सीबीएसई बोर्ड में 2017-18 सत्र से नहीं होगी इन वोकेशनल विषयों की पढ़ाई

amarujala.com- Presented by: शिवेंदु शेखर Updated Fri, 10 Mar 2017 09:30 PM IST
CBSE board stops these courses from 2017-18 session
सीबीएसई

सीबीएसई ने आगामी शैक्षणिक सत्र से 11वीं और 12 वीं के 7 अकादमिक इलेक्टिव विषयों और 34 वोकेशनल कोर्सेज को समाप्त कर दिया है।  

इस फैसले के बाद 11वीं और 12वीं के छात्रों को अब फिलॉस्फी  और थिएटर स्टडीज जैसे सब्जेक्ट नहीं पढ़ाए जाएंगे। इन विषयों को खत्म करने के पीछे ये वजह दी गई है कि इन विषयों का चयन काफी कम छात्र कर रहे थे। डीयू जैसी यूनिवर्सिटी स्नातक दाखिले में कई अकादमिक विषयों को मान्यता नहीं देती है। इन विषयों की पढ़ाई करने के बाद भी छात्रों को एडमिशन में अंक कटौती का सामना करना पड़ता है।   

इस संबंध में देशभर के स्कूलों को जानकारी भेज दी गई है कि अब इन विषयों की पढ़ाई अप्रैल से शुरू होने वाले सत्र से नहीं होगी। उन छात्रों ने जिन्होंने सत्र 2016-17 के लिए इन विषयों का चयन किया है उनका कोर्स बाधित नहीं होगा।  
 

आगे पढ़ें

कौन-कौन से होंगे ये विषय

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Education News in Hindi related to careers and job vacancy news, exam results, exams notifications in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Education and more Hindi News.

Spotlight

Most Read

Career Plus

खत्म होगा टीईटी के 9.76 लाख अभ्यर्थियों का इंतजार

शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के परिणाम की प्रतीक्षा पूरी होने जा रही है। परीक्षा में शामिल करीब 9.76 लाख अभ्यर्थी 30 नवंबर से ही इसका इंतजार कर रहे हैं।

14 दिसंबर 2017

Related Videos

देखिए कहां बन रहा है दुनिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा

हवाई जहाज ने दुनिया भर की दूरी को कुछ घंटों के सफर में समेट दिया है।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper