'My Result Plus

ब्रह्म मुद्रा योग से दूर करें अवसाद

नई दिल्ली/इंटरनेट डेस्क Updated Wed, 26 Dec 2012 04:42 PM IST
brahma mudra yogasana cures depression
ख़बर सुनें
सर्दियों में अवसाद की समस्या की आशंका सबसे अधिक होती है। वैसे भी बदलती जीवनशैली, तनावमुक्त वातावरण और प्रदूषित पर्यावरण की वजह से भी अवसाद के मामले निरंतर बढ़ रहे हैं। योग में अवसाद के उपचार के लिए ब्रह्म मुद्रा आसन बहुत कारगर योगासन है। इसके नियमित अभ्यास से आपको न सिर्फ अवसाद से मुक्ति मिलती है बल्कि कई मानसिक व शारीरिक समस्याओं का भी निदान होता है।
कैसे करें ब्रह्म मुद्रा आसन
इस आसन को करने के लिए पहले पद्मासन, सिद्धासन या वज्रासन में अच्छी तरह से बैठ जाएं। फिर गर्दन सीधी रखते हुए धीरे-धीरे दाईं ओर ले जाएं। कुछ देर रुकें और फिर गर्दन को सीधे बाईं ओर ले जाएं। फिर कुछ सेकंड बाद पुनः दाईं ओर सिर घुमाएं। अब सिर को 3-4 बार क्लॉकवाइज और उतनी ही बार एंटी क्लॉकवाइज घुमाएं।

ब्रह्म मुद्रा के लाभ
इस आसन को करने से अवसाद व तनाव तो दूर होता है ही, साथ ही मूड फ्रेश रहता है। इसके नियमित अभ्यास से गर्दन की मांसपेशियां लचीली होती हैं और स्पोंडिलाइटिस नहीं होता। इससे आलस्य भी कम होता जाता है और बदलते मौसम के सर्दी-जुकाम और खाँसी से छुटकारा भी मिलता है।

ध्यान रखें
जिन लोगों को सर्वाइकल स्पोंडिलाइटिस, थाइरॉयड या गर्दन से संबंधित कोई गंभीर रोग हो वे चिकित्सक की सलाह पर ही यह योगासन करें।

Spotlight

Most Read

Yog-Dhyan

समस्या उन चीजों की वजह से खड़ी होती है, जिन्हें आपने रचा है

ईश्वर कहीं ऊपर स्वर्ग में हैं, उनसे मिलने के लिए वहां जाना होगा। ऐसा मानने वालों की संख्या कोई दो तिहाई तो होगी ही।

20 अप्रैल 2018

Related Videos

VIDEO: भाषण के दौरान ही भड़क गए नीतीश कुमार, देखिए वजह

बिहार के दरभंगा जिले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उज्जवला योजना के दूसरे चरण का शुभारंभ किया। इस दौरान नीतीश कुमार को गुस्सा आ गया। धर्मेंद्र प्रधान ने भी इस दौरान भारत के विकास मॉडल की तारीफ की

20 अप्रैल 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen