अमेरिका 9/11 बरसी: 17 साल बाद गुजरी मेट्रो, आतंकी हमले के पल-पल की है गवाह

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 11 Sep 2018 12:27 PM IST
World Trade Center
1 of 12
विज्ञापन
वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमले को मंगलवार को 17 साल पूरे हो गए। अमेरिका में एक के बाद एक पांच जगहों पर जिस तरह से आतंकियों ने तबाही की कहानी लिखी थी उसे सोचकर आज भी दुनिया थर्रा जाती है। आंतकी ओसामा बिन लादेन की साजिश के तहत अलकायदा आतंकी संगठन की तबाही का मंजर आज भी अमेरिका की दर्रो-दिवार पर मौजूद है। 17 साल बीत जाने के बाद भी न तो अमेरिका उस हमले को भूल सका है और न दुनिया ही इसे भूल सकी है।  

इस मौके पर न्यूयॉर्क सिटी के एक सबवे स्टेशन को फिर खोला गया है। 11 सितंबर 2001 को जब ट्विन टॉवर्स को निशाना बनाया गया, तो उसका ढांचा गिरने से ये तबाह हो गया था। दोबारा इसे शुरू कर दिया गया है और अब इसका नाम कॉर्टलैंडेट स्टॉप रखा गया है। ये नाम इसलिए रखा गया है, क्योंकि इसी सड़क पर ये  टॉवर्स मौजूद थे जो अब नेस्तनाबूद हो चुके हैं। 17 साल बाद सबवे पर ट्रेन और यात्री औरपहुंचे। 

हमले की गवाह यादें 
सबवे की दीवारों को इस तरह से बनाया गया है जिससे उस दर्दनाक मंजर को भूलना नामुमकिन है। इसकी दीवारों पर हमले का दर्दनाक पहलू दर्शाने वाली चित्रकारी भी की गई है। मार्बल से बनी इस दीवार पर आतंकियों ने 9/11 हमला कैसे किया था इसकी जानकारी के साथ-साथ इसपर 1948 में यूएन के मानवाधिकार ऐलान का भी जिक्र को उकेरा गया है। 
9/11 आतंकी हमला
2 of 12
दोनों टॉवरों का मलवा इसी स्टेशन पर गिरा था 

जब आतंकी हमला अमेरिका में हुआ और वहां चारों ओर त्राहि-त्राहि मची हुई थी। तब ट्वीन टावरों का मलवा धू-धू कर इसी सबवे पर गिर रहा था और फिर ये भी पूरी तरह से ध्वस्त हो गया। इस स्टेशन के निर्माण में करीब तीन साल का समय लगा। जबकि इसपर पड़े ट्विन टावर के  मलबे को हटाने और इसकी दुबारा  खुदाई में 14 साल लगे। ट्विन टॉवर्स गिरने से 1200 फीट ट्रैक भी तबाह हो गया था। 
विज्ञापन
विज्ञापन
wtc-1
3 of 12
बनने में तीन साल और मलबा हटने में लग गए 14 साल
इसे दुबारा शुरू करने में अभी तक 1300 करोड़ रुपए खर्च किया गया है। 2001 में अलकायदा आतंकियों ने हमले के लिए 4 विमान हाईजैक किए थे। उनमें से दो विमान ट्विन टावर्स से टकरा दिए थे। 
चौंकाने वाली बात यह है कि 9/11 के हमले के 17 साल बीत जाने के बाद भी मृतकों की पहचान नहीं हो सकी। हमले में करीब 2,753 लोग मारे गए थे जिसमें 1,642 लोगों की ही पहचान हो सकी थी। अब भी 1,111 की पहचान नहीं हो सकी है। 
wtc-1
4 of 12
वह 11 सिंतबर 2001 की सुबह थी सभी अपने काम को जा रहे थे कि तभी अमेरिका में बड़े आतंकी हमले की खबर आई और पूरी दुनिया सन्न रह गई थी। इस हमले में दुनिया भर के 90 से ज्यादा देशों के लोगों की जान गई थी यही नही इंसानियत को हिला देने वाली इस घटना में कुल 2,996 लोग मारे गए थे जबकि 6 हजार से अधिक लोग घायल हुए थे।
विज्ञापन
विज्ञापन
wtc-1
5 of 12
यह एक बहुत बड़ा आतंकी हमला था जिसे अमेरिका के साथ साथ दुनिया के बाकी देश भी अभी तक नहीं भुला पाए हैं। इस हमले में अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर से दो विमानों को टकरा दिया गया था।  दरअसल 19 आतंकवादियों ने दो अमेरिकन विमानों अमेरिकन 11 और यूनाइटेड एयरलाइंस फ्लाइट 175 को हाईजैक कर लिया था। बाद में इन्हें वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की बिल्डिंग से टकरा दिया गया
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00