बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

स्वाइन फ्लू और एड्स जैसी घातक बीमारियां भी इसलिए बढ़ रही हैं

Updated Mon, 06 Apr 2015 04:23 PM IST
विज्ञापन
why swine flu and aids spread

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
रोगाणुओं को बेअसर और नष्ट करने के लिए नित नई दवाओं की खोज जारी है। उनकी ईजाद के कुछ समय बाद तक तो असर होता है। पर रोग का एक चक्र पूरा होने के बाद कुछ ही समय में रोगाणु इन दवाओं की प्रतिरोधी-क्षमता विकसित कर लेते हैं।
विज्ञापन


फिर दवाएं बेअसर होने लगती हैं। फिर ज्यादा असरदार दवाएं तैयार की जाती हैं, फिर रोगाणु और ज्यादा प्रतिरोध क्षमता अर्जित कर लेते हैं और नई दवाओं को भी बेअसर कर देते हैं। उदाहरण के लिए सल्फा औषधियों से शुरू में कई तरह के जीवाणु मरते देखे गये।


पेनिसिलिन के कारण आंत्रशोथ, न्यूमोनिया, टाइफाइड, रक्तदोष और हृदयरोग आदि बीमारियां काबू आने लगी, पर कुछ ही साल बीते होंगे कि दवाएं बेअसर होने लगीं और पिछली बीमारियों के साथ नई और बीमारियां बढ़ने लगीं।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

छोटी बीमारियों की जगह ले रही हैं बड़ी बीमारियां

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us