बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सेबी की सख्ती: पीएनबी हाउसिंग-कार्लाइल ग्रुप के 4000 करोड़ के सौदे पर रोक, शेयरधारकों को वोटिंग से रोका

एजेंसी, नई दिल्ली Published by: देव कश्यप Updated Mon, 21 Jun 2021 03:15 AM IST

सार

  • सेबी ने विवादों में घिरी पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस और कार्लाइल समूह के बीच प्रस्तावित 4,000 करोड़ रुपये की डील में अनोखा कदम उठाया है। बाजार नियामक ने शेयरधारकों की वोटिंग पर रोक लगा दी है।
  • 8.21 लाख शेयर कार्लाइल ग्रुप को दिए जाने हैं सौदे के तहत।
  • मार्केट रेग्युलेटर ने कहा कि यह कंपनी के संविधान से बाहर की बात है।
विज्ञापन
सेबी (प्रतीकात्मक तस्वीर)
सेबी (प्रतीकात्मक तस्वीर) - फोटो : PTI
ख़बर सुनें

विस्तार

पंजाब नेशनल बैंक की अगुवाई वाली पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस और कार्लाइल समूह के बीच 4,000 करोड़ के सौदे पर बाजार नियामक सेबी ने रोक लगा दी है। सेबी ने कंपनी के शेयरधारकों की वोटिंग पर रोक लगाते हुए कहा कि स्वतंत्र रूप से शेयरों का मूल्यांकन कराने के बाद ही हिस्सेदारी बेचने पर फैसला होगा।
विज्ञापन


सौदे के तहत पीएनबी हाउसिंग चार हजार करोड़ रुपये मूल्य के 8.21 लाख शेयर कार्लाइल ग्रुप को देगा, जिस पर वोटिंग के जरिए 22 जून को फैसला होना था। इससे पहले सेबी ने पत्र भेजकर सौदा रोकने को कहा है। सेबी ने यह कार्रवाई उन शिकायतों के बाद की है, जिसमें कहा गया कि सौदे के तहत पीएनबी हाउसिंग के छोटे निवेशकों की अनदेखी की गई।


सेबी ने दो टूक कहा है कि यह सौदा कंपनी के आंतरिक संविधान के बाहर है। लिहाजा जब तक स्वतंत्र रूप से शेयरों का मूल्यांकन नहीं हो जाता, सौदा पूरा नहीं हो सकता है। इस सौदे के जरिए पीएनबी की हाउसिंग फाइनेंस कंपनी में हिस्सेदारी घटकर 20.3 फीसदी रह जाएगी, जबकि कार्लाइल ग्रुप के पास 50.16 फीसदी हिस्सेदारी होगी।

क्या है आपत्ति?
पीएनबी प्रमोटेड प्रवर्तित कंपनी पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने कहा कि उसे इस बारे में सेबी का पत्र 18 जून को मिला है। सेबी ने कंपनी से इस मामले में कानूनी प्रावधानों का अनुपालन करने को कहा है। सेबी के पूर्व एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर जे एन गुप्ता की अगुवाई वाले हितधारक अधिकारिता सेवाएं (एसईएस) ने इस डील पर आपत्ति जताई थी। उसका कहना है कि इस डील में पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस कंपनी के माइनोरिटी शेयरहोल्डर्स के हितों की अनदेखी की गई है। एसईएस का मानना है कि यह डील कंपनी के संस्था के अंतर्नियम (एओए) के प्रावधानों के मुताबिक नहीं हुई है।

हालांकि पीएनबी हाउसिंग ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि प्रीफेरेंशियल इश्यू की कीमत सेबी के नियमों और दिशानिर्देशों के मुताबिक है। कंपनी ने कहा कि कार्लाइल के साथ प्रस्तावित डील के बाद भी पीएनबी प्रमोटर बना रहेगा। 31 मई को प्राइवेट इक्विटी फर्म कार्लाइल ग्रुप की अगुवाई वाले निवेशकों के एक ग्रुप ने पीएनबी हाउसिंग में 4,000 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की थी। इसके तहत कार्लाइल ग्रुप की कंपनी प्लूटो इनवेस्टमेंट्स तरजीही शेयरों के आवंटन के जरिए कंपनी में 3,185 करोड़ रुपये निवेश करेगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X