नामांकन के बाद बोले वेंकैया नायडू- पार्टी ही मेरी मां, जिसके साये में पलकर बड़ा हुआ

amarujala.com- Written by : हरेन्द्र सिंह मोरल Updated Tue, 18 Jul 2017 05:36 PM IST
After nomination venkaiah naidu says, Party is my mother
वेंकैया नायडू - फोटो : twitter
उपराष्ट्रपति पद के लिए एनडीए के उम्‍मीदवार पूर्व केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने मंगलवार को अपना नामांकन दाखिल कर दिया। दो सेट में नामांकन दाखिल करने के बाद वेंकैया मीडिया से मुखातिब हुए और उम्‍मीदवार बनाए जाने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार जताया।
वेंकैया ने कहा- "मैं पिछले चार दशक से आम जनता से जुड़ा रहा हूं लोगों से जुड़े रहना और उनके लिए काम करना मेरा जुनून है। उप राष्ट्रपति पद पर आने के बाद भी मैं प्रयास करता रहूंगा कि आम जनता के लिए कुछ कर सकूं।"

बकौल वेंकैया, "उप राष्ट्रपति का कार्यालय कुछ अलग विशेषताओं वाला होता है, उम्‍मीद है मैं इसके साथ न्याय कर पाऊंगा। चुने जाने के बाद मैं परंपराओं, मानदंडों और नीति निर्धारण के तमाम प्रावधानों को ख्याल रखकर कार्यालय की गरिमा बनाए रखने का पूरा प्रयास करूंगा।"

इस मुद्दे पर भावुक होते हुए नायडू ने कहा- वह एक साल के थे जब उनकी मांग का निधन हो गया, उसके बाद पार्टी ही मेरी मां की तरह रही, जिसके साये में पलकर बड़ा हुआ। उन्होंने दुख जताते हुए कहा कि यह बड़ा दुखदायक है कि पार्टी से अब मेरी विदाई हो जाएगी।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

रोटोमैक घोटाला: CBI ने विक्रम कोठारी और बेटे को किया गिरफ्तार

सीबीआई ने गुरुवार को रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी को गिरफ्तार कर लिया।

22 फरवरी 2018

Related Videos

28 फरवरी के बाद बंद हो सकता है आपका मोबाइल वॉलेट, ऐसे रखें जारी

क्या आप भी मोबाइल वॉलेट का यूज करते हैं? क्या आपने अपने मोबाइल वॉलेट को आधार या पैन कार्ड से लिंक किया है? अगर नहीं तो आपको बता दें कि आपका मोबाइल वॉलेट 28 फरवरी के बाद से काम करना बंद कर देगा।

22 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen