ईस्टर पर प्रभु यीशु की भक्ति में मगन हुए मसीही

Amarujala Local Bureau अमर उजाला लोकल ब्यूरो
Updated Sun, 12 Apr 2020 02:02 PM IST
church
church - फोटो : demo
विज्ञापन
ख़बर सुनें
झांसी। प्रभु यीशु के पुर्नउत्थान का पर्व ईस्टर रविवार को मसीही समाज के लोगों ने उत्साह से मनाया। चर्चों और घरों में सुबह चार बजे कैंडिल प्रज्ज्वलित किए गए। पवित्र बाइबिल का पाठ किया और प्रभु यीशु की स्तुति की। लॉकडाउन के कारण चर्चों में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक रही। हालांकि प्रार्थनाओं व पूजा का प्रसारण ऑनलाइन हुआ। वहीं, त्योहार पर एक दूसरे को ईस्टर बनी व ईस्टर एग दिए और शुभकामनाएं दीं।
विज्ञापन

भोर होते ही सभी मसीही परिवारों के घरों में प्रार्थनाएं शुरू हो गई थीं। घरों में सभी लोगों ने जगह - जगह कैंडल प्रज्ज्वलित किए और प्रभु यीशु की स्तुति करना शुरू कर दी। साथ ही पवित्र बाइबिल का पाठ किया। यलो चर्च में रेव्हरन जॉन एस स्टीफन ने प्रार्थना की। उन्होंने कहा कि प्रभु यीशु के दुनिया में आने का जो मकसद था, वह उनके पुनर्जीवित होने पर पूर्ण हुआ। ईश्वरीय सामर्थ जिसमें मनुष्य की रचना हुई है। उसकी सामर्थ के द्वारा प्रभु पुन: जीवित हुए हैं। हम इस पर विश्वास करें और अपने प्राणों को नाश होने से बचायें। सेंट एंथोनी चर्च में ईस्टर की प्रार्थना हुई। बिशप स्वामी पीटर परापुल्लिल ने कहा कि मनुष्य को नया जीवन देने के लिए प्रभु यीशु पुनर्जीवित हुए हैं। वह मृत्यु के बाद तीसरे दिन पुर्नजीवित हो उठे थे। प्रार्थना एवं पूजा का प्रसारण ऑनलाइन किया गया। सेंट जूड चर्च में फादर फ्रेडरिक ने लोगों के सुख शांति के लिए प्रार्थना की। इधर, अनुकृति मसीह, ऋतिका, जैनीफर, साशा, अमन, इवा आदि श्रद्धालुओं ने अपने - अपने घरों में ईस्टर की प्रार्थनाएं कीं और कैंडिल प्रज्ज्वलित किए।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00