विज्ञापन

अनाज वितरण की नहीं हो पा रही है निगरानी

Badaun Updated Wed, 09 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
अनूप गुप्ता
विज्ञापन
बदायूं। बीपीएल और अंत्योदय के साथ ही एपीएल योजना के तहत हर माह बांटे जा रहे हजारों क्ंिवटल अनाज की निगरानी नहीं हो पा रही। वजह, पूर्ति महकमा के पास एक भी सप्लाई इंस्पेक्टर नहीं है। ऐसे में सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) जैसे-तैसे चल रही है। इस व्यवस्था में जहां एक ओर खाद्यान्न की कालाबाजारी पर अंकुश नहीं लग पा रहा, वहीं कार्डधारकों को सस्ते दर पर अनाज पाने के लिए चक्कर काटने पड़ रहे हैं।
पीडीएस के जरिए हर माह कोटे की दुकानों पर हजारों क्ंिवटल अनाज सस्ते दर पर उपलब्ध कराया जा रहा है। व्यवस्था तो यही है कि ब्लाक स्तर पर एक पूर्ति निरीक्षक हो, जो नियमित तौर से कोटे की दुकानों को चेक करे, ताकि पीडीएस में कोई धांधली न हो, साथ ही कार्डधारकों का समय पर पूरा खाद्यान्न उपलब्ध हो सके। यहां चिंता वाली बात यह है कि जिलेभर में पूर्ति निरीक्षक के भले ही 14 पद स्वीकृत हाें, लेकिन पूर्ति महकमा के पास मौजूदा समय में एक भी सप्लाई इंपेक्टर नहीं है। इतना ही नहीं वरिष्ठ पूर्ति निरीक्षक के दो पद भी काफी समय से खाली चल रहे हैं। ऐसे में यह खुद ब खुद साफ है कि पीडीएस के हजारों क्ंिवटल खाद्यान्न की निगरानी नहीं हो पा रही। ऐसे में सरकारी अनाज की कालाबाजारी और वितरण में धांधली को भी नहीं रोका जा पा रहा है।
बाक्स-----
आए दिन सामने आ रहे कालाबाजारी व धांधली के मामले
पीडीएस के खाद्यान्न की कालाबाजारी और वितरण में धांधली के मामले आए दिन सामने रहते हैं। हालांकि पूर्ति विभाग गाहे-बगाहे कोटे की दुकानों के लाइसेंस निलंबित और निरस्त करने की कार्रवाई भी करता रहता है। इधर, पिछले माह अप्रैल में ऐसे मामलों को लेकर दस दुकानें निलंबित हुई और 21 के खिलाफ निरस्तीकरण की कार्रवाई हुई। इतना ही नहीं तीन लोगों पर रिपोर्ट भी दर्ज कराई गई। यह बात दीगर है कि ऐसी कार्रवाई के बावजूद पीडीएस में सुधार नहीं हो पा रहा।
बाक्स---------
हर माह इतना बांटा जा रहा अनाज
-------------------------------
बीपीएल गेहूं -1120.015 मीट्रिक टन
बीपीएल चावल -1470.440 मीट्रिक टन
अंत्योदय गेहूं -678.315 मीट्रिक टन
अंत्योदय चावल -904.420 मीट्रिक टन
एपीएल गेहूं -2415.015 मीट्रिक टन
मिट्टी तेल आवंटन -20 लाख 69 हजार लीटर
चीनी का आवंटन -349.62 मीट्रिक टन
------------------------------
कार्डधारकों की संख्या -
बीपीएल कार्डधारक-73322
अंत्योदय कार्डधारक-45221
एपीएल कार्डधारक-537642
-----------------------------
पूर्ति विभाग में स्टाफ की हालत
पद स्वीकृत कार्यरत रिक्त
जिला पूर्ति अधिकारी 1 1 0
क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी 1 3 0
वरिष्ठ पूर्ति निरीक्षक 2 0 2
पूर्ति निरीक्षक 14 0 14
वरिष्ठ सहायक 1 1 0
ज्येष्ठ लेखा लिपिक 2 0 2
लिपिक 18 10 8
चालक 1 0 1
चपरासी 6 5 1
------------------------------

स्टाफ की कमी है, इसलिए दिक्कतें तो हो रही हैं। इसके बावजूद कोटे की दुकानों की चेकिंग कराने की कोशिश की जाती है। स्टाफ को लेकर शासन को कई बार लिखा-पढ़ी की जा चुकी है।
नीरज सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

11 दिसंबर से 8 जनवरी तक संसद का शीतकालीन सत्र, जानिए किन मुद्दों पर होगी चर्चा

संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसंबर से शुरू होकर आठ जनवरी तक चलेगा। इसकी जानकरी देते हुए संसदीय मामलों के राज्य मंत्री विजय गोयल ने बताया कि इस दौरान 20 कार्यदिवस मिलेंगे। इन बीस दिनों में सरकार कई महत्वपूर्ण बिलों पर चर्चा करेगी।

14 नवंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree