धरती पर लौट रहा SpaceX Demo-2, जानें वापसी से जुड़े 10 सवालों के जवाब

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वॉशिंगटन। Updated Sun, 02 Aug 2020 04:11 AM IST
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : Social media

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
अंतरिक्ष यात्रा के इतिहास में 30 मई को एक नया अध्याय शुरू हुआ जब नासा के दो अंतरिक्ष यात्री बॉब बेह्नकेन (49) और डग हर्ली (53) अमेरिका की धरती से एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स के बनाए गए अंतरिक्ष यान ड्रैगन क्रू कैप्सूल से अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (आईएसएस) भेजे गए।
विज्ञापन

करीब 19 घंटे के सफर के बाद दोनों अंतरिक्ष यात्री 31 मई को आईएसएस पहुंच गए। मिशन की सफलता के बाद कंपनी के मालिक एलन मस्क का उत्साह देखने लायक था। बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ, जब किसी निजी कंपनी ने नासा के साथ मिलकर अंतरिक्ष यात्रियों को लॉन्च किया है। स्पेसएक्स के अंतरिक्षयान ने नासा के फ्लोरिडा स्थित केनेडी अंतरिक्ष केंद्र से फॉल्कन 9 रॉकेट के जरिए उड़ान भरी थी।
हालांकि अब अंतरिक्ष यात्री बेह्नकेन और हर्ली फ्लोरिडा के तट पर वापसी की तैयारी कर रहे हैं। उनके लौटने के साथ ही इंसान को अंतरिक्ष में भेजने के लिए उड़ान के परीक्षण का यह चरण पूरा हो जाएगा।
1. कहां उतर सकता है ड्रैगन क्रू कैप्सूल?
नासा और स्पेसएक्स डेमो-2 परीक्षण उड़ान के ड्रैगन क्रू को फ्लोरिडा के तट पर उतारने की तैयारी कर रही हैं। इसके लिए सात जगहों का चुनाव किया गया है, जहां यान उतर सकता है। यह सात संभावित जगह हैं पेनासाकोला, टाम्पा, तल्लाहासी, पनामा सिटी, केप कैनावेरल, डेटोना और जैक्सनविले के तटीय इलाकों में हैं।

2. ड्रैगन क्रू कैप्सूल को उतारने के लिए कैसे चुनी गईं ये जगहें?
ड्रैगन क्रू कैप्सूल में सवार यात्रियों को वापस धरती पर लाने के लिए दिन और समय के अनुसार जगह का चुनाव किया जाता है। साथ ही उतरने के सभी संभावित विकल्पों और अवसरों को ध्यान में रखा जाता है। प्राथामिकता इस बात को भी दी जाती है कि कैप्सूल के उतरने वाली जगह का मौसम विपरीत परिस्थितियों वाला ना हो। इस बात पर भी जोर दिया जाता है कि कैप्सूल के आईएसएस से अनलॉक होने पर अंतरिक्ष से धरती तक आने के सफर में कम से कम समय लगे और कैप्सूल के धरती के वायुमंडल में प्रवेश करने पर दिन का समय हो। यानि कुल मिलाकर कम से कम समय में दिन के वक्त और अनुकूल मौसम में ड्रैगन कैप्सूल को धरती पर सबसे मुफीद स्थान पर उतारा जाएगा।

3. अंतरिक्ष यात्रियों को वापस धरती पर लौटने में कितना समय लगेगा?
सभी संभावनाओं और अवसरों की पड़ताल करने के बाद अंतरिक्ष में भेजे गए दोनों अंतरिक्ष यात्रियों बॉब बेह्नकेन और डग हर्ली को धरती पर वापस लौटने में छह से 30 घंटे का समय लग सकता है।

4. अंतरिक्ष यात्रियों की वापसी कैसी होगी? इसमें क्या चुनौतियां हैं?
आईएसएस से क्रू ड्रैगन के अनडॉक होने के साथ ही वापसी की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। अनडॉक के समय ड्रैगन कैप्सूल का वजन करीब 27,600 पाउंड होगा। इस दौरान नासा की ओर से पूरी प्रक्रिया को लाइव कवरेज होगी।

आईएसएस से ड्रैगन कैप्सूल के अलग होते ही सबसे पहले दो छोटे इंजन तुरंत शुरू हो जाएंगे। इसके बाद ड्रैगन कैप्सूल अपने दम पर वापसी की पूरी प्रक्रिया को अंजाम देगा। यह वापसी के लिए चार बार इंजन को चलाकर खुद को आईएसएस से दूर कर लेगा। इसके कुछ समय बाद यह खुद को वापसी के लिए तय कक्षा में ले जाएगा।

इसके बाद वापसी के लिए तय कक्षा से बाहर आने के लिए एक बार फिर इंजन शुरू होगा और ईंधन जलने के बाद ड्रैगन खुद को ट्रंक से अलग कर लेगा। यह ट्रंक धरती के वायुमंडल में आते ही जलकर राख हो जाएगा। इसके बाद एक बार फिर स्पेसक्राफ्ट खुद को तय कक्षा से वापसी के पथ पर ले जाएगा ताकि सुनिश्चित की गई जगह पर लैंड कर सके। उपरोक्त प्रक्रिया पूरी होने के बाद ड्रैगन कैप्सूल का वजन करीब 21,200 पाउंड रह जाएगा।

5. ड्रैगन कैप्सूल कितनी तेजी से धरती पर लौटेगा और वायुमंडल में प्रवेश करने पर यह कितना गर्म होगा?
क्रू ड्रैगन की वापसी के दौरान इसकी रफ्तार करीब 17,500 मील प्रति घंटा होगी। जबकि अधिकतम तापमान 3,500 डिग्री फैरनहाइट होगा। यान के धरती के वायुमंडल में प्रवेश करने के दौरान संचार बाधित होता है, जो करीब छह मिनट तक जारी रहता है।

