शरद यादव ने संसद सदस्यता रद्द करने के फैसले को दी चुनौती

टीम डिजिटल/अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 12 Dec 2017 07:47 PM IST
Sharad Yadav moves Delhi High Court against his disqualification as a Rajya Sabha member
sharad yadav
जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के पूर्व राज्यसभा सांसद शरद यादव ने उनकी सदस्यता समाप्त किए जाने के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी है। शरद यादव ने राज्यसभा सभापति के फैसले को चुनौती देते हुए कहा है कि उनका पक्ष सुने बिना ही उनकी सदस्यता रद्द कर दी, जोकि पूरी तरह गलत है। राज्यसभा सभापति वेंकैया नायडू ने चार दिसंबर को शरद यादव व अली अनवर की सदस्यता रद्द कर दी थी।

बिहार में जनता दल के नेता व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जुलाई में राजद व कांग्रेस के साथ महागठबंधन तोड़कर भाजपा से हाथ मिला लिया था। इसके बाद शरद यादव व उनके गुट के नेता विपक्ष से मिल गए और उनके कार्यक्रमों में हिस्सा ले रहे थे। 

राज्यसभा के सभापति ने जदयू के उस तर्क से सहमति जताई थी कि शरद यादव व अनवर ने पटना में विपक्षी दलों की रैली में हिस्सा लेकर स्वेच्छा से अपनी सदस्यता छोड़ी है। पार्टी के निर्देशों के मुताबिक, उन्हें ऐसा नहीं करना था। जदयू ने इस आधार पर उन्हें अयोग्य घोषित कर राज्यसभा की सदस्यता रद्द करने की मांग की थी।

राज्यसभा के लिए शरद यादव का 2016 में चुनाव हुआ था और उनका कार्यकाल 2022 तक था। अली अनवर का कार्यकाल अगले साल पूरा होने वाला था। शरद यादव की ओर से याचिका दायर करने वाले अधिवक्ता निजाम पाशा का कहना है कि नीतीश या शरद में से कौन-सा गुट असली जदयू है, यह मुद्दा कोर्ट में विचाराधीन है और इसका फैसला जल्द हो जाएगा। 

जानकारों के मुताबिक, आम तौर पर ऐसे विवादित मामलों को संसदीय समिति के सुपुर्द किया जाता है। समिति इसकी पड़ताल और सभी पक्षों को सुनने के बाद सिफारिश देती है। उसके बाद सभापति निर्णय लेते हैं।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

केंद्रीय मंत्री बोले- भारत की बड़ी ‘बीमारियों’ के इलाज के लिए मोदी ‘बेस्ट डॉक्टर’

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि मोदी के देश की ‘बीमारियों’ के इलाज के लिए ‘बेस्ट डॉक्टर’ कहा है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

ये हैं दिल्ली के वो 20 विधायक जिनकी चली गई कुर्सी

आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता ऑफिस ऑफ प्रॉफिट मामले में चली गई है। आईए, आपको बताते हैं बीस विधायकों के बारे में सबकुछ, आम आदमी पार्टी के किस विधायक ने कौन सी सीट जीती और उसे किस डिपार्टमेंट का संसदीय सचिव नियुक्त किया गया था।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper