुंदीराम एवं बरसोली के मुंशीराम की एक-एक बकरियों के साथ ही उमरी गांव के चार-पांच मवेशियों को गुलदार शिकार बना चुका है। गौंली के प्रमोद ने बताया कि बुधवार को सौडू के सामने दोपहर 12 बजे के करीब गुलदार बस्ती की ओर देखा गया। बरसोली की प्रधान राजेश्वरी उनियाल ने कहा कि इस तरह दिन-दोपहर बस्तियों की ओर रुख कर रहे गुलदार से लोग सहमे हुए हैं। वन क्षेत्राधिकारी डांगचौरा विक्रम सिंह बिष्ट ने कहा क्षेत्र में वन विभाग की टीम शीघ्र गश्त के लिए भेजी जा रही है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

देहरादून में हुआ शानदार कार्यक्रम, झूमते नजर आए आम लोग

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में अखिल गढ़वाल सभा की ओर से परेड ग्राउड में उत्तराखंड महोत्सव ‘कौथिग’ में पांचवे दिन लोक गायकों के गीत का जादू लोगों के सर चढ़कर बोला। लोकगायक अनिल बिष्ट, संगीता ढौडियाल, कल्पना चौहान, हीरा सिंह राणा ने समा बांध दिया।

30 अक्टूबर 2017