विज्ञापन

Amar Singh Death News Live Updates: नहीं रहे राज्य सभा सांसद अमर सिंह, राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत दिग्गज नेताओं ने जताया दुख

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 01 Aug 2020 09:24 PM IST
Amar Singh Death News Live Updates in Hindi: Rajya Sabha MP and former SP leader
अमर सिंह का निधन - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

खास बातें

Amar Singh Death News Live Updates: राज्यसभा सांसद अमर सिंह का 64 साल की उम्र में शनिवार को सिंगापुर में निधन हो गया। सिंगापुर में उनका इलाज चल रहा था। पिछले कुछ समय से वह काफी बीमार चल रहे थे। अमर सिंह के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, पूर्व सीएम अखिलेश यादव और कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शोक जताया है।
विज्ञापन

लाइव अपडेट

09:02 PM, 01-Aug-2020
बिहार के मुख्यमंत्री ने राज्यसभा सांसद अमर सिंह के निधन पर शोक जताया
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह के निधन पर शोक प्रकट किया।नीतीश ने अपने शोक संदेश में कहा कि सिंह प्रसिद्ध राजनेता और सामाजिक कार्यकर्ता थे। उन्होंने कहा कि सिंह के निधन से राजनीति और समाज को अपूरणीय क्षति हुई है। नीतीश ने दिवंगत आत्मा की शांति और शोक-संतप्त परिवार को इस दुख को सहने की शक्ति प्रदान करने के लिए प्रार्थना की।
विज्ञापन
08:21 PM, 01-Aug-2020
12 करोड़ की संपत्ति को हमेशा के लिए आरएसएस को देने का फैसला 
22 फरवरी 2019 को राज्य सभा सांसद अमर सिंह ने अपनी संपत्ति को आरएसएस के नाम रजिस्ट्री लालगंज तहसील में की थी। पहले उक्त जमीन को आरएसएस को लीज पर देने की बात चल रही थी, लेकिन अमर सिंह ने अपनी 12 करोड़ की संपत्ति को हमेशा के लिए आरएसएस को देने का फैसला किया। मकान और जमीन की संघ के नाम पर रजिस्ट्री की थी।
07:57 PM, 01-Aug-2020
सियासी जमीन पर उतार दिए थे 'सितारे', मगर चुनाव हारे
समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह वर्ष 2014 में फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़े थे। इस चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन उन्होंने अपने प्रचार में सियासी जमीन पर फिल्मी सितारों को उतार कर इस चुनाव को यादगार बना दिया था। प्रचार की शुरुआत हुई थी कि मशहूर फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी और उनके पति बोनी कपूर के रोड शो से। इसके बाद अभिनेत्री और सांसद जयाप्रदा ने मोर्चा संभाल लिया। वो प्रचार कर ही रही थीं कि फिल्म स्टार डिंपल कपाड़िया, असरानी, महिमा चौधरी, रजा मुराद, जीनत अमान ने भी लोगों को आकर्षित किया था।
07:42 PM, 01-Aug-2020
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अमर सिंह के निधन पर कहा, श्री सिंह बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे।
 
07:39 PM, 01-Aug-2020
भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा कि सिंह सामाजिक स्वभाव वाले कुशल राजनेता और रणनीतिकार थे। 
 
07:28 PM, 01-Aug-2020
नोट फॉर वोट के दौरान भी उछला नाम
अमर सिंह का नाम यूपीए एक के समय अमेरिका के साथ प्रस्तावित परमाणु समझौते को लेकर भाजपा द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव में सांसदों को कथित रूप से घूस देने के मामले में भी आया। जब फग्गन सिंह कुलस्ते, महावीर भगौरा और एक और सांसद ने संसद में नोटों के बंडल लहराए थे हालांकि बाद में वह इन आरोपों से बरी हो गए।
07:22 PM, 01-Aug-2020
सपा बसपा का गठबंधन मौकापरस्त राजनीति का बड़ा उदाहरण
सपा बसपा का गठबंधन अमर सिंह ने कहा था कि सपा बसपा का गठबंधन मौकापरस्त राजनीति का बड़ा उदाहरण है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने पिता की कुर्बानियों और संघर्ष को तिलांजलि देकर गठबंधन किया है।
07:16 PM, 01-Aug-2020
अंबानी परिवार में विभाजन
साल 2002 में धीरूभाई अंबानी का निधन हो गया। हालांकि उस समय धीरुभाई अंबानी ने 80 हजार करोड़ का टर्नओवर करने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज के बटवारे को लेकर कोई वसीयत नहीं लिखी थी जिसके बाद मुकेश और अनिल अंबानी के बीच संपत्ति को लेकर विवाद हो गया। अनिल अंबानी ने इस मामले में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से भी मदद की अपील की थी।
07:10 PM, 01-Aug-2020
मुलायम परिवार को तोड़ने का लगा आरोप
साल 2016 में ही अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच पार्टी को लेकर चल रही खींचतान के बीच एक रामगोपाल ने जिस कथित 'बाहरी व्यक्ति' को बार-बार जिम्मेदार बताया वह कोई और नहीं बल्कि अमर सिंह ही थे। हालांकि इस विवाद से मुलायम ने खुद को दूर रखा और अमर सिंह को फिर से पार्टी से निकाल दिया गया। उस समय अमर सिंह पर यह भी आरोप लगे थे कि उन्होंने मुलायम और अखिलेश को शाहजहां और औरंगजेब के रूप में प्रचारित कराया।
07:02 PM, 01-Aug-2020
आखिरी वीडियो संदेश में बोले थे 'टाइगर अभी जिंदा है'
वीडियो जारी कर अपने चिर परिचित अंदाज में अमर सिंह ने कहा था, 'सिंगापुर से मैं अमर सिंह बोल रहा हूं। मैं बीमार हूं, त्रस्त हूं लेकिन संत्रस्त (डरा) नहीं हूं। हिम्मत बाकी है, जोश बाकी है, होश भी बाकी है। हमारे शुभचिंतक और मित्रों ने ये अफवाह बहुत तेजी से फैलाई कि मुझे यमराज ने अपने पास बुला लिया है। यह बिल्कुल भी सच नहीं है। मेरा इलाज चल रहा है।'
06:48 PM, 01-Aug-2020
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने जताया दुख
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, 'श्री अमर सिंह जी के परिवार के प्रति गहरी संवेदना। मैं दुख के इस क्षण में उनकी शोकाकुल पत्नी और बेटियों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करती हूं।'
 
