कुलभूषण की फांसी पर भड़का भारत, PAK राजदूत तलब, बताया हत्या की 'सोची समझी' साजिश

amarujala.com- Presented by: मनीष कुमार Updated Mon, 10 Apr 2017 07:20 PM IST
pakistan sentenced indian national kulbhushan jadhav to death
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पाकिस्तान की गिरफ्त में रह रहे भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाक की मिलिट्री अदालत द्वारा सुनाई गई मौत की सजा पर भारत का रुख तल्‍ख हो गया है। भारत के विदेश मंत्रालय ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब कर लिया है।
विज्ञापन


मामले में भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से बयान जारी कर कहा गया है कि इस मामले में पाकिस्तान के द्वारा न्याय के नैसर्गिक सिद्धांत और निर्धारित प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया गया है। भारत की ओर से कुलभूषण जाधव को दी गई फांसी की सजा को सुनियोजित हत्या करार दिया गया है। विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि 'यह महत्वपूर्ण है कि हमारे उच्चायोग को भी सूचित नहीं किया गया कि कुलभूषण जाधव पर मुकदमा चलाया जा रहा है'। 


वहीं रॉ के पूर्व चीफ एस दुल्लत ने कहा कि पाकिस्तान में कुछ भी संभव है वो अपने पूर्व प्रधानमंत्री को फांसी पर लटका सकते हैं तो दूसरे देश के नागरिकों के लिए तो यह आम बात है। बता दें कि ईरान में व्यापार करने वाले पूर्व नेवी अधिकारी कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की मिलिट्री अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है, खुद पाक आर्मी चीफ एस बाजवा ने इस बात की जानकारी दी। 

पाकिस्तान की ओर से जाधव को रॉ का जासूस बनाकर उसके खिलाफ मुकदमा चलाया जा रहा था। जाधव को बीते मार्च को ब्लूचिस्तान सीमा से गिरफ्तार करना बताया गया था। हालांकि भारत ने पाकिस्तान के आरोपों को नकारते हुए कहा था कि संभव है जाधव का अपहरण कर उन्हें ईरान से ब्लूचिस्तान लाया गया हो। बता दें कि कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान ने कथित रूप से जाधव के रॉ एजेंट होने के कबूलनामे का वीडियो भी जारी किया था। जिसे भारत ने पूरी तरह नकारते हुए इसे दबाव में दिया गया बयान बताया था।

पूर्व में जाधव को छोड़ने की बात कहकर पलटी मार गया था पाकिस्तान

इससे पहले पाकिस्तान ने जाधव को स्वदेश भेजने के मामले में पलटी मार ली थी। ठोस सबूत न होने की बात कहकर कुलभूषण को स्वदेश वापस छोड़ने की बात पर पाकिस्तान ने कहा कि उसके पास जाधव के खिलाफ पुख्ता सबूत हैं और पाकिस्तान में ही उस पर मुकदमा चलेगा। 

इसकी जानकारी पाकिस्तान के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने उच्च सदन सीनेट में दी। उन्होंने कहा कि जाधव पर एफआईआर दर्ज हो चुकी है और पाकिस्तान उसे छोड़ने पर कोई विचार नहीं कर रहा।

पाकिस्तानी अखबार 'द डॉन' के अनुसार सीनेट में प्रश्नकाल के दौरान एक प्रश्न के जवाब में अजीज ने कहा कि हमने कभी नहीं कहा कि हमारे पास जाधव के खिलाफ सबूतों की कोई कमी है।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवादी गतिविधियों के अपराध में जाधव के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गया है और मामले की जांच चल रही है। भारत ने इस मामले पर पहले भी कहा है कि कुलभूषण जाधव नेवी के रिटायर्ड ऑफिसर हैं और अब उनका भारत सरकार से कोई संबंध नहीं है और अगर पाकिस्तान जाधव के खिलाफ सबूतों की बात कर रहा है तो उसे भारत के सामने पेश क्यों नहीं करता।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00