विज्ञापन
Home ›   Video ›   India News ›   Ram Vilas Paswan's legacy divided among uncle-nephew

चाचा भतीजे में बंटी रामविलास पासवान की विरासत

वीडियो डेस्क,अमर उजाला.कॉम Published by: प्रतीक्षा पांडे Updated Tue, 05 Oct 2021 05:40 PM IST

बिहार राजनिति के चर्चित नाम राम बिलास पासवान के निधन को 1 वर्ष हो गये और 1 वर्ष बाद उनकी विरासत दो फाड में हो गई। इसके साथ ही अब पुराना नाम और चुनाव चिन्ह भी खत्म कर दिया गया है। चिराग पासवान और उनके चाचा पशुपति नात अब औपचारिक एलान के साथ अलग अलग हो गये हैं।

चिराग पासवान जिस पार्टी का नेतृत्व कर रहे हैं उसका नाम लोकजनशक्ति पार्टी (रामविलास ) है और रामविलास के भाई पशुपति नाथ की पार्टी का नाम राष्ट्रीय लोकजनशक्ति पार्टी होगा इस दल का चुनाव चिह्न सिलाई मशीन है जबकि चिराग पासवान वाली लोजपा का चुनाव चिह्न हैलिकॉप्टर होगा। 

आपको बता दें रोमविलास पासवान की मृत्यु के बाद से चिराग पासवान के उनके चाचा पशुपतिनाथ से उनके मतभेद सामने आ रहे थे और अब ये पूरी तरह से तय हो गया कि दोनोंं ने अलग पार्टी बनाकर अपने रास्ते अलग कर लिए है।

विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00