स्वाइन फ्लू और एड्स जैसी घातक बीमारियां भी इसलिए बढ़ रही हैं

Rakesh Jha Updated Mon, 06 Apr 2015 04:23 PM IST
why swine flu and aids spread
ख़बर सुनें
रोगाणुओं को बेअसर और नष्ट करने के लिए नित नई दवाओं की खोज जारी है। उनकी ईजाद के कुछ समय बाद तक तो असर होता है। पर रोग का एक चक्र पूरा होने के बाद कुछ ही समय में रोगाणु इन दवाओं की प्रतिरोधी-क्षमता विकसित कर लेते हैं।
फिर दवाएं बेअसर होने लगती हैं। फिर ज्यादा असरदार दवाएं तैयार की जाती हैं, फिर रोगाणु और ज्यादा प्रतिरोध क्षमता अर्जित कर लेते हैं और नई दवाओं को भी बेअसर कर देते हैं। उदाहरण के लिए सल्फा औषधियों से शुरू में कई तरह के जीवाणु मरते देखे गये।

पेनिसिलिन के कारण आंत्रशोथ, न्यूमोनिया, टाइफाइड, रक्तदोष और हृदयरोग आदि बीमारियां काबू आने लगी, पर कुछ ही साल बीते होंगे कि दवाएं बेअसर होने लगीं और पिछली बीमारियों के साथ नई और बीमारियां बढ़ने लगीं।
आगे पढ़ें

छोटी बीमारियों की जगह ले रही हैं बड़ी बीमारियां

Spotlight

Most Read

Yog-Dhyan

गोमुखासन - कंधे के दर्द को रोक कर राहत देता है ये आसन

योग सूत्र कहते हैं, "हेम दुखम अनागतम" मतलब जो दर्द आपके पास आने वाला है उससे बचा जा सकता है और बचना भी चाहिए।

19 जून 2018

Related Videos

घाटी में तैनात हुए आतंकियों के यमराज, देखिए कैसे होती है इनकी ट्रेनिंग

जम्मी कश्मीर में आतंकियों से निपटने के लिए अब एनएसजी कमांडो की तैनात कर दी गई है। आतंकियों के खिलाफ नए सिरे से ऑपरेशन को शुरू करने के लिए गृह मंत्रालय ने ये कदम उठाया गया है।

21 जून 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen