लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Oscars 2023: ऑस्कर पुरस्कारों के लिए एंट्री शुरू, जानिए बीते 10 साल में भेजी गईं भारतीय फिल्में और प्रक्रिया

अमर उजाला ब्यूरो, मुंबई Published by: निधि पाल Updated Sun, 03 Jul 2022 07:37 PM IST
पिछले 10 साल में ऑस्कर में भेजी गई फिल्में
1 of 5
विज्ञापन
ऑस्कर पुरस्कारों में अंग्रेजी के अलावा दुनिया के अलग अलग देशों से तमाम दूसरी भाषाओं की फिल्में भी पुरस्कार पाने की होड़ में शामिल होती हैं। ये फिल्में अगर अमेरिका के किसी सिनेमाघर में तय मानदंडों के अनुसार हफ्ते भर से ज्यादा प्रदर्शित होती हैं तो इन्हें सीधे भी प्रतियोगिता में शामिल माना जाता है, लेकिन किसी देश का आधिकारिक प्रतिनिधित्व करने वाली फिल्में 'इंटरनेशनल फीचर फिल्म अवार्ड' कैटेगरी में मुकाबला करने उतरती हैं। ये वही कैटेगरी है जिसे पहले 'बेस्ट फॉरेन लैंग्वेज फिल्म अवॉर्ड' कहा जाता था। भारत से भी हर साल किसी एक फिल्म को इन पुरस्कारों में भेजा जाता है और आपको शायद ये जानकर हैरानी हो कि इस फिल्म के चुनाव को लेकर जो संस्था फैसला करती है, उसका भारत सरकार से कोई लेना देना नहीं है। अगले साल के ऑस्कर पुरस्कारों के लिए भारतीय फिल्मों मे से किसी एक फिल्म की चयन प्रक्रिया शुरू हो गई है।
पिछले 10 साल में ऑस्कर में भेजी गई फिल्में
2 of 5
फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया
देश में बनने वाली अलग अलग भाषाओं की फिल्मों को बनाने वालों की देश के अलग अलग राज्यों में अलग अलग संस्थाएं हैं। इन सारी संस्थाओं को मिलाकर बनी एक संस्था फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया बरसों से अस्तित्व में हैं। पूरे साल ये फेडरेशन क्या करती है किसी को नहीं पता। भारतीय सिनेमा के उत्थान में इसका अब कितना योगदान है, सिनेमा पर बहस, चर्चा, सिनेमा के पुरस्कारों में ये संस्था कितना शामिल होती है, इस पर भी कहीं कोई खबर नहीं आती। बस ऑस्कर पुरस्कारों के लिए देश की आधिकारिक प्रविष्टि भेजने से ऐन पहले इसका नाम चर्चा में आता है।
विज्ञापन
ऑस्कर अवॉर्ड
3 of 5
यूनियनों के नुमाइंदों से बनी ज्यूरी
फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया हर साल भारत से भेजी जाने वाली फिल्म को चुनने के लिए अलग अलग राज्यों में स्थित फिल्म यूनियनों के प्रतिनिधि चुनती है। ये ज्यूरी ऑस्कर पुरस्कारों के लिए भारत की आधिकारिक प्रविष्टि पर दावा करने वाली फिल्में देखती है और उन पर चर्चा के बाद किसी एक फिल्म को भारत की आधिकारिक प्रविष्टि के रूप में ऑस्कर अकादमी को भेजती है।
मदर इंडिया
4 of 5
साल 1957 से हुई शुरुआत
ऑस्कर पुरस्कार समारोहों में भारत की तरह से सबसे पहली एंट्री फिल्म ‘मदर इंडिया’ की साल 1957 में भेजी गई थी और ये बेस्ट फॉरेन लैंग्वेज फिल्म कैटेगरी में नामांकित होने में भी सफल रही थी। इस फिल्म के अलावा भारत से भेजी गई सिर्फ दो और फिल्में अब तक इस कैटेगरी में नामित होने में कामयाब हो सकी हैं। ये फिल्में हैं 1988 में नामित हुई फिल्म ‘सलाम बॉम्बे’ और 2001 के समारोह में नामित हुई फिल्म ‘लगान’।
 
विज्ञापन
विज्ञापन
ऑस्कर 2022
5 of 5
बीते 10 साल में भेजी गई फिल्में
फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया की तरफ से बीते 10 साल में ऑस्कर पुरस्कार समारोह में भारत की आधिकारिक प्रविष्टि के तौर पर भेजी गई फिल्मों की सूची इस प्रकार है:
 
साल फिल्म भाषा निर्देशक
2021 कूझांगल तमिल पी एस विनोदराज
2020 जल्लीकट्टू मलयालम लिजो जोस पेल्लिस्सेरी
2019 गली बॉय हिंदी जोया अख्तर
2018 विलेज रॉकस्टार्स असमिया रीमा दास
2017 न्यूटन हिंदी अमित मासुरकर
2016 विसरानई तमिल वेट्रिमारन
2015 कोर्ट  मराठी चैतन्य तम्हाणे
2014 लायर्स डाइस हिंदी  गीतू मोहनदास
2013 द गुड रोड गुजराती ग्यान कोर्रया
2012 बर्फी हिंदी अनुराग बसु
2011 अबू, सन ऑफ एडम मलयालम सलीम अहमद
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00