विज्ञापन
विज्ञापन

इसलिए आरसीईपी से अलग हुआ भारत? क्या मोदी सरकार ने लिया सही फैसला?

Sanjiv Pandeyसंजीव पांडेय Updated Thu, 07 Nov 2019 04:05 PM IST
भारत की चिंताओं को अगर भविष्य में दूर किया जाएगा तो भारत इसमें शामिल होगा।
भारत की चिंताओं को अगर भविष्य में दूर किया जाएगा तो भारत इसमें शामिल होगा। - फोटो : Twitter
ख़बर सुनें

भारत ने 16 देशों के बीच प्रस्तावित मुक्त व्यापार समझौता (रीजनल कंप्रेहेंसिव इकनॉमिक पार्टनरशीप) में फिलहाल शामिल नहीं होगा। रीजनल कंप्रहेंसिव इकनॉमिक पार्टनरशीप (आरसीईपी) में भारत भविष्य में शामिल हो सकता है, बशर्ते भारत की चिंताओं का हल बाकी के 15 देश निकालें।

विज्ञापन
यह चिंता डेरी, खेती, फर्मा और कपड़ा उद्योग से संबंधित है। हाल ही में बैंकाक में आयोजित बैठक में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय हितों की रक्षा की गारंटी की बात की और साफ संकेत दिए कि भारत अपने किसानों, व्यापारियों के हितो की बलि नही चढ़ा सकता है।

भारत की चिंताओं को अगर भविष्य में दूर किया जाएगा तो भारत इसमें शामिल होगा। चूंकिं 16 देशों के बीच होने वाले मुक्त व्यापार समझौते में भारत एक महत्वपूर्ण पक्ष है, इसलिए इस व्यापार समझौते के भविष्य पर सवाल उठ रहा है। चुकिं इस समझौते में शामिल होने वाले देशों की नजर बड़े भारतीय बाजार पर है, इसलिए चीन जैसे देशों को भारत के फैसले से झटका भी लगा है। हालांकि एकाएक भारत ने इसमें आरसीईपी में शामिल न होने का क्यों फैसला लिया है, इसपर भी बहस हो रही है।

विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स
safalta

सफलता क्लास ने सरकारी नौकरियों के लिए शुरू किया नया फाउंडेशन कोर्स

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019
Astrology Services

इस काल भैरव जयंती पर कालभैरव मंदिर (दिल्ली) में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात : 19-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

‘अग्नि-2’ मिसाइल का पहला रात्रि परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा, सूत्रों से मिली जानकारी

रक्षा सूत्रों की तरफ से खबर है भारत ने 2,000 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का ओडिशा के बालासोर से सफल रात्रि-परीक्षण किया है।

16 नवंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election