'Smart Beti Smart Beti
Hindi News ›   Smart Beti ›   Conflicts and Social Pressures of pressure Line going forward

संघर्षों और सामाजिक दबावों के थपेड़ों से जूझकर आगे बढ़ने वाली रेखा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Tue, 30 Oct 2018 08:53 PM IST
स्मार्ट बेटी रेखा शुक्ला
स्मार्ट बेटी रेखा शुक्ला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
अपना बाल विवाह रुकवा पाने में अंततः सफल साबित होने वाली रेखा को जीवन में कई उतार-चढ़ाव देखने पड़े हैं। आर्थिक दबाव के साथ साथ सामाजिक दबाव ने उसके पिता एकबारगी तो इतना मजबूर कर दिया था कि वे 12 साल की रेखा की शादी करने का मन बना चुके थे। अपनी बेहतरी के लिए जिद के साथ बात करती रेखा को देखकर गांव वाले कहते थे कि लड़की जुबान लड़ाती है। लेकिन इंटरनेट साथी के लिए हुई नियुक्ति के समय रेखा के पिता को जो बातें सुनने-समझने को मिलीं उसने उनका मन कायदे से बदला।
विज्ञापन


आज रेखा 23 साल की है, खुद पढ़ भी रही है और पढ़ा भी रही है। परिवार के सभी बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं या पढ़ कर अपने पैरों पर खड़े होने के लिए प्रयासरत हैं। इस सबमें माता-पिता की रजामंदी है। अपने बच्चों को इस तरह आगे बढ़ते देख कर उन्हें खुशी है।स्मार्ट बेटियां अभियान से जुड़ी इंटरनेट साथी रेखा ने ही अपने बारे में यह वीडियो कथा बनाई है।




अमर उजाला फाउंडेशन, यूनिसेफ, फ्रेंड, फिया फाउंडेशन और जे.एम.सी. के साझा  अभियान स्मार्ट बेटियां के तहत श्रावस्ती और बलरामपुर जिले की 150 किशोरियों-लड़कियों को अपने मोबाइल फोन से बाल विवाह के खिलाफ काम करने वालों की ऐसी ही सच्ची और प्रेरक कहानियां बनाने का संक्षिप्त प्रशिक्षण दिया गया है। इन स्मार्ट बेटियों की भेजी कहानियों को ही हम यहां आपके सामने पेश कर रहे हैं। अनेक संघर्षों और सामाजिक दबावों के थपेड़ों से जूझकर आगे बढ़ने वाली रेखा 
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00