विज्ञापन

दवा कब खानी है एसएमएस से जानें

नई दिल्ली/इंटरनेट डेस्क Updated Fri, 28 Dec 2012 04:34 PM IST
know medicine schedule through sms
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कितना अच्छा रहे कि कोई आपको एसएमएस करके याद दिला दे कि आपको दवा कितने बजे लेनी है या फिर आपकी एक कॉल पर डॉक्टर खुद घर आ जाए।
विज्ञापन
यह नया चलन मेट्रो के साथ-साथ छोटे शहरों में भी तेजी से पॉपुलर हो रहा है। यानी आप सिर्फ फोन या इंटरनेट की मदद से हेल्थ सर्विसेज सबस्क्राइब कर सकते हैं।

डोर-टू-डोर सुविधाएं
डोर-टू-डोर सर्विसेज़ में रजिस्ट्रेशन के बाद फोन कॉल या एसएमएस पर हेल्थ सर्विसेज उपलब्ध कराई जाती हैं। आपात स्थिति- जैसे दिल का दौरा पड़ने पर आपको डॉक्टर की तलाश में दौड़ना नहीं पड़ेगा बल्कि आस-पास का कोई डॉक्टर सीधे आपके घर भेजा जाएगा।

बच्चे के टीके से लेकर सभी तरह के टेस्ट के लिए घर पर ही हेल्थ केयर एक्जिक्यूटिव आएगा। न सिर्फ आप कॉल करके दवाएं घर पर मंगा सकते हैं बल्कि आपको यह भी बताया जाएगा कि दवाएं किस वक्त लेनी हैं।

इस सर्विस में बीमारियों से बचाव तथा हेल्थ से जुड़ी सारी महत्वपूर्ण जानकारियां आपको फोन पर मिलती रहेंगी। इतना ही नहीं, मेडिकल बीमा तक आप अपने घर पर ही करवाने में सक्षम होंगे।

छोटे शहरों पर फोकस
इस तरह की सर्विसेज दरअसल बड़े शहरों की बजाय छोटे शहरों ज्यादा पॉपुलर हो रही हैं। जहां सही जानकारी व अच्छी सुविधाओं का अभाव है।

कर्तव्य हेल्दिऑन- जो मोबाइल हेल्थ सर्विसेज मुहैया कराती है- के निदेशक अनिल नायक का मानना है कि ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए संरचना का अभाव है। ज्यादातर कंपनियां इसे समझती हैं और व्यवसाय को इस दिशा में बढ़ा रही हैं।

वर्ष 2017 तक मोबाइल और इंटरनेट स्वास्थ्य सेवाओं का बाजार 3000 करोड़ तक पहुंच सकता है। बढ़ती संभावनाओं को देखते हुए तमाम सरकारी व गैर-सरकारी संस्थाएं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में मोबाइल व इंटरनेट स्वास्थ्य सेवाओं में निवेश कर रही हैं।

भले ही मोबाइल आज छोटे-छोटे कस्बों तक पहुंच गया हो, लोगों में हेल्थ सर्विसेज के प्रति जागरूकता बहुत कम है। अनिल मानते हैं कि जानकारी का अभाव छोटे शहरों में ही नहीं बल्कि बड़े शहरों में भी है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all update about cricket news, Entertainment news , fitness news, bollywood news in hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Healthy Food

स्वाद बढ़ाने वाले गरम मसालों का सेहत पर पड़ता है ये प्रभाव, फायदे के साथ नुकसान भी जान लें

काली मिर्च वात और कफ का शमन करती है और पित्त बढ़ाती है। काली मिर्च की तासीर गर्म होती है। वहीं, पीपल स्नायुतंत्र को ठीक रखने के लिए अधिक उपयोगी रहती है।

19 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

तांबे का बर्तन इन चीजों को बना देता है जहर

तांबे के बर्तन में रखा पानी अमृत समान माना जाता है। लेकिन यही तांबा और चीजों के साथ मिलकर खाने को जहर भी बना सकता है।

4 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree