हिंदी सिनेमा के इस मशहूर संगीतकार पर रखा एक चौक का नाम, 150 फिल्मों में गा चुके हैं गाने

एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 03 Jul 2018 11:10 AM IST
विज्ञापन
Unveiling Of Chitragupta Chowk At Khar in mumbai

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
हिंदी सिनेमा के मशहूर संगीतकार चित्रगुप्त की जन्मशती के मौके पर आज मुंबई के एक चौक का नाम उनके नाम पर रखा गया। संगीतकार जोड़ी आनंद - मिलिंद के पिता चित्रगुप्त के नाम पर जिस चौक का नामकरण किया गया, वह खार में एक मशहूर ज्वैलरी शोरूम के पास है। मशहूर गीतकार जावेद अख्तर ने इस मौके पर बताया कि चित्रगुप्त का मायने हिंदी सिनेमा के संगीत में क्या है और कैसे उन्होने हिंदी सिनेमा संगीत की जड़ों को मजबूत किया। 
विज्ञापन

बिहार में जन्मे चित्रगुप्त ने अपने 50 साल से भी लंबे अपने करियर में करीब 150 फिल्मों में संगीत दिया। फिल्म काली टोपी लाल रूमाल का गाना लागी छूटे ना अब तो सनम, उनका सबसे सुपरहिट गाना माना जाता है। लता मंगेशकर अपने शुरूआती करियर के लिए चित्रगुप्त का नाम बहुत सम्मान से लेती रही हैं। 
विज्ञापन
विज्ञापन
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X