6. कब खुलेंगे पैराशूट?
ड्रैगन कैप्सूल में पैराशूट के दो सेट हैं। इनमें से पहला तब खुलेगा जब धरती के वायुमंडल में प्रवेश करने पर रफ्तार कम करने के लिए ड्रैगन कैप्सूल 18,000 फीट की ऊंचाई पर होगा। इस समय ड्रैगन कैप्सूल की गति 350 मील प्रति घंटा होगी। इसके बाद छह हजार फीट की ऊंचाई पर चार मुख्य पैराशूट वाला सेट खुलेगा। इस दौरान ड्रैगन कैप्सूल की गति 119 मील प्रति घंटा होगी।

7. ड्रैगन कैप्सूल को पानी से बाहर कौन निकालेगा?
चुनी गई सात जगहों में से किसी एक पर उतरने के बाद ड्रैगन कैप्सूल को स्पेसएक्स के कर्मचारी पानी से बाहर निकालेंगे। इस काम के लिए मौके पर दो जहाज होंगे, इनमें से एक खोजकर्ता होगा और दूसरा नेविगेटर। यह फ्लोरिडा के तटीय इलाके में इस काम को अंजाम देंगे। या फिर ऐसा जहाज होगा जिस पर स्पेसएक्स और नासा के इंजीनियर समेत 40 से अधिक कर्मचारी होंगे। इनमें अंतरिक्ष यान से जुड़े इंजीनियर, प्रशिक्षित गोताखोर, चिकित्सक, जहाज के चालक दल, नासा के कार्गो विशेषज्ञो और अन्य लोग शामिल होंगे।

8. कैप्सूल से कितनी देर बाद बाहर आएंगे अंतरिक्ष यात्री?
ड्रैगन कैप्सूल के पानी में उतरने के तुरंत बाद दो बोट तेजी से उसकी तरफ बढ़ेंगी। इनमें से एक बोट जांच करेगी कि कहीं ड्रैगन कैप्सूल में कोई टूट फूट तो नहीं हुई या अन्य कोई समस्या तो नहीं है। सबकुछ सामान्य रहने पर जहाज के जरिए ड्रैगन कैप्सूल को पानी से बाहर निकाला जाएगा। जबकि दूसरी बोट यान से बाहर आए पैराशूट को खोजेगी और पानी से बाहर निकालेगी।

इसके बाद मुख्य पोत आगे बढ़ेगा और क्रू ड्रैगन कैप्सूल को मुख्य डेक पर लाना शुरू करेगा। एक बार जब कैप्सूल रिकवरी पोत पर आ जाएगा तो इसे खोलने के लिए एक स्थिर स्थान पर रखकर खोला जाएगा। इस दौरान दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को चिकित्सा मदद देने के लिए चिकित्सा पेशेवर भी वहां मौजूद रहेंगे। इस प्रक्रिया को पूरा होने में तकरीबन 45 से 60 मिनट का समय लगेगा। हालांकि यह समय कैप्सूल और समुद्र की स्थिति पर निर्भर करेगा।

9. ड्रैगन कैप्सूल से बाहर आने के बाद कहां जाएंगे दोनों अंतरिक्ष यात्री?
ड्रैगन कैप्सूल से बाहर आने के तुरंत बाद दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को जहाज पर बने चिकित्सा कक्ष में ले जाया जाएगा। यह प्रक्रिया ठीक वैसी ही है जैसी कि कजाखस्तान में सोयूज के चालक दल के लौटने पर अपनाई गई थी।

शुरुआती चिकित्सकीय जांच के बाद दोनों अंतरिक्ष यात्रियें को या तो जहाज से अथवा हेलीकॉप्टर से तट के किनारे पर ले जाया जाएगा। इसमें 10 से 80 मिनट का समय लग सकता है, जो कि कैप्सूल की पानी में हुई लैंडिंग वाली जगह से दूरी पर निर्भर है। यह दूरी 22 नॉटिकल मील से लेकर 175 नॉटिकल मील तक हो सकती है।

किनारे पर लौटते ही दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को नासा के हवाई जहाज के जरिए ह्यूस्टन के एलिंगटन हवाई अड्डे पर ले जाया जाएगा। बता दें कि यहीं से नासा अपने हवाई जहाजों को संचालित करती है।

10 इसके बाद क्या होगा?
इस बीच ड्रैगन कैप्सूल जांच और अन्य प्रक्रियाओं के लिए स्पेसएक्स के फ्लोरिडा स्थित केंद्र में वापस ले जाया जाएगा। एक टीम के डाटा और प्रदर्शन की जांच करेगी। जो आगे के अभियानों की मंजूरी दिए जाने के लिए प्रमाणिकृत करेगी। इस प्रमाणीकरण की प्रक्रिया में करीब छह सप्ताह का समय लगेगा।

प्रमाणीकरण की प्रक्रिया पूरी होने के बाद पहला ऑपरेशनल मिशन क्रू ड्रैगन कमांडर माइकल हॉपकिंस, पायलट विक्टर ग्लोवर और मिशन विशेषज्ञ शैनन वॉकर (सभी नासा के) के साथ जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी (जेएएक्सए) के मिशन विशेषज्ञ सोइची नोगुची को लेकर फ्लोरिडा में नासा के कैनेडी स्पेस सेंटर के कॉम्प्लेक्स 39ए से क्रू-1 मिशन लॉन्च किया जाएगा। चालक दल के चार सदस्य अंतरिक्ष स्टेशन पर छह महीने बिताएंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X