विज्ञापन

बंद मकान का ताला तोड़ लाखों का माल उड़ाया

Badaun Updated Mon, 07 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
बदायूं। सिविल लाइंस इलाके में चोरी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। थाना पुलिस द्वारा रात्रिगश्त में शिथिलता बरतने का खामियाजा लोगों को अपनी जीवन भर की कमाई चोरों के हाथों लुटवाकर भुगतना पड़ रहा है। शनिवार की रात भी चोरों ने बंद मकान का ताला तोड़कर वहां रखी 50 हजार रुपये की नकदी समेत लाखों रुपये कीमत के जेवरात पर हाथ साफ कर दिया। दूसरे दिन रविवार की दोपहर को पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना किया है।
विज्ञापन
मूलरूप से थाना उसहैत क्षेत्र के गांव निरागनला निवासी विज्ञान सिंह बीते कुछ दिनों से शहर केसिविल लाइंस इलाकेमें किराए का मकान लेकर रह रहे हैं। शनिवार की शाम वह अपने घर में ताला डालकर परिवार के साथ एक रिश्तेदार के विवाह समारोह में शामिल होने के लिए पैतृक गांव गए थे। मध्यरात्रि में चोरों ने घर का ताला तोड़कर वहां रखी नकदी, जेवरात और कपड़ों पर हाथ साफ कर दिया।
दूसरे दिन रविवार की सुबह पड़ोसियों ने घर का ताला टूटा देखा तो वहां अफरातफरी मच गई। मोहल्ले वालों की सूचना पर दोपहर को पहुंचे विज्ञान सिंह ने घर के अंदर घुसे तो वहां का नजारा देख दंग रह गए। घर का सारा सामान बिखरा पड़ा था। पड़ताल की तो पता लगा कि चोर घर में रखी 50 हजार रुपये की नकदी समेत सोने की दो जंजीर, दो अंगूठी, तीन लॉकेट, दो जोड़ सोने के कुंडल, तीन जोड़ चांदी की पायजेब समेत कई जेवरात पर हाथ साफ कर दिए। भुक्तभोगी का कहना है चोर लगभग पांच लाख रुपये की संपत्ति ले गए हैं।
घटना की सूचना पर पहुंची सिविल लाइंस पुलिस ने भुक्तभोगी परिवार को चोरों की गिरफ्तारी का आश्वासन देने के बजाये उन्हें घर में ताला डालकर न जाने की नसीहत देना शुरू कर दी। पुलिस की इस कार्यप्रणाली से इलाके केलोगों में आक्रोश व्याप्त है। नागरिकों का कहना है कि पहले तो पुलिस रात्रिगश्त नहीं करती उस पर भी घटना के बाद ऐसी नसीहत दे रही है। एसओ सिविल लाइंस सतीश यादव ने बताया कि घटना की जांच कर रहे हैं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

सत्ता का सेमीफाइनलः शिक्षा व्यवस्था और महिला सुरक्षा बड़े मुद्दे

सत्ता के सेमीफाइनल का चुनावी रथ छत्तीसगढ़ के शिवपुरी पहुंचा। यहां हमने जाने आधी आबादी के अहम मुद्दे जानने की कोशिश की। आइए जानते हैं क्या हैं वो मुद्दे।

13 नवंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree