विज्ञापन

भगोड़ा घोषित हरेंद्र का कोर्ट में सरेंडर

शाहजहांपुर Updated Mon, 01 Dec 2014 07:43 PM IST
harendra surrendra in court
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय कांट की टीचर नेहा पाल के आत्महत्या के बहुचर्चित मामले में एक आरोपी हरेंद्र सिंह ने सीजेएम कोर्ट में सोमवार को सरेंडर कर दिया। उसके सरेंडर करने की वजह पुलिस द्वारा की जा रही उसकी संपत्ति की कुर्की करने की तैयारी को माना जा रहा है। वहीं, दूसरी आरोपी शिखा भारती अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।
विज्ञापन
सोमवार को खचाखच भरी अदालत में साढे़ 12 बजे के बाद हरेंद्र सीजेएम कोर्ट में सरेंडर करने के लिए पहुंच गया। इससे पहले पुलिस को भी इसकी भनक नहीं लग सकी। सरेंडर करने के 15 मिनट के बाद पुलिस ने उसे लॉकअप में भेज दिया, जिससे कोई वाद-विवाद न हो।
कांट के पड़ैंचा स्थित कस्तूरबा विद्यालय की टीचर नेहा पाल के 23 जुलाई को हुई आत्महत्या के मामले में नेहा ने एक सुसाइड नोट लिखा था, जिसमें नेहा ने अपनी मौत का जिम्मेदार शिखा और हरेंद्र को बताया था। नेहा पाल के पिता ने अदालत से दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की थी। इस पर अदालत ने करीब 18 दिन पहले दोनों के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया था। बावजूद इसके पुलिस न तो उन लोगों को पकड़ सकी और न ही दोनों में से किसी ने कोर्ट में सरेंडर किया।  
केस के विवेचक सीओ सिटी राजेश्वर सिंह ने गिरफ्तारी का दबाव बनाने के लिए शिखा भारती और हरेंद्र सिंह की संपत्ति को कुर्क करने को प्रार्थना-पत्र दिया था, जिस पर सीजेएम ने गैर जमानती वारंट जारी किया था। बाद में अदालत से उन दोनों के फरार होने की घोषणा कर दी थी। इसके बाद दोनों की संपत्ति की कुर्की की जा सकती थी। इसी दबाव के चलते सोमवार को हरेंद्र सिंह ने अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

दोनों पाली की टीईटी परीक्षा से 728 परीक्षार्थी गैरहाजिर

शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) में 728 अभ्यर्थी गैरहाजिर थे। दोनों पालियों की परीक्षा में 15 हजार 156 अभ्यर्थी पंजीकृत थे, जिनमें 14 हजार 228 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। परीक्षा में नकल को लेकर प्रशासन सतर्क रहा।

18 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

मध्यप्रदेश चुनावः अखबार बेचने वाले बच्चे ने खोली नेताओं की पोल

सत्ता का सेमीफाइनल के तहत अमर उजाला डॉट कॉम का चुनावी रथ राजनीतिक हालातों का जायजा लेने मध्यप्रदेश पहुंचा हुआ है। लोगों से राय लेने के दौरान हमने एक बच्चे से भी कुछ जानना चाहा। आइए देखते हैं बच्चे ने नेताओं के लिए क्या कहा...

12 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree