'भविष्य' बेचने के आरोप पर Facebook का कबूलनामा, इंटरनेट यूजर्स पर इस तरह रखता है नजर

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Tue, 17 Apr 2018 04:50 PM IST
Facebook's Confession: Eye on every internet user by Facial Recognition Tool
ख़बर सुनें
फेसबुक डाटा स्कैंडल में फंसता ही जा रहा है। सोशल मीडिया कंपनी ने मंगलवार को माना कि वह गैर फेसबुक यूजर की सूचनाएं भी जुटाती है। पिछले हफ्ते अमेरिकी संसद में सुनवाई के दौरान फेसबुक सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने अपनी सफाई में कहा था कि फेसबुक उन यूजर पर भी नजर रखता है, जिन्होंने फेसबुक पर अपना प्रोफाइल नहीं बनाया है। इसके बाद अब कंपनी के उत्पाद प्रबंधन निदेशक डेविड बेसर ने कहा, अगर आप किसी ऐसी साइट या एप पर विजिट करते हैं, जो फेसबुक की सेवाओं का इस्तेमाल करता है, तो आपकी सूचना हमारे पास आ जाती है। भले आपने फेसबुक पर लॉग इन न किया हो या आपका अकाउंट न हो। 
फेसबुक ने माना, हर इंटरनेट यूजर पर रखता नजर

कंपनी के उत्पाद प्रबंधन निदेशक डेविड बेसर का कबूलनामा


हालांकि उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि दूसरी वेबसाइट भी ऐसा कर रही हैं। गूगल और ट्विटर भी ऐसा करते हैं। साथ ही बेसर ने कहा कि फेसबुक यूजर पर निगाह इसलिए रखता है कि सुरक्षा और सेवाओं को बेहतर बनाया जा सके। हम लोगों का डाटा नहीं बेचते हैं। 

 
आगे पढ़ें

फेशियल रिकग्निशन टूल पर होगा सामूहिक मुकदमा

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

America

H1-B वीजा नियमों में बदलाव के बाद 80 फीसदी भारतीय महिलाएं हो जाएंगी बेरोजगार

अमेरिकी प्रशासन एच-1 बी वीजा धारकों के जीवनसाथियों के लिए ऐसी योजना बना रहा है जिससे वहां मौजूद 80 फीसदी भारतीय महिलाएं बेरोजगार हो जाएंगी।

25 अप्रैल 2018

Related Videos

आसाराम को दोषी करार दिए के बाद ये बोले पीड़ित लड़की के पिता

नाबालिग से रेप के मामले में आसाराम को जोधपुर कोर्ट ने दोषी करार दिया है। आसाराम को दोषी करार दिए जाने के बाद पीड़ित लड़की के पिता ने मीडिया से बातचीत की। उन्होंने कहा कि वो कोर्ट के फैसले से संतुष्ट हैं और आसाराम को कड़ी से कड़ी सजा की मांग करते हैं।

25 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen