विज्ञापन

'खुद को आईने में देखना बहुत मुश्किल होता है'

जोरी ग्राहम Updated Wed, 10 Jan 2018 12:42 PM IST
Jorie Graham, American poet
Jorie Graham, American poet
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मुझे लगता है कि मैं दूसरी दुनिया के मौन से प्यार करती हूं। और मैं उसी के साथ गंभीरता से संवाद करने के लिए लिखती हूं। हालांकि हमेशा से यह इच्छा रहती है कि ध्वनि और मौन-दो अलग दुनियाएं नहीं हैं। हमारे समय में भाषा के रचनात्मक उपयोग का मुख्य काम है लगातार शब्दों के अर्थों को बहाल करने की कोशिश करना, ताकि जिम्मेदारियों के तत्वों को जीवित रखा जा सके।
विज्ञापन
खुद को आईने में देखना और ऐसा कुछ देख पाना, जो स्वयं के होने का अनुभव कराए, बहुत मुश्किल होता है। मुझे लगता है कि यह असहजता और विघटन का क्षण एक ऐसा क्षण होता है, जब ऐसे अनुभव प्राप्त होते हैं, जो कविता को समझने या महसूस करने में मदद करते हैं। मैं अपने गीतों में काफी कुछ पिरोना चाहती थी, लेकिन उसकी सीमा से परे जाकर नहीं।

मैं बस यही चाहती थी कि अनुभवों की विराटता को उस स्तर पर ले जाया जाए कि वह भावनात्मक बनी रहे। तमाम बातों के बावजूद कविता एक निजी कहानी है, भले ही वह कितनी ही सार्वजनिक क्यों न हो गई हो। पाठक हमेशा कवियों की स्वीकारोक्ति सुनता है। अपनी पसंद की कविताओं में मैं जिस चीज को सबसे ज्यादा पसंद करती हूं, वह है साहस।

पानी में जादू होता है, क्योंकि यह कई रूप ले सकता है। यह जीवन की बुनियादी जरूरत है, इसलिए पवित्र है। इसलिए पानी, जो इस पृथ्वी की जीवनरेखा है, की पवित्रता पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है। लेकिन हम इसे बर्बाद कर रहे हैं। इसलिए मैंने बार-बार अपनी कविताओं में इसका जिक्र किया है। हमारे जीवन में कुछ ऐसे क्षण आते हैं, जो स्वर्ग का आनंद देते हैं।

-अमेरिकी कवयित्री

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Opinion

सबका साथ-सबका विकास के मायने

नरेंद्र मोदी ने जो वायदे किए, उनका 65 फीसदी भी लागू हो जाता है, तो वह देश के सबसे परिवर्तनकारी प्रधानमंत्री साबित होंगे, पर अगर ऐसा नहीं हुआ, तो उनके दिखाए गए आकर्षक सपने ज्यादातर सपने ही रह जाएंगे।

22 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

पटाखों के शोर में नहीं सुनाई दी ट्रेन की आवाज, 61 लोगों की दर्दनाक मौत

पंजाब के #अमृतसर में बड़ा रेल हादसा हुआ है। रावण दहन देख रहे लोगों पर मौत बनकर ट्रेन दौड़ गई। ट्रेन हादसा #अमृतसर के जौड़ा फाटक पर हुआ।

19 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree