जिंदगी की जंग हारी 'मनचलों से लड़ने वाली'

Alakh Ram Updated Mon, 01 Dec 2014 03:54 PM IST
tugasi died in ermany.
ख़बर सुनें
जर्मनी की राजधानी बर्लिन में लोगों ने 23 साल की उस छात्रा को श्रद्धांजलि दी है, जिसने अपनी जान दो किशोर लड़कियों को छेड़खानी से बचाने के लिए दी।
लगभग 150 लोगों ने टुगसी अलबायर्क को याद किया। राष्ट्रपति योआखिम गाउक ने इस छात्रा को औरों के लिए आदर्श बताया है। जर्मन माडिया के मुताबिक 15 नवंबर को इस छात्रा ने फ्रैंकफर्ट के पास ऑफनबाख में एक रेस्टोरेंट के शौचालय से लड़कियों के चिल्लाने की आवाजें सुनीं।

टुगसी ने देखा कि वहां कुछ लोग दो लड़कियों को परेशान कर रहे थे, उनसे छेड़छाड़ कर रहे थे। टुगसी अलबायर्क ने इन किशोरियों का उत्पीड़न कर रहे पुरूषों का विरोध किया।

बाद में इनमें से एक आदमी ने कार पार्किंग में टुगसी अलबायर्क के सिर पर किसी चीज से हमला कर दिया। इस हमले के बाद वो अचेत हो गईं। डॉक्टरों ने उनके दिमाग को मृत घोषित कर दिया और कहा कि अब वो भी नहीं उठेंगी।

टुगसी अलबायर्क की 23वें जन्मदिन पर उनके माता पिता ने उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली से हटाने का फैसला किया। शुक्रवार को जीवन रक्षक प्रणाली से हटाने के बाद इस छात्रा की मौत हो गई।

श्रद्धांजलि सभा का आयोजन करने वाली कैगला फरेट का कहना है, "इसकी जगह मैं या फिर मेरा परिवार कोई भी हो सकता था, क्योंकि इस तरह की घटना को अगर होते हुए कोई भी देखेगा तो उसमें हस्तक्षेप जरूर करेगा।"

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

Europe

सोशल मीडिया पर फर्जी खबरें फैलाते हैं राजनीतिक दल: रिपोर्ट

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने कहा, चुनावों के दौरान सबसे अधिक फैलाई जाती हैं फर्जी खबरें।

23 जुलाई 2018

Related Videos

बॉलीवुड टॉप 10: देखिए क्यों डायरेक्टर हिरानी पर भड़क गया सर्किट

'बॉलीवुड टॉप 10' में देखिए सोनू सूद का फिल्म मणिकर्णिका से लीक हुआ लुक, कब से शुरू हो रहा है कौन बनेगा करोड़पति और रनबीर-आलिया के रिलेशन पर क्या बोले ऋषि कपूर।

23 जुलाई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen