Hindi News ›   Rajasthan ›   Handwara Martyr Colonel Ashutosh sharma cremated in jaipur with full state honour family ashok gehlot

अंतिम विदाई: कर्नल आशुतोष की पत्नी ने किया सैल्यूट, मेजर सूद की पत्नी बोलीं- शहादत पर गर्व

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर Published by: Sneha Baluni Updated Tue, 05 May 2020 11:10 AM IST
शहीद को नम आंखों से अंतिम श्रद्धांजलि देतीं पत्नी
शहीद को नम आंखों से अंतिम श्रद्धांजलि देतीं पत्नी - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए कर्नल आशुतोष शर्मा और मेजर अनुज सूद का सम्मान के साथ मंगलवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। कर्नल आशुतोष शर्मा को मंगलवार सुबह जयपुर मिलिस्ट्री स्टेशन में अंतिम विदाई दी गई। शहीदों के परिजनों ने पुष्प अर्पित करके उन्हें श्रद्धांजलि दी। मेजर सूद के पार्थिव शरीर के दर्शन के दौरान ब्रिगेडियर के पद से सेवानिवृत्त उनके पिता सीके सूद का सीना गर्व से तना हुआ दिखा।


 

कर्नल आशुतोष को मिलिट्री स्टेशन पर दी गई श्रद्धांजलि
कर्नल आशुतोष शर्मा को मंगलवार सुबह जयपुर मिलिस्ट्री स्टेशन में अंतिम विदाई दी गई। इससे पहले सोमवार को आशुतोष का पार्थिव शरीर जयपुर हवाईअड्डे पहुंचा था। जहां उनकी पत्नी पल्लवी, बेटी तमन्ना और बड़े भाई पीयूष पहुंचे थे। कर्नल शर्मा की पत्नी पल्लवी और उनके भाई ने चिता को मुखाग्नि दी। पुरानी चुंगी श्मशान घाट में इस अवसर पर शहीद के परिजनों के साथ साथ सैन्य अधिकारी मौजूद थे। शहीद की पत्नी पल्लवी ने हौसला बनाए रखा और पूरे समय वहां मौजूद रहकर सभी रस्म क्रियाओं में भाग लिया।

श्रद्धांजलि देने पहुंचे गहलोत और राठौर
शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और भाजपा सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर भी पहुंचे। सोमवार को जब शहीद कर्नल आशुतोष का पार्थिव शरीर जयपुर पहुंचा तो हर किसी की आंखें भर आईं और गला रुंध गया। सेना के अधिकारियों ने कर्नल की वर्दी और सामान उनकी पत्नी पल्लवी को सौंपा। उनके भाई पीयूष ने बताया कि आशुतोष का पहला प्यार वर्दी थी।

मां-पिता ने किया नमन, पत्नी बोलीं- गर्व है शहादत पर
वहीं वीरगति को प्राप्त हुए शहीद मेजर अनुज सूद पंचतत्व में विलीन हो गए। शहीद के अंतिम संस्कार के लिए चिन्हित स्थल पर केवल उनके पारिवारिक सदस्यों और रिश्तेदारों को ही आने की अनुमति प्रदान की गई। उन सभी को भी एक-दूसरे से उचित फासले पर बिठाया गया। श्मशान घाट में शहीद मेजर अनुज सूद के पिता सीके सूद, मां और पत्नी मौजूद रहे। शहीद को उनके मां-पिता ने नमन किया। वहीं पत्नी ने कहा कि उन्हें अनुज की शहादत पर गर्व है और वे हमेशा मेरे साथ रहेंगे। पिता ने कहा कि अनुज ने मेरा सिर फख्र से ऊंचा कर दिया, बेटा तुझे सलाम।

पत्नी आकृति ने शहीद अनुज सूद की बहादुरी को किया नमन

शहीद मेजर का पार्थिव शरीर मंगलवार सुबह अमरावती एनक्लेव स्थित उनके निवास पर लाया गया। यहां अमरावती एनक्लेव रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान शमशेर शर्मा ने शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित करके श्रद्धांजलि दी। अंतिम दर्शनों के समय हर किसी की आंखें नम थीं। लेकिन सभी देश के लिए शहीद हुए मेजर को सैल्यूट करते नजर आए। भारतीय सेना के जवानों ने रीति रिवाज के अनुसार शहीद के शव को गाड़ी से नीचे उतारकर मॉर्चरी हाउस ले जाया गया। बेटे के पार्थिव शरीर के दर्शन के दौरान ब्रिगेडियर के पद से सेवानिवृत्त उनके पिता सीके सूद का सीना गर्व से तना दिखा। शहीद की मां सुमन और पत्नी आकृति ने भी शहीद अनुज सूद की बहादुरी को नमन किया।

 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00