लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Sanjay Raut Saamana Column from Jail ED to Investigate Know More News in Hindi

Maharashtra News: संजय राउत ने 'सामना' में सलाखों से लिखा 'रोकटोक' कॉलम? ईडी करेगा जांच

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मुंबई Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Mon, 08 Aug 2022 07:55 AM IST
सार

संजय राउत आठ दिनों से ईडी की हिरासत में हैं। उनसे पात्रा चॉल घोटाले व अन्य आरोपों को लेकर लगातार पूछताछ की जा रही है। शनिवार को उनकी पत्नी वर्षा राउत से भी ईडी ने नौ घंटे तक पूछताछ की थी। संजय राउत को आज हिरासत अवधि खत्म होने पर कोर्ट में पेश किया जा सकता है। 

संजय राउत
संजय राउत - फोटो : PTI
ख़बर सुनें

विस्तार

मुंबई के चर्चित पात्रा चॉल घोटाले को लेकर ईडी द्वारा गिरफ्तार शिवसेना नेता संजय राउत को लेकर नया विवाद पैदा हो गया है। शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' में उनका साप्ताहिक कॉलम 'रोकटोक' छपा है, जबकि वे इस वक्त ईडी की हिरासत में हैं। हिरासत के दौरान उन्होंने यह आलेख कैसे लिखा? ईडी अब इसकी भी जांच करेगा। हिरासत में वे कोर्ट की बगैर अनुमति आलेख नहीं लिख सकते हैं। 



संजय राउत आठ दिनों से ईडी की हिरासत में हैं। उनसे पात्रा चॉल घोटाले व अन्य आरोपों को लेकर लगातार पूछताछ की जा रही है। शनिवार को उनकी पत्नी वर्षा राउत से भी ईडी ने नौ घंटे तक पूछताछ की थी। संजय राउत को आज हिरासत अवधि खत्म होने पर कोर्ट में पेश किया जा सकता है। 


हिरासत में रहने के दौरान आलेख नहीं लिख सकते
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सूत्रों ने बतया कि राउत हिरासत में रहने के दौरान कोई आलेख नहीं लिख सकते हैं जब तक कि इसके लिए कोर्ट से अनुमति नहीं ली हो। उन्हें ऐसी कोई इजाजत नहीं दी गई है। बताया जा रहा है कि इस आलेख में ईडी, राज्यपाल, महाराष्ट्र बनाम गुजरात मारवाड़ी विवाद जैसे मुद्दों पर राउत की चिरपरिचत शैली में छींटाकशी की गई है। 'रोकटोक' कॉलम में महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यिारी की गुजराती व मारवाड़ियों को लेकर कही गई बातों, जिस पर कोश्यिारी माफी मांग चुके हैं, को लेकर भी टिप्पणी की गई है। 

कथित तौर पर राउत द्वारा लिखे गए कॉलम में लिखा 'महाराष्ट्र के स्वाभिमान से किसी ने खेल किया तो मराठी माणुस भड़क उठता है। यह इतिहास है। कोश्यारी ने अपने एक भाषण में क्या कहा? गुजराती और मारवाड़ी लोग मुंबई में हैं, इसलिए मुंबई को आर्थिक राजधानी का दर्जा प्राप्त है। गुजराती-मारवाड़ी लोगों को बाहर निकाला गया तो मुंबई में पैसा नहीं रहेगा। क्या राज्यपाल का यह बयान बिना उद्देश्य के आ सकता है?'  यह भी लिखा है कि 'मुंबई के गुजराती और मारवाड़ी समाज के लोगों को भी राज्यपाल का यह बयान पसंद नहीं आया है।' 

ईडी ने मराठी लोगों के उद्योगों पर लगवाए ताले
'रोकटोक' कॉलम में कहा गया है कि ईडी की कार्रवाइयों के कारण महाराष्ट्र में मराठी लोगों के शकर कारखानों, कपड़ा मिलों समेत कई तरह के उद्योगों में ताले लग गए हैं। मराठी उद्योगपतियों की जांच चल रही है। राज्यपाल को कभी इस पर भी बोलना चाहिए।'

'सामना' के स्टाफ ने लिखा कॉलम
उधर, शिवसेना नेताओं का कहना है कि राउत के नाम व फोटो से छपा उनका 'रोकटोक' कॉलम हो सकता है, 'सामना' के स्टाफ के लोगों ने मिलकर लिखा हो। राउत को पिछले शनिवार को ईडी ने लंबी पूछताछ के बाद पात्र चॉल घोटाले के मामले में गिरफ्तार किया है। तब से वे ईडी की हिरासत में हैं। आज उनकी हिरासत अवधि पूरी हो रही है, इसलिए सोमवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड बढ़ाने की मांग की जा सकती है। 

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00