ये मेरी फैमिली और गुल्लक के बाद टीवीएफ की पंचायत, रघुवीर-नीना के हंसगुल्लों के बीच जितेंद्र की लाचारी

अमर उजाला ब्यूरो, मुंबई Updated Mon, 30 Mar 2020 07:30 PM IST
विज्ञापन
Panchayat
Panchayat - फोटो : amar ujala mumbai

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

सार

  • 3 अप्रैल से स्ट्रीम होने वाली इस वेब सीरीज में नीना गुप्ता, रघुबीर यादव और विश्वपति सरकार मुख्य किरदारों में नजर आएंगे
  • इस वेब सीरीज का ट्रेलर और पोस्टर सामने आ चुका है

विस्तार

शुभ मंगल ज्यादा सावधान के बाद अभिनेता जितेंद्र कुमार फिर एक बार लोगों को गुदगुदाने के लिए कमर कस चुके हैं। वह जल्द ही प्राइम वीडियो की वेब सीरीज पंचायत में नजर आने वाले हैं। 3 अप्रैल से स्ट्रीम होने वाली इस वेब सीरीज में नीना गुप्ता, रघुबीर यादव और विश्वपति सरकार मुख्य किरदारों में नजर आएंगे। इस वेब सीरीज का ट्रेलर और पोस्टर सामने आ चुका है।
विज्ञापन

यह एक शहरी लड़के अभिषेक त्रिपाठी (जितेंद्र कुमार) की कहानी है। वह एक ठीक ठाक जॉब की तलाश में होता है लेकिन कुछ बड़ा न मिलने के बीच वह गांव की पंचायत में सचिव के तौर पर काम करना शुरू कर देता है। यहां उसकी जिंदगी में एक के बाद एक अतरंगी किरदारों की एंट्री होती है। जिसके बाद वह अपना सारा ध्यान इस झंझट से निकलने में लगा देता है। वह पढ़ाई कर बेहतर जॉब हासिल करने के सारे जतन करता है लेकिन एक के बाद उसकी जिंदगी में मुश्किलों बढ़ती ही जाती है। 
इस सीरीज के बारे में अपने अनुभव साझा करते हुए जितेंद्र ने बताया, 'पंचायत एक खास और रोचक कहानी है जिसमें एक युवा लड़का एक गांव में अपने जिंदगी सही करने में लगा होता है। पंचायत में काम करने से अधिक रोमांचकारी मेरे लिए कुछ और नहीं हो सकता था। वहीं शुभ मंगल ज्यादा सावधान के बाद एक बार फिर से नीना गुप्ता जी के साथ काम करके काफी मजा आया।'
वहीं नीना गुप्ता कहती हैं, 'मैं मंजू देवी का किरदार निभा रही हूं जो एक गृहणी और गांव की प्रधान होती है। इस किरदार को निभाते समय काफी आनंद आया। खास तौर पर काबिल सह कलाकारों के साथ काम करना मजेदार रहा। मुझे विश्वास है कि दर्शकों को यह सीरीज काफी पसंद आने वाली है।'

टीवीएफ की गुल्लक और ये मेरी फैमिली सीरीज को ओटीटी सोनी लिव और नेटफ्लिक्स पर काफी पसंद किया गया है। गालियों और अश्लील दृश्यों को ही कामयाबी की पहली जरूरत मान बैठे तमाम निर्माताओं को टीवीएफ की इन दोनों सीरीज ने एक सबक भी सिखाया कि पारिवारिक माहौल की सीरीज लोग अकेले देखते समय भी खूब पसंद करते हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us