06:45 PM, 01-Aug-2020
बच्चन परिवार से बढ़ गईं दूरियां 
जया बच्चन को राजनीति में लाने का काम अमर सिंह ने ही किया था लेकिन पार्टी से निष्कासन के समय बच्चन परिवार से इनकी दूरियां बढ़ गईं। कहा यह भी जाता है कि अमिताभ बच्चन के बुरे वक्त में अमर सिंह ने उनका साथ खूब निभाया था।
06:30 PM, 01-Aug-2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया दुख
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा सांसद अमर सिंह के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'अमर सिंह जी एक ऊर्जावान व्यक्ति थे। वो पिछले कुछ दशकों में कई राजनीतिक घटनाओं के साक्षी रहे। उनके निधन पर दुखी हूं। ओम शांति।' 
 
06:28 PM, 01-Aug-2020
फिल्म, राजनीति और बिजनेस के कॉकटेल
अमर सिंह के बारे में यह कहा जाता था कि वह राजनीति, फिल्म और बिजनेस का कॉकटेल हैं। समाजवादी पार्टी में रहते उन्होंने इसे सिद्ध भी किया। कई बार ऐसे मौके आए जब पार्टी को उन्होंने अपने राजनैतिक समझदारी से परेशानी से उबारा। 
06:25 PM, 01-Aug-2020
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जताया दुख
 
06:21 PM, 01-Aug-2020
समाजवादी पार्टी से निकाले गए
समाजवादी पार्टी से राज्य सभा के सदस्य चुने गए अमर सिंह को कथित रूप से पारिवारिक विवाद के बाद समाजवादी पार्टी से निकाल दिया गया। कहा जाता है कि उनको पार्टी से निकाले जाने में आजम खान और अखिलेश यादव की प्रमुख भूमिका रही। हालांकि साल 2010 में मुलायम सिंह ने भी इनको पार्टी से निकाल दिया था, जिसके बाद इन्होंने राजनीतिक जीवन से कुछ समय के लिए संन्यास भी ले लिया था। मगर साल 2016 में इनकी फिर से समाजवादी पार्टी में वापसी हुई।
06:18 PM, 01-Aug-2020
ऐसे हुई थी राजनीति में एंट्री
कहा जाता है कि साल 1996 में फ्लाइट के दौरान अमर सिंह की तत्कालीन रक्षामंत्री मुलायम सिंह से मुलाकात हुई, जिसके बाद उन्होंने राजनीति में आए। हालांकि, इससे पहले भी वह मुलायम सिंह से मिल चुके थे, लेकिन इसके बाद ही मुलायम सिंह ने उन्हें पार्टी का महासचिव बनाने का फैसला किया। 

06:11 PM, 01-Aug-2020
उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने जताया दुख
 
06:09 PM, 01-Aug-2020
अमर सिंह के निधन पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शोक जताया
 
06:05 PM, 01-Aug-2020
मुलायम सिंह यादव के करीबियों में थे शामिल
अमर सिंह समाजवादी पार्टी के मुखिया रहे मुलायम सिंह यादव के करीबियों में शामिल थे। वह वर्तमान में उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के सदस्य थे, उन्हें जुलाई 2016 में उच्च सदन के लिए चुना गया था। उनके राजनीतिक सफर की शुरुआत 1996 में राज्यसभा सदस्य चुने जाने के साथ ही हुई थी।
05:59 PM, 01-Aug-2020

नहीं रहे राज्य सभा सांसद अमर सिंह, राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत दिग्गज नेताओं ने जताया दुख

राज्य सभा सांसद अमर सिंह का शनिवार को निधन हो गया। वो पिछले कुछ समय से सिंगापुर के एक अस्पताल में भर्ती थे। उनका किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था। समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता रहे अमर सिंह पिछले छह महीने से सिंगापुर में अपना इलाज करवा रहे थे। 
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us