Virtual ID से रिप्लेस होगा 12 अंकों का Aadhaar नंबर, पहचान हो जाएगी सेफ

एजेंसी, नई दिल्ली Updated Thu, 11 Jan 2018 11:55 AM IST
Verification Starts on 1st june for Aadhaar secrecy
ख़बर सुनें
आधार की गोपनीयता से जुड़ी चिंताओं को दूर करने के लिए भारतीय पहचान पत्र प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने बुधवार को 1 जून, 2018 से ‘वर्चुअल आईडी’ की अवधारणा को लागू करने का फैसला किया है। इसके तहत आधार कार्डधारक को अब सिम वेरीफिकेशन या अन्य कार्यों के लिए अपनी 12 अंकों की बायोमीट्रिक आईडी देने की जरूरत नहीं होगी बल्कि इसकी जगह 16 अंकों के एक नंबर से काम चल जाएगा। यह नंबर हर आधार कार्डधारक को यूआईडीएआई की वेबसाइट के जरिए हासिल होगा।
आधार कार्डधारक को एक से ज्यादा वर्चुअल आईडी जनरेट करने की छूट होगी। नया वर्चुअल आईडी जनरेट होते ही पुराना नंबर स्वत: खारिज हो जाएगा। इस वर्चुअल आईडी और कार्डधारक के बायोमीट्रिक्स (नाम, पता और फोटो) के आधार पर मोबाइल कंपनी जैसी कोई भी अधिकृत एजेंसी उसका वेरीफिकेशन कर सकती है। यूआईडीएआई ने गोपनीयता को सुरक्षित रखने के लिए ‘सीमित केवाईसी’ की अवधारणा को भी लागू करने जा रही है। इसके तहत दूरसंचार कंपनियों या ऐसी किसी अधिकृत एजेंसी को आधार कार्डधारक के बारे में सिर्फ सीमित जानकारी मुहैया कराई जाएगी। 

1 मार्च तक जारी होगा सॉफ्टवेयर

यूआईडीएआई 1 मार्च, 2018 तक इसके लिए जरूरी सॉफ्टवेयर जारी कर देगा। पहचान प्रामाणिकरण से जुड़ी सभी एजेंसियों को 28 मार्च तक नए सिस्टम को अपना लेना होगा। इस समयसीमा में नए सिस्टम को नहीं अपनाने वाली एजेंसियों का पंजीकरण समाप्त किया जा सकता है। उन पर अर्थदंड भी लगाया जा सकता है। इन एजेंसियों को कार्डधारक की ओर से वर्चुअल आईडी जनरेट करने की अनुमति नहीं होगी यानी यह काम कार्डधारक को खुद करना होगा।

कैसे मिलेगी वर्चुअल आईडी?

नए सॉफ्टवेयर के काम शुरू करते ही आधार कार्डधारक यूआईडीएआई या आधार एनरोलमेंट सेंटर की वेबसाइट और मोबाइल के आधार एप्लीकेशन पर जाकर वर्चुअल आईडी जनरेट कर सकते हैं। अब आधार कार्डधारक को किसी सेवा प्रदाता कंपनी को अपने फिंगरप्रिंट के साथ सिर्फ यह वर्चुअल नंबर देना होगा। इस नंबर की अवधि सीमित होगी। अगर आप अपना वर्चुअल आईडी भूल जाते हैं तो उसे दोबारा हासिल किया जा सकता है।

समाचार पत्र ने किया था आधार लीक का खुलासा

एक अंग्रेजी समाचार पत्र की पत्रकार ने अपनी रिपोर्ट में 100 करोड़ आधार नंबर खरीदने का दावा किया। पत्रकार ने बताया था कि उन्होंने एक एजेंट को 500 रुपये दिए। इसके बदले में उसने एक यूजरनेम और पासवर्ड दिया। इस आईडी व पासवर्ड की मदद से वह यूआईडीएआई की वेबसाइट में किसी भी आधार नंबर को डालकर उससे जुड़ी सारी जानकारी निकाल सकती थीं। इन जानकारियों में नाम, पता, फोटो, फोन नंबर और ईमेल एड्रेस शामिल हैं। साथ ही उन्होंने लिखा कि 300 रुपये और देने पर एजेंट ने एक सॉफ्टवेयर भी दिया। इससे आधार नंबर देकर आधार कार्ड प्रिंट किया जा सकता है।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Business News in Hindi related to stock exchange, sensex news, finance, breaking news from share market news in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Business and more Hindi News.

Spotlight

Most Read

Business

वीडियोकॉन घोटाला: जांच पूरी होने तक चंदा कोचर की छुट्टी, संदीप बख्शी बने आईसीआईसीआई बैंक के सीओओ

आईसीआईसीआई बैंक ने सोमवार को संदीप बख्शी को अपना मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) नियुक्त करने की घोषणा की।

18 जून 2018

Related Videos

आपकी इन छोटी-छोटी गलतियों की वजह बैंक कमा रहे खूब पैसा

SBI ने पिछले 40 माह में 38 करोड़ 80 लाख रुपए सिर्फ चेक पर हस्ताक्षर का मिलान न होने के एवज में ग्राहकों के खाते से काट लिए हैं। इस तरह एसबीआई सालाना औसतन 12 करोड़ रुपए कमाई कर रहा है। आइए जानते हैं और किन चीजों में बैंक लगा रहा है एक्स्ट्रा चार्ज।

11 जून 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen