लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Supreme Court to hear tomorrow the plea of freelance journalist Prashant Kanojia against his arrest

पत्रकार प्रशांत की याचिका पर कल सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट, यूपी सीएम पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Sneha Baluni Updated Mon, 10 Jun 2019 11:27 AM IST
उच्चतम न्यायालय (फाइल फोटो)
उच्चतम न्यायालय (फाइल फोटो)
ख़बर सुनें

उच्चतम न्यायालय स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनोजिया को गिरफ्तार करने की याचिका के खिलाफ मंगलवार को सुनवाई करने के लिए राजी हो गया है। प्रशांत को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने और एक बदनाम करने वाला वीडियो शेयर करने के कारण उत्तर प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार किया है।


 

न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की अवकाश पीठ ने सोमवार को एक वकील के इस प्रतिवेदन का संज्ञान लिया कि गिरफ्तार किए पत्रकार की पत्नी की याचिका पर तत्काल सुनवाई की आवश्यकता है क्योंकि यह गिरफ्तारी ‘अवैध’ और ‘असंवैधानिक’ है। पत्रकार की पत्नी जिगीशा अरोरा ने कनौजिया की गिरफ्तारी को चुनौती देते हुए बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर की है। 

कनोजिया को लखनऊ पुलिस ने शनिवार को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। उनके खिलाफ हजरतगंज थाने में तैनात उपनिरीक्षक की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। लखनऊ पुलिस के दो पुलिकर्मियों ने प्रशांत को दोपहर करीब साढ़े 12 बजे गिरफ्तार किया गया।

प्रभारी निरीक्षक हजरतगंज राधारमण सिंह के मुताबिक प्रशांत ने मुख्यमंत्री को लेकर ट्विटर पर यह आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इसके बाद मुख्यमंत्री कार्यालय से जुड़े अधिकारी तत्काल हरकत में आए। देर रात को एसएसपी कलानिधि नैथानी को टिप्पणी करने वाले युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने का निर्देश जारी हुआ था।

हजरतगंज थाने में तैनात उपनिरीक्षक विकास कुमार ने प्रशांत के खिलाफ तहरीर दी, जिसके बाद मुकदमा दर्ज हुआ। क्षेत्राधिकारी हजरतगंज के मुताबिक आरोपी की तलाश में साइबर सेल और थाने की पुलिस लगाई गई थी। 

पत्नी का दावा सादे कपड़ों में आए लोगों ने किया गिरफ्तार 

गिरफ्तारी के समय प्रशांत की पत्नी जगीशा अरोरा उनके साथ थी। उनके अनुसार घर पहुंचे दो लोग सादी वर्दी में थे। उन्होंने खुद को लखनऊ हजरतगंज पुलिस के अधिकारी बताया और गिरफ्तार करते हुए सड़क मार्ग से लखनऊ ले गए। पत्नी का आरोप है कि उन्हें गिरफ्तारी वारंट तक नहीं दिखाया गया।

‘हिंदी’ और सीएम योगी को अपना प्रेमी बताती युवती मामले में टिप्पणी पर फंसे प्रशांत

‘इश्क छुपता नहीं छुपाने से योगी जी’, यह टिप्पणी प्रशांत जगदीश कनौजिया ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से छह जून को पोस्ट की थी। उन्होंने इसके साथ एक युवती का वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें युवती यूपी सीएम के कार्यालय के बाहर खड़ी होकर खुद को योगीजी की प्रेमिका बता रही थी। साथ ही उनके लिए लव लेटर लेकर पहुंची थी। इस वीडियो को प्रशांत के प्रोफाइल से करीब 95 हजार दफा देखा गया तो वहीं इसे करीब चार हजार लाइक और 15 सौ से अधिक रीट्वीट्स भी मिले थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00