विज्ञापन

इमिलिया के ऊंचे क्षेत्र में 15 दिन से पानी नहीं

Hamirpur Updated Thu, 03 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
मुस्करा (हमीरपुर)। जलसंस्थान के कर्मचारियों की उदासीनता से इमिलिया गांव में 15 दिन से पेयजल के लिए हाहाकार मचा है। पानी की टंकी को भरने के बजाए सीधे पाइप से जोड़कर आपूर्ति करने से ऊंचाई के क्षेत्रों में पानी नही पहुुंच रहा है। इस मामले की शिकायत ग्रामीणों ने तहसील दिवस पर मौदहा में की है।
विज्ञापन
ग्रामीण पेयजल समूह के तहत करीब 15 वर्ष पूर्व पानी की टंकी बनवाई गई थी। टंकी को भरने के लिए दो नलकूप लगाए गए थे। नलकूप संख्या 1 में जलसंस्थान का कर्मचारी रज्जू व नलकूप संख्या 2 में संविदा कर्मी नरेंद्र तैनात है। यह दोनों कर्मचारियों की मनमानी से लोगों को पानी नहीं मिल रहा है। ये 15 साल से यहीं पर जमे हैं। गां प्रधान राजकुमार दाऊ, पूर्व प्रधान जुगुल किशोर यादव, गल्ला व्यापार संघ के नगर अध्यक्ष भवानीदीन गुप्ता, लोकतंत्र सेनानी मदन मोहन राजपूत, समाजसेवी पंकज सिंह राजपूत का कहना है कि दोनों आपरेटर टंकी भरने में आनाकानी करते है। नलकूपों को सीधे पाइप लाइन में डालकर चालू किया जाता है। जिससे ऊंचाई वाले क्षेत्र के लोगों को एक बूंद पानी नहीं मिलता है। पेयजल संकट की शिकायत मंगलवार को मौदहा में आयोजित तहसील दिवस में की गई थी। ग्रामीणों का आरोप है कि यहां तैनात अवर अभियंता एमपी सिंह कभी भी निरीक्षण नहीं करते हैं। वह मौदहा कसबे में ही आवास बनाकर रह रहे है। उधर अवर अभियंता का कहना है कि वह क्षेत्र का बराबर भ्रमण कर पेयजल समूहों का निरीक्षण करते है और आपरेटरों को समय से आपूर्ति करने के निर्देश दे रखे हैं। कोई आपरेटर लापरवाही करता मिला तो उस पर कार्रवाई की जाती है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

2022 तक पूरा नहीं हो पाएगा पीएम मोदी का ये सपना, जानिए वजह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन की राह में किसान ब्रेकर बनकर आ गए हैं। किसानों की नाराजगी की वजह से बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट में मदद करने वाली जापानी एजेंसी ने मदद करने से इनकार कर दिया है।

25 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree