विज्ञापन

हर किसी के आगे नहीं रखना चाहिए अरदास

Hamirpur Updated Mon, 14 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
हमीरपुर। अपनी अरदास हर किसी के आगे नहीं रखना चाहिए। लोगाें को दूसरों की बुराई उछालने में मजा आता है। जबकि निरंकारी संत महात्मा उस पर पर्दा डालकर मर्यादा को बचाते है और सतगुरु से सच्चे दिल से अरदास कर सुख शांति की प्रार्थना करते है।
विज्ञापन
यह बात रविवार को संत निरंकारी सत्संग भवन में महात्मा क्रंातिकुमार ने कही। उन्होंने कहा कि निरंकारी का दरबार सत्य का दरबार है। यहां सच्चे मन से की गई अरदास पूरी होती है। एक ओर दुख दुनिया के एक ओर सुख सारे है। उधर तो हैं दुनिया वाले इधर प्रभु के प्यारे है। कहा कि संसार में दुखाें की कमी नहीं है। इसका नजारा अस्पतालों में देखने को मिलता है। हर मर्ज के डाक्टरों के सामने मरीजों की लंबी लंबी लाइनें रहती है। यह वही लोग है जो संसार में अज्ञानता वश अहंकार वश जीवन जीते है। इस मौके पर गयादीन, सुहागवती, सविता तिवारी, देशराज रचनाकर, राधा गुप्ता, राजेश्वरी दुबे, अंजना निगम सहित सैकड़ो भक्त मौजूद रहे। कार्यक्रम के बाद लंगर प्रसाद की व्यवस्था की गई। जिसे श्रद्धालुओं ने जमकर छका।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

11 दिसंबर से 8 जनवरी तक संसद का शीतकालीन सत्र, जानिए किन मुद्दों पर होगी चर्चा

संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसंबर से शुरू होकर आठ जनवरी तक चलेगा। इसकी जानकरी देते हुए संसदीय मामलों के राज्य मंत्री विजय गोयल ने बताया कि इस दौरान 20 कार्यदिवस मिलेंगे। इन बीस दिनों में सरकार कई महत्वपूर्ण बिलों पर चर्चा करेगी।

14 नवंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree