इंफोसिस छोड़ने वालों को ‘बेस्ट ऑफ लक’

अमर उजाला, ‌दिल्‍ली Updated Wed, 29 Jan 2014 12:37 PM IST
Dropout Infosys 'Best of Luck'
शीर्ष अधिकारियों के कंपनी से पलायन से बेफ्रिक इंफोसिस के सह-संस्थापक एवं कार्यकारी चेयरमैन एनआर नारायण मूर्ति ने कंपनी छोड़ने वालों के लिए ‘बेस्ट ऑफ लक’ कहा है। उन्होंने कहा कि इनफोसिस के पास शीर्ष नेतृत्व का मजबूत कैडर है और कंपनी के भविष्य से कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

मूर्ति ने बताया कि इन लोगों ने कंपनी में कई अहम जिम्मेदारियां निभाईं। कई वर्षों तक उनमें से कुछ लोगों ने नए काम किए, बड़ी जिम्मेदारियों का निर्वहन किया। इसलिए हमें छोड़कर जाने वाले इन सभी लोगों के लिए शुभकामना।

मुश्किल हालातों से जूझ रही इनफोसिस को उबारने के लिए पिछले साल नारायण मूर्ति ने कंपनी में वापसी की थी। मूर्ति ने पूरा भरोसा जताया है कि कंपनी के पास नेतृत्व करने वाले लोगों का मजबूत कैडर है।

एक सवाल के जवाब में मूर्ति ने कहा कि उनका बेटा रोहन इंफोसिस की कमान संभालने के लिए तैयार है या नहीं इसका फैसला खुद उसे ही करना है। रोहन इंफोसिस में कौन सा पद संभालेगा, इसका फैसला मैं नहीं कर सकता हूं। उसके दिलो-दिमाग में क्या है यह कौन जाना है। इसलिए मैं यह नहीं कह सकता कि वह भविष्य में क्या करेगा। मेरे लिये यह तय करना उचित भी नहीं है।

कर्मचारियों ने खूब छोड़ी नौकरी
शीर्ष प्रबंधन में लोगों के कंपनी छोड़ने से परेशान इंफोसिस मध्य और निचले स्तर पर लोगों के नौकरी छोड़ने से परेशान है। बीते अक्टूबर से दिसंबर की तिमाही में 1,823 लोगों ने कंपनी छोड़ी। आलोच्य अवधि में कंपनी ने 6,682 नियुक्तियां की। लेकिन उस अवधि में कुल कर्मचारियों की संख्या में 1,823 की कमी आई और यह संख्या 1,58,404 लोगों की रही।

लाभ में 21 फीसदी की बढ़ोतरी
आईटी सॉफ्टवेयर सर्विस क्षेत्र में देश की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी इन्फोसिस ने ने बीते तिमाही में अपने शुद्ध लाभ में 21.4 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की है और यूरोप तथा अमेरिकी अर्थव्यवस्था में सुधार के आसार से आगे के लिए भी बेहतर करने का अपना आकलन दिया है।

बीते तीसरी तिमाही में कंपनी ने 2,875 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया। बीते साल की समान अवधि में यह राशि 2.369 करोड़ रुपए थी। आलोच्य अवधि में कंपनी का राजस्व 10,424 करोड़ रुपए की जगह 13,026 करोड़ रुपए रहा।

कंपनी के सीईओ और एमडी एसडी शिबुलाल ने कहा कि तीसरी तिमाही हमारे लिए शानदार रही। इस दौरान हम 1.7 फीसदी विकास कर पाए। कारोबार में 0.7 फीसदी का इजाफा हुआ। आलोच्य अवधि में कंपनी के ग्राहकों में अच्छी बढ़ोतरी हुई, 54 नए ग्राहक जुड़े जिसमें से 5 करोड़ डॉलर के अमेरिकी ग्राहक शामिल हैं।

चालू वित्त वर्ष के लिए कंपनी ने अपने राजस्व में बढ़ोतरी का अनुमान पहले के 21-22 फीसदी से बढ़ाकर 24.4-24.9 फीसदी कर दी है। शिबुलाल ने कहा कि हमारे ग्राहकों में कारोबारी भरोसा बढ़ा है लेकिन वे खर्चों पर सावधानी रख रहे हैं।

इंफोसिस के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन नारायणमूर्ति ने कहा कि कंपनी का यह परिणाम कंपनी के अधिकारियों के बेहतर है तो कंपनी के लिए भी काफी अच्छा है। मैं चाहता हूं कि सभी कंपनी के हित में काम करें। कंपनी के परिणाम में लगातार गिरावट के बाद कंपनी के सह प्रवर्तक नारायणमूर्ति को वापस कंपनी के मुखिया के पद पर आना पड़ा।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Business News in Hindi related to stock exchange, sensex news, finance, breaking news from share market news in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Business and more Hindi News.

Spotlight

Most Read

Corporate

आइडिया को हुआ अब तक का सबसे बड़ा घाटा, TRAI का यह नियम बना बड़ी वजह

सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनियों में शुमार आइडिया सेल्युलर को इस वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में अब तक का सबसे बड़ा घाटा हुआ है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

दावोस पीएम मोदी की तारीफ में सुपरस्टार शाहरुख खान ने पढ़े कसीदे

दावोस में 'विश्व आर्थिक मंच' सम्मेलन में बच्चों और एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए काम करने के लिए क्रिस्टल अवॉर्ड से नवाजे गए बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान..

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls