विज्ञापन

सर्वे: नेपाल-बांग्लादेश से भी पिछड़ जाएगा पाक, भारत सबसे आगे

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Sat, 06 Apr 2019 06:07 AM IST
विज्ञापन
संयुक्त राष्ट्र (फाइल फोटो)
संयुक्त राष्ट्र (फाइल फोटो)
ख़बर सुनें

सार

  • संयुक्त राष्ट्र आर्थिक-सामाजिक आयोग की सर्वे रिपोर्ट में 2019 के जीडीपी अनुमान का खुलासा
  • 4.2 फीसदी रह सकती है पाक जीडीपी वृद्धि दर जबकि नेपाल की 6.5% व बांग्लादेश की 7.3%
  • 7.5 फीसदी आर्थिक विकास दर की वृद्धि के साथ एशिया-प्रशांत इलाके में भारत रहेगा सबसे आगे  

विस्तार

पाक वित्तमंत्री द्वारा देश के दिवालिया होने के कगार पर होने की स्वीकारोक्ति के ठीक बाद संयुक्त राष्ट्र में एशिया के लिए आर्थिक व सामाजिक आयोग ने एक सर्वे रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट में वर्ष 2019 के लिए जताए गए पूर्वानुमान के मुताबिक पाकिस्तान की आर्थिक विकास दर (जीडीपी) नेपाल और बांग्लादेश से भी नीचे 4.2 फीसदी रह सकती है जो 2020 में घटकर सिर्फ चार फीसदी रह जाएगी। जबकि 2019 में नेपाल-मालदीव की जीडीपी वृद्धि 6.5 प्रतिशत और बांग्लादेश में यह वृद्धि 7.3 प्रतिशत रहेगी। भारत में इस वर्ष सर्वाधिक जीडीपी वृद्धि 7.5 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है।
विज्ञापन
एशिया और प्रशांत के लिए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग (ईएससीएपी) द्वारा एंबिशंस बियॉन्ड ग्रोथ शीर्षक से जारी इस सर्वेक्षण रिपोर्ट में खुलासा किया गया कि क्षेत्र की 2019 और 2020 की में क्रमश: 5 और 5.1 प्रतिशत वृद्धि के साथ आर्थिक स्थिरता कायम रहेगी। बहरहाल, निर्यात से संबंधित क्षेत्र कुछ परेशानियों का सामना कर सकते हैं क्योंकि यूरोप और संभावित रूप से अमेरिका में इसकी मांग घट सकती है। यह मांग चीन-अमेरिका व्यापार युद्ध से भी प्रभावित हो सकती है। रिपोर्ट में भारत की तारीफ करते हुए यहां मध्यम और लंबे अंतराल की संभावनाएं बेहतर बताई गई हैं।

संयुक्त राष्ट्र की इस रिपोर्ट में एशिया-प्रशांत क्षेत्र के भीतर अगले चरण का स्ट्रक्चरल ट्रांसफॉर्मेशन पर्यावरण हितैषी होने संबंधी अनुमान भी जताया गया है। उत्पादन और उपभोग के क्षेत्र में संसाधन कुशल प्रणाली संसाधन न सिर्फ धरती से 10वें हिस्से के कार्बन को कम करेगी बल्कि ऊंचे आर्थिक परिणाम भी वापस देगी और समय के साथ इसकी वित्तीय कीमत गिरकर शून्य पर आ जाएगी।

कई संकटों में है पाक अर्थव्यवस्था

रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था कई तरह के भुगतान संतुलन की समस्याओं का अनुभव कर रही है। इसमें काफी वित्तीय घाटा और चालू घाटा भी शामिल हो सकता है। आर्थिक संकट के ये हालात पाकिस्तानी मुद्रा पर विपरीत प्रभाव डाल सकते हैं। इसमें पर्यावरणीय पतन के खतरनाक स्तर तक पहुंचने की बात कही गई है।

एशिया-प्रशांत में महंगाई थोड़ी बढ़ेगी

विकासशील एशिया-प्रशांत क्षेत्र में वर्ष 2019 के भीतर महंगाई में थोड़ी बढ़ोतरी दर्ज हो सकती है। यह इस वर्ष 4.2 फीसदी और साल 2020 में 3.8 प्रतिशत होने का अनुमान संयुक्त राष्ट्र की इस सर्वेक्षण रिपोर्ट में जताया है। कृषि आधारित अर्थव्यवस्था को उत्पादन के क्षेत्र में तब्दील करने वालों को इस रिपोर्ट में आगाह किया गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us