विज्ञापन
Home ›   Video ›   Specials ›   GOPAL DAS NEERAJ DONATED HIS ORGANS BEFORE DYING, SEE FUNERAL SCHEDULE
गोपाल दास नीरज

‘जितना कम सामान रहेगा, उतना सफर आसान रहेगा’, जाते-जाते अपने शब्दों को जी गए नीरज

वीडियो डेस्क, अमर उजाला टीवी/ नई दिल्ली Updated Fri, 20 Jul 2018 01:12 PM IST

गोपाल दास नीरज के निधन की खबर सुनकर पूरा देश गमगीन है। सालों तक कवि सम्मेलनों और मंच की जान रहे नीरज की रचनाएं हमेशा के लिए अमर रहेंगी, क्योंकि वो सिर्फ लिखते ही नहीं थे बल्कि अपने लिखे एक-एक शब्द को जीते भी थे। तभी तो, 'जितना कम सामान रहेगा, उतना सफ़र आसान रहेगा’ कविता लिखने वाले नीरज जाते-जाते अपने सभी अंगों को दान कर गए।
 

विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00