जिंबाब्बे: तख्तापलट की आशंका के बीच सेना ने टैंकों से बंद किया संसद का रास्ता, लोगों में दहशत

टीम डिजिटल/अमर उजाला Updated Wed, 15 Nov 2017 01:49 PM IST
Zimbabwe Military vehicles block road outside parliament
सड़क पर जिंबाब्बे आर्मी के जवान
जिंबाब्बे में गहराते राजनीतिक संकट के बीच बुधवार (15 नवंबर) को सेना ने अपनी संसद के बाहर टैंक खड़े करके सड़क को बंद कर दिया जिससे लोग घबरा गए। हालांकि, सेना अब भी अपनी बात पर कायम है और कह रही है कि यह तख्तापलट नहीं है।
जिम्बाब्बे के राष्ट्रपति की पत्नी पर मॉडल को मारने का आरोप

इससे पहले मंगलवार को राजधानी हरारे के बाहर टैंक तैनात देखे गए थे। वहां के सेना प्रमुख ने राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे को चेतावनी दी है कि वह अपने विरोधी प्रमुख नेताओं को बर्खास्त न करें। मौजूदा स्थिति राष्ट्रपति और वहां के सेना प्रमुख जनरल कांन्सटैनटिनो चिवेंगा के बीच बढ़ते तनाव के बाद पैदा हुई है।

सेना प्रमुख ने मुगाबे को चेताया है कि अगर वह अपने राजनीतिक विरोधियों को निशाना बनाना जारी रखेंगे तो सेना को हस्तक्षेप करना पड़ेगा। 93 साल के मुगाबे ने पिछले सप्ताह उपराष्ट्रपति एमरसन मनांगवा समेत कई नेताओं को बर्खास्त कर दिया था।
 

 

Spotlight

Most Read

Rest of World

मालदीव में आपातकाल अवधि बढ़ाने को सुप्रीम कोर्ट से मंजूरी, भारत नाखुश

भारत: मालदीव संसद द्वारा अपने देश में आपातकाल बढ़ाने को लेकर कोई वैध कारण नहीं लग रहा है।

23 फरवरी 2018

Related Videos

AIUDF और बदरुद्दीन अजमल के बारे में वो हर बात जो आप जानना चाहते हैं

सेना प्रमुख बिपिन रावत के बांग्लादेशी नागरिकों की असम में घुसपैठ और AIUDF पर दिए बयान से राजनीतिक बवाल मच गया है। सेना प्रमुख के बयान के बाद ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट के चीफ बदरूद्दीन अजमल से पलटवार किया।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen