विज्ञापन

आज शाम पांच बजे से थमेगा चुनाव प्रचार

अमर उजाला ब्यूरो/कन्नौज Updated Sun, 26 Nov 2017 11:47 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कन्नौज। निकाय चुनाव के तीसरे चरण का मतदान 29 नवंबर को होगा। इसलिए चुनाव प्रचार सोमवार को शाम पांच बजे थम जाएगा। अंतिम दौर में पहुंच चुके प्रचार अभियान में रविवार को प्रत्याशियों ने पूरी ताकत झोंक दी। घर-घर जनसंपर्क करने के अलावा कुछ प्रत्याशियों ने जुलूस भी निकालकर भी अपनी ताकत का अहसास कराया। उधर, जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा है कि अगर चुनाव प्रचार थमने के बाद कोई प्रत्याशी आचार संहिता का उल्लंघन करते मिलता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।  
विज्ञापन
 जिले में तीन नगर पालिका कन्नौज, गुरसहायगंज, छिबरामऊ और पांच नगर पंचायत तिर्वा, सौरिख, समधन, सिंकदरपुर व तालग्राम में 29 नवंबर को मतदान होना है। इन सभी में कुल 138 वार्ड हैं। पूरे जनपद के निकाय क्षेत्रों में कुल दो लाख 10 हजार 381 मतदाता वोटिंग प्रक्रिया में हिस्सा लेंगे। मतदाताओं को अपने पाले में करने के लिए प्रत्याशियों ने प्रचार के अंतिम दौर में एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है। जनसंपर्क और जुलूस तो निकाले ही गए हैं साथ ही विरोधी खेमे में भी सेंध लगाने में जुटे हैं। सोमवार को अंतिम दिन चुनाव प्रचार में और तेजी देखने को मिलेगी। इधर, पुलिस और जिला निर्वाचन विभाग भी सक्रिय हो गया है। प्रत्याशियों और उनके समर्थकों पर नजर रखी जा रही है। देखा जा रहा है कि कहीं कोई प्रत्याशी मतदाताओं पर दबाव बनाने का प्रयास तो नहीं कर रहा है।  प्रचार थमने के बाद प्रत्याशियों की रणनीति हर वार्ड के प्रबुद्धजनों के साथ बैठक करने की है। ताकि अपने वोट बैंक को मजबूत कर सकें। प्रत्याशी मतदाताओं को विश्वास दिला रहे है कि जो क्षेत्र की समस्या को कुर्सी पर बैठते ही छह माह के भीतर दूर करा देंगे। प्रत्याशी हर वार्ड के हिसाब से जातिगत आंकड़ों को विशेष ध्यान दे रहे हैं। जिस वार्ड में जिस जाति का वोट ज्यादा है, उस वार्ड में उसी जाति के एक प्रभावशाली व्यक्ति से संपर्क कर बैठक में पहले उसी की आवभगत कर अगवानी कराई जा रही है। इससे उस जाति के वोट बैंक पर अपना प्रभाव छोड़ा जा सके।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

कच्चे तेल के भंडार की संभावना पर लगाया जीपीएस

गंगा के तराई वाले इलाकों में कच्चे तेल के भंडार की तलाश कर रही ऑयल एंड नेचुरल गैस कमीशन (ओएनजीसी) की टीम ने तीन दिन में पांच किमी के दायरे में दो स्थानों पर डीप बोरिंग करने के बाद बांगरमऊ के अलेलखेड़ा गांव के पास अपना जीपीएस सिस्टम स्थापित किया।

14 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' का चीन में चमकना तय

अभिनेता aamir khan की लोकप्रियता जितनी देश में है उतनी ही विदेशों में भी है। हाल ही में रिलीज हुई उनकी फिल्म thugs of hindostan इसका ताजा उदाहरण है।

14 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree