विज्ञापन

जिंदगी और मौत से जूझ रही महिला बॉक्सर

मुंबई/एजेंसी Updated Sun, 14 Oct 2012 01:30 AM IST
female boxer in coma
ख़बर सुनें
एक 20 वर्षीय महिला बॉक्सर मनीषा चौहान पिछले दस दिन से जिंदगी और मौत से जूझ रही है। यहां समता नगर स्थित साई इंटरनेशनल स्पोर्ट्स क्लब में अभ्यास के दौरान रिंग में पुरुष बॉक्सर से मिले पंच के बाद से वह कॉमा में हैं। पंच उसके सिर में लगी थी, जिसके बाद उसका ब्रेन हैंमरेज हो गया। मस्तिष्क में रक्तस्राव के चलते वह बेहोश होकर रिंग में गिर गई, जिसके बाद उसे अस्पताल पहुंचा गया। पुलिस ने खेल प्राधिकरण के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज कर लिया है। साई ने जूनियर स्तर के कोच और एक वरिष्ठ मुक्केबाज को यहां ट्रेनिंग के लिए अधिकृत कर रखा था।
विज्ञापन
विज्ञापन
मनीषा कांदिवली में ठाकुर कॉलेज में बीकॉम द्वितीय वर्ष की छात्र है। वह 2 अक्तूबर को अपने पुरुष साथी के साथ रिंग में प्रैक्टिस कर रही थीं, जिस दौरान उसके सिर में जोरदार पंच लगी थी। पुलिस रिपोर्ट के अनुसार उसके कोच जसवंत सिंह रिंग पर मौजूद नहीं थे और बॉक्सर उनकी पत्नी की मौजूदगी में प्रैक्टिस कर रहे थे। साथ ही यह भी कहा गया है कि राष्ट्रीय स्तर के बॉक्सरों ने कोई हेडगेयर नहीं लगा रखा था।

फिलहाल नायर अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। सीनियर इंस्पेक्टर एन कांबले ने कहा कि आईपीसी सेक्सन 338 (गंभीर चोट से एक जान खतरे में डालने या दूसरों की व्यक्तिगत सुरक्षा कारण और 34  (आम इरादे) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। हालांकि कोच जसवंत ने उसकी ओर से किसी लापरवाही से इनकार किया है।

इस लापरवाही का जिम्मेदार कौन!
 - महिला बॉक्सर को पुरुष साथी संग रिंग में प्रैक्टिस कराने की लापरवाही के लिए आखिरी कौन जिम्मेदार है। साई या कोच।
- नियम के तहत रिंग में घुसने से पहले बॉक्सरों को हेडगेयर पहनाना आवश्यक है। खबर है कि दोनों बॉक्सर हेडगेयर पहने हुए थे।
- अब तक पीड़ित बॉक्सर को कॉलेज प्रशासन और साई से नहीं मिली वित्तीय मदद।

दोस्तों की मदद

- कॉलेज छात्रों ने 93000 हजार रुपये चंदा से एकत्रित करके इलाज के लिए अस्पताल को दिया।

हेडगेयर पहने थे बॉक्सर
- प्रैक्टिस के दौरान हेडगेयर पहने थे दोनों बॉक्सर। एक छात्र ने प्रैक्टिस के रिहर्सल के लिए वीडियो शूट किया था, जिसमें दोनों को प्रैक्टिस के दौरान हेडगेयर पहने हुए दिखाया गया है।

‘लड़की को लड़का के साथ खिलाया गया। ऐसा पंच उसके सिर में लगा है, जिससे उसका ब्रेनहैमरेज हो गया है।’
- विजय पाल, लड़की के पिता

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Sports news in Hindi related to live update of Sports News, live scores and more cricket news etc. Stay updated with us for all breaking news from Sports and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Other Sports

प्रो कबड्डी 2018: यूपी योद्धा-तमिल थलाइवाज और जयपुर पिंक पैंथर्स- यू मुंबा के बीच का मुकाबला ड्रॉ

यूपी योद्धा और तमिल थलाइवाज के बीच शनिवार को खेला गया प्रो कबड्डी 2018 का 113वां मुकाबला 25-25 से ड्रॉ रहा। 

15 दिसंबर 2018

विज्ञापन

वो घातक गेंदें जिन्होंने तोड़ दिए बल्लेबाजों को मुंह, ब्रेट ली से कांपते थे बल्लेबाज

क्रिकेट को भद्रजनों का खेल कहा जाता है। जितना ये खेल नजाकत का है उतना ही खतरनाक भी है। आइए आज आपको क्रिकेट इतिहास की उन घातक गेंदों को दिखाते हैं जिन्होंने बल्लेबाजों को पिच पर धूल चटा दी।

15 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree