उमा भारती ने याद दिलाया -जब नेहरू ने मांगी थी RSS से मदद

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भोपाल Updated Thu, 15 Feb 2018 10:04 AM IST
uma bharti remembring when pakistan attacked on india Jawaharlal Nehru asked Rss for Assistance
पिछले दिनों आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के तीन दिनों के भीतर सेना तैयार करने वाले बयान के बाद लगातार सुर्खियों में बने हुए है। भागवत के इस बयान के बाद जहां कांग्रेस इसे सेना का अपमान बता रही है वहीं केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने दावा किया है कि आजादी के बाद जब पाकिस्तान ने हमला किया था तब प्रधानमंत्री जवाहलाल नेहरू ने आरएसएस से मदद मांगी थी।
 
उमा भारती ने एकबार फिर से इतिहास की तरफ ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि आजादी के बाद कश्मीर के राजा महाराजा हरि सिंह संधि पर हस्ताक्षर नहीं कर रहे थे और शेख अब्दुल्ला ने हस्ताक्षर करने के लिए उनपर दबाव डाला था। तेब नेहरू दुविधा की स्थिति में आ गए थे। आजादी के बाद जब भारत पाकिस्तान राज्यों के विलय के लिए संधि कर रहे थे।तभी भारत पाकिस्तान के बीच युद्ध जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई थी। 

उमा ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि पाकिस्तान ने भारत पर हमला कर दिया था और उसके सैनिक उधमपुर की तरफ बढ़ने लगे। उस समय नेहरूजी ने गुरू गोवलकर (उस समय के आरएसएस प्रमुख एम एस गोवलकर) आरएसएस के स्वयंसेवकों की मदद मांगी, जिसके बाद आरएसएस स्वयंसेवक मदद को जम्मू-कश्मीर गए थे।

 
आगे पढ़ें

भागवत अपने बयानों की वजह से अकसर ही चर्चा  में बने रहते हैं

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

नीरव मोदी के वकील का दावा, 2G और बोफोर्स की तरह कोर्ट में नहीं टिक पाएगा पीएनबी घोटाला केस

अरबपति ज्वेलरी डिजाइनर और पीएनबी घोटाले में आरोपी नीरव मोदी के वकील ने मंगलवार को दावा किया कि उनके मुवक्किल को इस मामले में जेल नहीं जाना पड़ेगा क्योंकि यह केस कोर्ट में नहीं टिक पाएगा।

21 फरवरी 2018

Related Videos

पीएनबी घोटाले पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने तोड़ी चुप्पी, कहा...

पीएनबी घोटाले पर वित्ति मंत्री अरुण जेटली ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि, धोखेबाजों को सरकार नहीं छोड़ेगी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ऑडिटर्स, मैनेजमेंट और निगरानी एजेंसियों पर सवाल उठाए हैं।

21 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen