विज्ञापन
विज्ञापन

किसानों के सूख गए हलक

farmer Updated Mon, 07 Mar 2016 02:35 AM IST
किसानों के सूख गए हलक
किसानों के सूख गए हलक - फोटो : रुनकता
ख़बर सुनें
किसानों के सूख गए हलक
विज्ञापन
बारिश से फसलों को नुकसान, गेहूं सबसे अधिक प्रभावित
किरावली, खेरागढ़, अछनेरा ब्लाकों में सबसे अधिक  क्षति

अमर उजाला ब्यूरो
आगरा। पिछले तीन वर्ष से मौसम की मार झेल रहे किसानों के हलक सूख गए हैं। शनिवार को हुई बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान हुआ है। सबसे अधिक गेहूं की फसल प्रभावित हुई है। आसमान पर मंडराते बादलों को देखकर किसानों को पसीना आ रहा है। रविवार को क्षेत्रों में जनप्रतिनिधियों और तहसीलों की टीमों ने नुकसान का आकलन करने के लिए प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया है। सबसे अधिक नुकसान, किरावली, अछनेरा, फतेहपुर सीकरी, खेरागढ़, सैंया आदि ब्लाकों में हुआ है।
फतेहपुर सीकरी में शनिवार शाम बारिश से फसलें पूरी तरह बर्बाद हो गईं। भाजपा नेता जितेंद्र फौजदार ने प्रहलाद गर्ग, गिरीश शर्मा आदि ने दुल्हारा, गूजरपुरा, हंसपुरा, मंडीगुड़, दादूपुरा आदि गांवों का दौरा किया। वहां गेहूं की फसल पूरी तरह से जमीन पर बिछ गई है। खेतों में पानी होने की वजह से गेहूं के सड़ने की आशंका पैदा हो गई है। जिला पंचायत सदस्य जनक सिंह, गोविंद सिंह कराही ने बताया कि क्षेत्र में आलू और गेहूं को बड़ा नुकसान हुआ है। भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष मोहन सिंह चाहर ने कठवारी, कुकथला, खड़वाई, लोहकरेरा, भिलावटी नागर आदि गांवों का दौरा किया। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में गेहूं की फसल को 70 फीसदी नुकसान पहुंचा है।
मिढ़ाकुर में तहसीलदार बिजेंद्र सिंह ने राजस्व निरीक्षकों के साथ गांवों में नुकसान का आकलन किया। दोपहर बाद जिला कृषि अधिकारी गौरव यादव एक बीमा कंपनी के जिला प्रबंधक अविनाश के साथ गांव महुअर, नगला कुर्रा, रायभा, रैमुरा अहीर, मर्गूरा, जनूथा, कीठम, सिघना कौरई जाजऊ, उन्देरा आदि गांवों में पहुंचे। आम आदमी पार्टी के बनै सिंह पहलवान ने किसानों के लिए मुआवजे की मांग की। सपा के विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी ने राजस्व निरीक्षक को साथ नयावास, दौलताबाद, सांथा, वहरावती, ताजपुर नगरिया आदि गांवों में नुकसान का जायजा लिया।
किरावली में सांसद चौधरी बाबूलाल ने बिचपुरी अंगूूठी, सहाई, रसूलपुर, कचौरा, थापी, रायभा, बस्तई, खेड़ा भगौर, किरावली, पुरामना, विधापुर, अभुआपुरा, अभैदौपुरा, महुअर, वरौदा सदर, मलपुरा गामरी आदि गांवों का दौरा कर किसानों के लिए मुआवजे की मांग की। रालोद जिलाध्यक्ष बृजेश चाहर ने कासौटी, मई, वस्तई, कचौरा, पुरामना, निनवाया आदि गांवों दौरा किया। खेरागढ़ तहसील के जगनेर ब्लाक के गांव नौनी वीरभान में भी बारिश से गेहूं और सरसों की फसल को नुकसान हुआ। रोहता के किसान हरिओम शर्मा ने बताया कि क्षेत्र में जिन किसानों ने आलू की खोदाई नहीं की है उन्हें नुकसान होगा। इरादतनगर क्षेत्र के किसान हरीकांत शर्मा के मुताबिक क्षेत्र में गेहूं की फसल को 25-40 फीसदी तक क्षति पहुंची है।
---------
कोल्ड स्टोरेजों के बाहर लगी भीड़
बाह। मौसम के मिजाज को देखते हुए किसानों में खलबली मची है। जिन किसानों के आलू खोदाई के बाद खेतों में पड़े थे उन्होंने पैकिट बनाकर कोल्ड स्टोरेज में जमा कराना शुरू कर दिया है। जो खोद नहीं पाए थे उन्होंने अतिरिक्त मजदूर लगाकर खोदाई शुरू कर दी है। किसान चाहते हैं कि आलू जल्द से जल्द कोल्ड में जमा करा दिया जाए। कोल्ड स्टोरेजों के बाहर जबरदस्त भीड़ लगी है। आलू से लगे ट्रैक्टर ट्रालियां दूर तक खड़े नजर आ रहे हैं। बेसंगपुरा के राजवीर सिंह, कल्यानपुरा के प्रमोद सिंह, जरार के बिजेन्द्र सिंह, बिजौली के रतन सिंह, गोपालपुरा के सुनील कटारा ने बताया कि यदि बारिश और हुई तो आलू की फसल खराब हो जाएगी।
-------
किसानों ने अछनेरा में लगाया जाम
बारिश और ओलावृष्टि से बर्बाद फसलों में नुकसान का आकलन करने के लिए रविवार को किसी राजस्व अधिकारी के न पहुंचने पर आक्रोशित किसानों ने कोतवाली चौराहे पर जाम लगाकर जमकर नारेबाजी की। मौके पर पहुंचे तहसीलदार ने कार्रवाई का आश्वासन देकर लगभग एक घंटे बाद जाम खुलवाया। कहा कि जल्द ही मुआवजे के लिए रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी। जाम लगाने वालों में चौधरी अरब सिंह, डा. श्याम सिंह, सुशील, लाखन सिंह, चौधरी उदय सिंह, दयाशंकर शर्मा आदि शामिल रहे। अछनेरा में शनिवार रात तेज हवा और बारिश के दौरान भरतपुर मार्ग पर पेड़ व बिजली के खंभे टूटकर गिरने से यातायात बाधित हो गया। कई गांवों की बिजली ठप हो गई। विधायक सूरजपाल सिंह ने कहा कि किसानों के लिए मुआवजे की मांग विधानसभा में उठाई जाएगी।
--------
सांसद बाबूलाल के नेतृत्व में डीएम से मिले भाजपाई
आगरा। भाजपा ने प्रभावित किसानों के लिए मुआवजे की मांग की है। सांसद चौधरी बाबूलाल के नेतृत्व में भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल रविवार को जिलाधिकारी से मिला। सांसद ने कहा कि शनिवार रात बारिश की वजह से आलू, सरसों, जौ और गेहूं की फसल को काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने बर्बाद हुई फसल का आकलन कराने और मुआवजा दिलाने की मांग रखी। साथ ही राजस्व विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों पर मनमाने ढंग से काम करने का आरोप लगाया। कहा कि पिछले साल बारिश से प्रभावित बहुत से किसानों को अब तक मुआवजा नहीं मिल सका है। प्रदेश मंत्री रामप्रताप सिंह चौहान ने कहा कि आलू की खोदाई चल रही है, ऐसे में आलू किसानों को बहुत नुकसान हुआ है। जिलाधिकारी ने किसानों के लिए हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। प्रतिनिधिमंडल में बृजक्षेत्र उपाध्यक्ष महशे बघेल, जिला उपाध्यक्ष प्रशांत पौनिया, प्रदीप भाटी, केके भारद्वाज, मोहन सिंह चाहर आदि मौजूद रहे। सांसद ने अछनेरा ब्लॉक के सहाई, सकतपुर, कठवारी, बस्तई, कचोरा आदि गांवों का दौरा कर किसानों को जिलाधिकारी के साथ हुई वार्ता के बारे में बताया।
विज्ञापन

Recommended

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?
Junglee Rummy

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Chandrayaan 2: खुल गया चांद पर दाग का राज, इसरो ने किया खुलासा

चांद पर दाग क्यों है ये राज चंद्रयान 2 ने खोल दिया है। चंद्रयान 2 के ऑर्बिटर ने जो तस्वीरें भेजी हैं उन तस्वीरों में चांद पर गड्ढे साफ दिखाई दे रहे हैं। इन्हीं की वजह से चांद पर दाग दिखाई देता है।

23 अक्टूबर 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree