सोनिया गांधी की डिनर डिप्लोमेसी के लजीज पकवान और भविष्य का प्लान, 20 दलों के नेता हुए शामिल

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 13 Mar 2018 11:10 PM IST
Sonia Gandhi hosted dinner for opposition parties to beat bjp in 2019 lo sabha elections
ख़बर सुनें
 यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी की डिनर पार्टी में भविष्य की योजना को लेकर बीस राजनीतिक पार्टियों के नेता मंगलवार को उनके आवास 10 जनपथ पर जुटे। इस मौके पर विपक्षी दलों ने अगले आम सभा चुनाव में भाजपा को पटखनी देने के लिए संयुक्त मोर्चा के गठन से लेकर पीएनबी घोटाला से लेकर किसान आंदोलन जैसे मुद्दों पर चर्चा की। 
भोज में शामिल नेताओं ने संसद न चलने पर चिंता जताई और सरकार की जवाबदेही तय कर उसे घेरने पर चर्चा की। पीएनबी बैंकिंग घोटाले पर सरकार से संसद में जवाब मांगने की रणनीति और महाराष्ट्र के किसानों के आंदोलन पर भी चर्चा हुई।

विपक्षी नेताओं पर झूठे मुकदमे और सरकारी एजेंसियों के सीधे हस्तक्षेप का मामला उठाया गया। हाल के दिनों में एनडीए के कुछ दलों ने भाजपा के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए सरकार से अलग होने का फैसला किया है।

ऐसे में विपक्षी दल सोनिया की डिनर डिप्लोमेसी को राजनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण मान रहे हैं। हालांकि इस आयोजन में भाजपा और कांग्रेस से इतर तीसरे मोर्चे की सुगबुगाहट भी थी और ममता बनर्जी, अखिलेश यादव तथा मायावती की अनुपस्थिति का मलाल भी था। 

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी का मानना है कि भाजपा जहां-जहां देश में दीवारें खड़ी करेगी, वहां कांग्रेस रास्ता बनाने का काम करेगी। इस आयोजन का लक्ष्य राजनीतिक नहीं, पारिवारिक सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत जारी रखना है। 
आगे पढ़ें

इन नेताओं ने की शिरकत

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

इलाज के लिए लालू पहुंचे मुंबई, एशियन हार्ट हॉस्पिटल में होंगे भर्ती

स्वास्थ्य कारणों की वजह से झारखंड हाईकोर्ट ने लालू को 6 हफ्तों के लिए जमानत दी है।

23 मई 2018

Related Videos

जब बेवजह हुई मोदी सरकार की निंदा

इन चार सालों के दौरान मोदी सरकार की बार आलोचना बिना वजहों के हुई। दरअसल सोशल मीडिया पर वायरल हुई गलत सुचनाओं को लोगों ने सही मान लिया, जो बाद में गलत साबित हुई।

23 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen