विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020
Astrology Services

होली के दिन, किए-कराए बुरी नजर आदि से मुक्ति के लिए कराएं कोलकाता के दक्षिणेश्वर काली मंदिर में पूजा : 9- मार्च-2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

असली-नकली राजभर में हवा हो गया दिव्यांगों की पेंशन का मुद्दा

दिव्यांगजन की पेंशन में बढ़ोतरी का मुद्दा बृहस्पतिवार को विधानसभा में असली-नकली राजभर की लड़ाई में हवा हो गया।

28 फरवरी 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

कन्नौज

शुक्रवार, 28 फरवरी 2020

चौकी इंचार्ज को रौंदने का प्रयास

छिबरामऊ। एक कार को क्षतिग्रस्त करने के बाद मोहम्मदाबाद की तरफ जा रहे शव वाहन को करनौली चौकी इंचार्ज ने रोकने का प्रयास किया तो चालक ने वाहन को रोकने के बजाय उनके ऊपर चढ़ाने का प्रयास किया। चौकी इंचार्ज बाल-बाल बच गए। चौकी इंचार्ज ने प्राइवेट वाहन से शव वाहन का पीछा किया। चालक वाहन लेकर भाग गया। अभी तहरीर नहीं दी गई है।
मंगलवार देर रात करनौली चौकी इंचार्ज श्यामपाल सिंह को कोतवाली से सूचना दी गई कि शव वाहन ताजपुर रोड पर खड़ी इंडिगो कार को टक्कर मारकर मोहम्मदाबाद की तरफ भाग रहा है। चौकी इंचार्ज श्यामपाल सिंह ने बताया कि शव वाहन को रोकने के लिए वह सिपाहियों के साथ सड़क पर आ गए। सामने से आ रहे शव वाहन को उन्होंने रुकने के लिए इशारा किया। चालक ने वाहन को रोकने की बजाय उन पर चढ़ाने का प्रयास किया। उन्होंने पीछे हटकर जान बचाई। इसके बाद चालक शव वाहन को लेकर भाग निकला। उन्होंने निजी वाहन से शव वाहन का पीछा किया। चालक ओझल हो गया। शव वाहन नगर पंचायत मोहम्मदाबाद का बताया गया है। कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक हरीशंकर ने बताया कि उन्हें मामले की जानकारी नहीं दी गई है। जानकारी मिलेगी तो कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

दहेज हत्या में पति समेत चार को सात-सात साल की कैद

कन्नौज। दहेज हत्या के मामले में कोर्ट ने पति समेत उसके माता-पिता और भाई को सात-सात साल की सजा सुनाई है। सभी पर अर्थदंड भी लगाया गया है।
तालग्राम थाने के गांव रसूलपुर निवासी हरिश्चंद्र ने 12 जून 2013 को बहन रमा देवी की शादी गुरसहायगंज के रसूलपुर निवासी दिलीप कठेरिया के साथ की थी। शादी में दस हजार रुपये और बकरी भी दी थी। इसके बाद भी दिलीप और परिवार के लोग दहेज की मांग कर रहे थे। मांग पूरी न होने पर छह नवंबर 2017 को दिलीप ने पिता विजय पाल, मां गीता देवी और भाई नीलू के साथ रमा देवी की हत्या कर दी। शव को बोरे में भरकर ईशन नदी में फेंक दिया। पुलिस ने पांच दिन बाद नदी से रमा देवी का शव बरामद किया था। इसके बाद हरिश्चंद्र ने चारों के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कराया था। बुधवार को अपर सत्र न्यायाधीश कक्ष संख्या एक रामबरन सरोज ने मामले की सुनवाई की। हत्या करने के साक्ष्य मिलने पर सात-सात साल की सजा सुनाई है। शासकीय अधिवक्ता तरुण चंद्रा ने बताया कि सभी आरोपियों पर सात-सात हजार का जुर्माना भी लगाया गया है।
... और पढ़ें

कन्नौज: मारपीट की शिकायत की जांच करने पहुंचे चौकी प्रभारी और सिपाही को आरोपियों ने पीटा, वर्दी फाड़ी

बेहतर एक्सपोर्ट साधन से ही वैश्विक स्तर पर व्यापार संभव

कन्नौज। इत्र और सुगंधीय तेलों के साथ हर्बल उत्पादों को महानगरों और विदेशों तक पहुंचाने के लिए व्यापारियों को प्रशिक्षण दिया गया। व्यापारियों को उत्पादों के सुरक्षित एक्सपोर्ट के तरीके बताए गए।
एफएफडीसी में एमएसएमई विकास संस्थान कानपुर, फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट आर्गेनाइजेशन कानपुर के सहयोग से एफएफडीसी में गुरुवार को इत्र, सुगंधीय तेल और हर्बल प्रोडक्ट बनाने वाले व्यापारियों को एक्सपोर्ट का प्रशिक्षण दिया गया। एमएसएमई-विकास संस्थान कानपुर के सहायक निदेशक राजेश कुमार ने कहा कि अपने व्यापार को वैश्विक पहचान के लिए अधिक उत्पादन करें। बड़े पैमाने पर उत्पादन करने के बाद ही प्रोडक्ट को बाहर भेजने से मुनाफा होता है।
फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट आर्गेनाइजेशन कानपुर के समन्वयक आलोक श्रीवास्तव ने कहा कि संगठन की ओर से प्रोडक्ट महानगरों और विदेशों तक भेजने की सुविधाएं दी जाएंगी। अतर एवं परफ्यूमर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष प्रदीप कपूर ने कहा कि शहर का मुख्य व्यापार इत्र है। विदेश और महानगरों तक माल के एक्सपोर्ट के उचित साधन न होने से व्यापार सुस्त होता जा रहा है। एफएफडीसी के प्रधान निदेशक शक्ति विनय शुक्ला ने कहा कि जल्द ही देश के अंतरराष्ट्रीय ट्रांसपोर्ट यूनियन के पदाधिकारियों से संपर्क किया जाएगा। इससे कि सुरक्षित और कम समय में माल विदेशों और देश भेजा जा सके।
... और पढ़ें
एफएफडीसी में प्रशिक्षण लेते इत्र व्यापारी। एफएफडीसी में प्रशिक्षण लेते इत्र व्यापारी।

एंबुलेंस कर्मचारियों ने दिया 36 घंटे का अल्टीमेटम

तिर्वा (कन्नौज)। एंबुलेंस कर्मचारी संघ ने मांगें पूरी न होने पर गुरुवार को राजकीय मेडिकल कालेज में धरना-प्रदर्शन किया। 36 घंटे में मांगों पर सुनवाई न होने पर कार्य बहिष्कार का अल्टीमेटम दिया गया।
राजकीय मेडिकल कालेज में एंबुलेंस कर्मचारी संघ ने धरना-प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने कहा कि जिस कंपनी की तरफ से उन्हें स्वास्थ्य सेवाओं में लगाया गया, वह महा घोटाला कर रही है। उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो 36 घंटे बाद सभी कर्मचारी एंबुलेंस का चक्का जाम कर हड़ताल शुरू कर देंगे। जिलाध्यक्ष राहुल सिंह ने बताया कि 23 सितंबर 2019 को श्रमायुक्त से सात बिंदुओं पर समझौता किया गया था। तब कहा गया था कि उनकी मांगें जल्द मान ली जाएंगी। पांच महीने बाद भी मांगें नहीं मानी गईं। उन्होंने बताया कि समझौते में तय हुआ था कि शासन से निर्धारित न्यूनतम वेतन श्रेणीवार दिया जाएगा। हर छह महीने में महंगाई भत्ते का भुगतान किया जाएगा। वेतन में कटौती नहीं की जाएगी। जिन श्रमिकों की सेवा समाप्त की गई, उनकी सेवा बहाल की जाएगी। इसके साथ कई और मांगे थीं। इन पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।
... और पढ़ें

वैन और ट्रैक्टर भिड़ंत में एक की मौत, दो गंभीर

कन्नौज। जीटी रोड पर तेज रफ्तार वैन और ट्रैक्टर की भिड़ंत हो गई। हादसे में वैन चालक की मौत हो गई। दो साथी गंभीर रूप से घायल हो गए। इन्हें जिला अस्पताल से कानपुर रेफर कर दिया गया।
कानपुर नगर के बिल्हौर कस्बे के किदवई नगर निवासी फैज (21) पुत्र रियाज निजी कंपनियों से ठेका लेकर दीवारों पर पेंटिंग कराते थे। बुधवार रात करीब एक बजे वह साथी मो. ऐजाज (31) पुत्र हयात निवासी राजीव नगर बिल्हौर और सुजात हुसैन (30) पुत्र पेशवा निवासी मकनपुर बिल्हौर के साथ वैन से फर्रुखाबाद पेंटिंग कराने जा रहे थे। सदर कोतवाली की जलालपुर पनवारा चौकी के पास कालू मामा मजार के सामने जीटी रोड पर सामने से आ रहे ट्रैक्टर से वैन की टक्कर हो गई।
हादसे में वैन चालक फैज की मौत हो गई। साथी मो. ऐजाज और सुजात हुसैन गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर पहुंचे उप निरीक्षक सुरेश कुमार ने शव को कब्जे में लेकर घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। चिकित्सकों ने दोनों की हालत नाजुक देखते हुए कानपुर रेफर कर दिया। हादसे की जानकारी पर मृतक के परिवार में कोहराम मच गया। वहीं हादसे के बाद चालक ट्रैक्टर लेकर भाग गया।
... और पढ़ें

ससुरालीजनों ने विवाहिता को पीटकर किया मरणासन्न

छिबरामऊ(कन्नौज)। इलाके के बहबलपुर में ससुरालीजनों ने विवाहिता से मारपीट कर मरणासन्न कर दिया। मामले की जानकारी पर मायके पक्ष के लोग पहुंच गए। उन्होंने विवाहिता को गंभीर हालत में सौ शय्या अस्पताल में भर्ती कराया।
फर्रुखाबाद निवासी धर्मेंद्र सिंह पुत्र महेंद्र सिंह ने बताया कि एक साल पहले बहन अनीता की शादी बहबलपुर निवासी मान सिंह के साथ की थी। शादी के बाद ससुरालीजन अतिरिक्त दहेज में बाइक व एक लाख रुपये की मांग करने लगे। मांग पूरी न होने पर ससुरालीजनों ने शारीरिक व मानसिक उत्पीड़न शुरू कर दिया। आरोप है कि गुरुवार को अनीता के पति मान सिंह, जेठ फुल्ला उर्फ करन सिंह, अनार सिंह, ससुर बिंदुआ व सास ने उससे पीटकर मरणासन्न कर दिया। परिजनों ने गंभीर हालत में सौ शय्या अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस को तहरीर दी गई है।
इस संबंध में निरीक्षक हरीशंकर ने बताया कि विवाहिता को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा गया है। मामले की रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

फंदे पर लटका मिला टेलर का शव

सौ शय्या अस्पताल में भर्ती विवाहिता।
सौरिख(कन्नौज)। क्षेत्र के ग्राम उरदा नगरिया में टेलर का शव फांसी के फंदे पर लटका मिला। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। तब तक परिजनों ने शव को फंदे से नीचे उतार लिया था। अब पुलिस व फोरेंसिक टीम जांच में जुटी हुई है।
गुरुवार को उरदा नगरिया निवासी रानू शाक्य (35) पुत्र राधेश्याम का शव कमरे में छत के कुंडे में दुपट्टे के फंदे से लटका मिला। वारदात के समय रानू की पत्नी देवकी अपने बच्चों के साथ सास रेशमा देवी के पास गई थीं। लौटने पर पति को फांसी के फंदे पर लटका देखा तो पैरों तले जमीन खिसक गई। पत्नी ने पति को बचाने का प्रयास किया। इसके साथ ही शोर मचा दिया। परिजन कमरे में पहुंचे। तब तक मौत हो चुकी थी। जानकारी पर थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह व फोरेंसिक टीम प्रभारी रवींद्र श्रीवास्तव मौके पर पहुंच गए। फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाए। थानाध्यक्ष ने वारदात के संबंध में परिजनों से जानकारी ली। युवक सौरिख में किराये की दुकान में टेलरिंग का कार्य करता था।
पत्नी ने पुलिस को दी अटैक से मौत की सूचना
टेलर रानू शाक्य की मौत के बाद पुलिस मौके पर पहुंची तो पत्नी देवकी ने पुलिस को हार्ट अटैक से मौत की सूचना दी। मृतक के बड़े भाई सुखदेव ने बताया कि तीन दिन पहले मृतक की पत्नी बिधूना जनपद औरैया में किराये के मकान में रह रहे अपने जीजा विमलेश के यहां गई थीं। वापस आने पर इसी बात को लेकर पति और पत्नी में झगड़ा हुआ। इसके बाद मारपीट हो गई। इसके बाद पत्नी सास के पास चली गई। वापस आई तो पति का शव फांसी के फंदे पर झूलता मिला।
... और पढ़ें

मंडलीय टीम को खैरनगर में अधूरे मिले शौचालय, जताई नाराजगी

कन्नौज। मंडलीय टीम ने गुरुवार को जिले के दो ब्लाकों के छह गांवों का औचक निरीक्षण किया। खैरनगर में अधूरे शौचालय मिलने पर नाराजगी जताई। अधूरे शौचालयों का कार्य पूरा कराने और इनको प्रयोग में लाए जाने के आदेश दिए।
लखनऊ के उप निदेशक पंचायती राज एके सिंह ने टीम के साथ गांवों में बने शौचालय समेत अन्य विकास कार्यों की हकीकत परखी। छिबरामऊ ब्लाक की खुबरियापुर, असालताबाद व रनवीरपुर ग्राम पंचायत में शौचालय ठीक मिले। गांव के लोग शौचालय का प्रयोग करते मिले। इसके बाद टीम उमर्दा के शाहनगर, खानपुर व खैरनगर पहुंची। यहां शाहनगर व खानपुर में सब कुछ ठीक मिला। खैरनगर में अधूरे शौचालय देख उप निदेशक पंचायती राज का पारा चढ़ गया। उन्होंने अधीनस्थ अफसरों से जानकारी ली। वह संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। गांव में कई शौचालय अधूरे मिले। कई में सामान भरा था। यहां लोग शौचालय का प्रयोग नहीं कर रहे थे। मंडलीय टीम ने अफसरों से नाराजगी जताई। ग्रामीणों को जागरूक कर शौचालय का प्रयोग करने की नसीहत दी। इससे कि स्वच्छता अभियान को गति मिले सके।
इसके बाद मंडलीय टीम ने सचिवों की बैठक में ग्राम पंचायतों में अधूरे पड़े शौचालयों का कार्य जल्द पूरा करने के आदेश दिए। इसमें कई सचिवों ने दूसरी किस्त न मिलने की बात कही। अफसरों ने तुरंत ही दूसरी किस्त देकर निर्माण कार्य शत-प्रतिशत पूर्ण कराने के आदेश दिए। उप निदेशक पंचायती राज एके सिंह ने दोबारा औचक निरीक्षण में लापरवाही मिलने पर जिम्मेदारों पर कार्रवाई के लिए कहा है। इस दौरान जिला पंचायत राज अधिकारी जितेंद्र मिश्रा समेत कई विभागीय अफसर मौजूद रहे।
... और पढ़ें

पुरातत्व संग्रहालय में आज से शुरू होगा अंतरराष्ट्रीय शतरंज सेमिनार

कन्नौज। विश्व में खेले जाने वाले शतरंज के ईजाद की खोज करने वाली जर्मनी की संस्था चैरिटी ट्रस्ट चेस हिस्ट्रोरिकल रिसर्च के संस्थापक और प्रतिनिधियों का संग्रहालय में स्वागत किया गया। संस्था के संस्थापक ने अंतरराष्ट्रीय सेमिनार की तैयारियों का जायजा लिया।
विश्वस्तरीय शतरंज के ईजाद को लेकर चैरिटी ट्रस्ट चेस हिस्ट्रोरिकल रिसर्च संस्था जर्मनी के संस्थापक मैनफ्रेड एजे इडर ने 50 देशों में प्रतिनिधियों की मदद से 20 साल पहले शोध किया था। 2019 में कन्नौज के राजा हर्षवर्धन के इस खेल की शुरुआत करने के साक्ष्य सामने आए थे। इससे उन्होंने कन्नौज में पुरातत्व विभाग की मदद से 27 और 28 फरवरी को अंतरराष्ट्रीय शतरंज सेमिनार का आयोजन रखा है। बुधवार को नई दिल्ली से मैनफ्रेड एजे इडर छह प्रतिनिधियों के साथ शहर के आशा होटल पहुंचे। इसके बाद भारतीय पुरातत्व संग्रहालय गए। यहां संग्रहालय अध्यक्ष दीपक कुमार ने स्वागत किया।
इडर ने सेमिनार को लेकर तैयारियों का जायजा लिया। संग्रहालय अध्यक्ष दीपक कुमार ने बताया कि सुबह 11 बजे से शाम पांच बजे तक संग्रहालय के हाल में सेमिनार होगा। शुक्रवार को दोपहर 12 बजे सेमिनार के समापन के बाद संस्था के लोग राजा जयचंद के किले, बालापीर, मखदूम जहानिया का भ्रमण करेंगे। संस्था के संस्थापक एजे इडर ने बताया कि उन्होंने क ड़ी मेहनत से शतरंज पर शोध किया है। सातवीं सदी में कन्नौज के राजा हर्षवर्धन ने इसकी शुरुआत की थी।
पुस्तक का होगा विमोचन
अंतरराष्ट्रीय शतरंज सेमिनार के मौके पर तिर्वा में रहने वाले इतिहासकार सुदीप की पुस्तक भारतीय कला में शुंग कालीन मूर्तिकला का पुरा वैभव का विमोचन भी होगा। पुस्तक में शुंग कालीन मूर्तिकला के बारे में जानकारी दी गई है। इतिहासकार सुदीप ने बताया कि शुक्रवार को डीएवी कालेज के डॉ. अविनाश मिश्रा के साथ चैरिटी ट्रस्ट चेस हिस्ट्रोरिकल रिसर्च संस्था जर्मनी के संस्थापक और प्रतिनिधि पुस्तक का विमोचन करेंगे।
सांसद के साथ डीएम और एसपी भी करेंगे शिरकत
सेमिनार में शहर के इतिहासकारों, विद्वानों के साथ सांसद सुब्रत पाठक, डीएम राकेश कुमार मिश्रा और एसपी अमरेंद्र प्रसाद भाग लेंगे। सबसे पहले संस्था के संस्थापक शतरंज पर हुए शोध के बारे में जानकारी देंगे। सी पांडुरंगा भट्ट अंग्रेजी और जर्मन भाषा का हिंदी में अनुवाद करेंगे।
शोधकर्ताओं से चर्चा के लिए दिया आमंत्रण
चैरिटी ट्रस्ट चेस हिस्ट्रोरिकल रिसर्च संस्था जर्मनी के संस्थापक ने शोधकर्ताओं को आमंत्रित किया है। उन्होंने बताया कि अगर किसी ने कोई शोध किया है तो वह चर्चा के लिए आमंत्रित है।
... और पढ़ें

कन्नौज में शतरंज के ईजाद पर लगी मुहर

कन्नौज। विश्व में खेले जाने वाले शतरंज के कन्नौज में ईजाद होने पर मुहर लग गई। 20 साल तक शोध करने वाली जर्मनी की संस्था चैरिटी ट्रस्ट चेस हिस्ट्रोरिकल रिसर्च के संस्थापक और प्रतिनिधियों ने ऐतिहासिक नगरी में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सेमिनार में कन्नौज को दुनिया को शतरंज देने का तमगा दिया है। इस दौरान साक्ष्य प्रस्तुत कर बताया गया कि ईरान में चतुरंगा शतरंज के रूप में लोकप्रिय हुआ।
जर्मनी की चैरिटी ट्रस्ट चेस हिस्ट्रोरिकल रिसर्च संस्था के संस्थापक मैनफ्रेड एजे इडर करीब 20 साल से 50 देशों में प्रतिनिधियों की मदद से शतरंज के ईजाद को लेकर शोध कर रहे थे। 2019 में कन्नौज के राजा हर्षवर्धन के इस खेल की शुरुआत करने के साक्ष्य सामने आए थे। दुनिया के सामने शतरंज की सच्चाई लाने के लिए 27 फरवरी को शहर के भारतीय पुरातत्व संग्रहालय में डॉ. फ्रैंक सेवेकैंप (जर्मनी), डॉ. एल्के रोगर्स डाटर (स्वीडन) डॉ. रेनेट मैय्यद (जर्मनी) डॉ. लियंडर ए फेलर (जर्मनी), डॉ. पीटर उल्लरिच (कनाडा) और भारत के सी. पांडुरंगा भट्ट (फारमर कोआर्डिनेटर मैनेजमेंट सेंटर फार ह्यूमन, वैल्यूज इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट कोलकाता) ने अंतरराष्ट्रीय सेमिनार में भाग लिया। यहां बताया गया कि शतरंज का ईजाद सातवीं सदी में कन्नौज के प्रतापी राजा हर्षवर्धन ने चतुरंगा के रूप में किया था। उन्होंने अपनी युद्धनीति से विदेशी शासकों को पराजित किया था। भारत के बाद यह खेल ईरान में मुगलों से पहुंचा। यहां युद्धनीति के चलते शासकों में बेहद लोकप्रिय हुआ। ईरान में चतुरंगा से इसका नाम शतरंज हुआ। अन्य देशों में इसे चेस के रूप में जाना गया।
संग्रहालय में रखे अश्वरोही, गजारोही, पैदल सिपाही और राजा के प्यादे साक्ष्य के तौर पर दिखाए गए। मैनफ्रेड एजे इडर ने द कन्नौज पुस्तक दिखाई। इसमें उन्होंने स्वयं राजा हर्षवर्धन से जुड़ी जानकारी और उनके चतुरंगा का चित्रों के साथ वर्णन किया। उन्होंने बताया कि 1996 में उन्हें कन्नौज में शतरंज के ईजाद के तथ्य मिले थे। इसके बाद उन्होंने शोध शुरू किया था। मौजूद समय करीब 70 देशों में उनकी पुस्तक द कन्नौज प्रचलित हो चुकी है। इस दौरान संग्रहालय अध्यक्ष दीपक कुमार, एनसी टंडन, प्रोफेसर अविनाश मिश्रा विभागाध्यक्ष भारतीय इतिहास पुरातत्व एवं सांस्कृतिक विभाग डीएवी कालेज, जिला होमगार्ड कमांडेंट चंदन सिंह, महिला थाना प्रभारी पूनम अवस्थी मौजूद रहीं।
वैज्ञानिकता के साथ धार्मिक मान्यता पर शोध जरूरी: एजे इडर
कन्नौज। भारत ऐतिहासिक, धार्मिक मान्यता की नींव पर खड़ा है। भारतीय धरती पर किसी भी शोध के परिणाम को समझाना चुनौती होती है। इससे शतरंज के शोध में उनके सामने कठिनाई आई। यह बात मैनफ्रेड एजे इडर ने अपने संबोधन में कही। एजे इडर ने कहा कि 1996 से उन्होंने कन्नौज में शतरंज के ईजाद को लेकर शोध किया था। कन्नौज के संग्रहालय में शतरंज के प्यादे पुरावशेष (मृण मूर्तियां) अश्वरोही, गजारोही, पैदल सिपाही के मृदा परीक्षण में सातवीं सदी के होने परिणाम सामने आए हैं। यह परिणाम शोध के लिए काफी नहीं थे। उन्होंने पुरातन प्रमाण, साहित्य, पीढ़ी और धार्मिक ग्रंथों के आधार पर शोध शुरू किया। कन्नौज का इतिहास खंगालने पर महा कवि बाणभट्ट की कादंबरी रचना में राजा हर्षवर्धन के चतुरंगा खेलने का जिक्र मिला। इसके बाद इतिहास में मौखरी वंश के कई राजाओं के पीढ़ी दर-पीढ़ी चतुरंगा खेलने के साक्ष्य सामने आए। कई तरह के शोध के बाद शतरंज के ईजाद की पुष्टि की गई। एजे इडर ने बताया कि भारतीयों को कोई भी परिणाम समझाने के लिए वैज्ञानिक परिणामों के साथ-साथ धार्मिक मान्यता भी बतानी पड़ती है।
महाभारत के शकुनी का भी किया जिक्र
एजे इडर ने महाभारत के शकुनी का भी जिक्र किया। उन्होंने बताया कि कुछ लोग शतरंज के ईजाद को शकुनी से भी जोड़ते हैं। शकुनी चौपड़ खेलता था। इसे जुआ की तरह खेला जाता है। शतरंज को बुद्धि लगाकर खेला जाता है।
अभिनव विद्यालय के बच्चों ने बनाई रंगोली
अंतरराष्ट्रीय शतरंज सेमिनार के दौरान अभिनव मॉडल स्कूल गंगधरापुर के बच्चों ने संग्रहालय में रंगोली बनाई। विदेशी मेहमानों ने बच्चों की प्रतिभा की प्रशंसा की। इसके बाद बच्चों के साथ मेहमानों ने चाय और नाश्ता कर भारत के इतिहास पर चर्चा की। सेमिनार में जिले के अधिकारी और जनप्रतिनिधि नहीं पहुंचे। इससे सेमिनार के पहले दिन हाल की अधिकांश कुर्सियां खाली रहीं।
प्रोजेक्टर पर पुरातन संपदाओं की बदहाल सूरत दिखाई
एजे इडर ने कन्नौज को भारत का गौरवशाली ऐतिहासिक शहर बताया। उन्होंने कहा कि कन्नौज आकर उन्हें यहां का मूल निवासी होने का अहसास हुआ। उन्होंने कन्नौज के किले, आल्हा-ऊदल समेत कई ऐतिहासिक भवनों की बदहाल सूरत देखकर अफसोस जताया।
... और पढ़ें

115 किमी की रफ्तार से फर्रुखाबाद से कन्नौज के बीच दौड़ी इलेक्ट्रिक ट्रेन

कन्नौज। पूर्वोत्तर रेलवे के रेल संरक्षा आयुक्त व इज्जतनगर बरेली के डीआरएम ने बुधवार को विशेष गाड़ी से विद्युतीकरण का निरीक्षण करने के साथ गति परीक्षण का ट्रायल लिया। फर्रुखाबाद से कन्नौज तक इलेक्ट्रिक ट्रेन ने 115 की स्पीड में 58 किलोमीटर का सफर 40 मिनट में तय किया। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि ट्रायल सफल रहा है। सीआरएस की रिपोर्ट के बाद रेलवे बोर्ड इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाने की कार्ययोजना तैयार करेगा।
पूर्वोत्तर रेलवे के रेल संरक्षा आयुक्त मो. लतीफ खान व डीआरएम सुबह करीब साढ़े दस बजे सड़क मार्ग से कन्नौज रेलवे स्टेशन पहुंचे। यहां से विशेष निरीक्षण गाड़ी से फर्रुखाबाद के लिए रवाना हुए। रास्ते में हाई वोल्टेज, अर्थिंग, तार के खिंचाव, ब्रैकेट, इंसूलेटर सहित अन्य बारीकियों को प्रमुखता से देखा। इरकॉन कंपनी के अधिकारियों को सुधार के निर्देश दिए। स्पीड ट्रायल के बाद कन्नौज रेलवे स्टेशन पहुंचने पर ब्रेक डाउन कराकर देखा। इस मौके पर पूर्वोत्तर रेलवे मुख्यालय गोरखपुर से मुख्य विद्युत वितरण इंजीनियर आलोक कुमार शुक्ला, मुख्य इंजीनियर व निर्माण आशुतोष मिश्रा, वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजीनियर/ टीआरडी सतेंद्र सिंह, मुख्य महाप्रबंधक (इरकान) हर्ष खरे सहित इज्जतनगर मंडल शाखा अधिकारी, डीआरएम पीआरओ राजेंद्र सिंह उपस्थित रहे।
432.99 करोड़ की मिली थी स्वीकृति
मथुरा से कल्याणपुर तक विद्युतीकरण का कार्य कराया गया है। मथुरा-कासगंज-कल्याणपुर रेल खंड 338 किलोमीटर है। विद्युतीकरण के लिए वर्ष 2016-17 के बजट में 432.99 करोड़ की स्वीकृति मिली थी। इस कार्य को मैसर्स इरकान इंटरनेशनल लिमिटेड को सौंपा गया था।
इन रेल खंडों का हो चुका है सीआरएस निरीक्षण
रेल संरक्षा आयुक्त ने 29 मार्च 2019 को मथुरा जंक्शन से मेंडू 48 किलोमीटर, 14 मई 2019 को मेंडू से दरियावगंज 108 किलोमीटर, दरियावगंज से फर्रुखाबाद 56 किलोमीटर व 20 अगस्त को 2019 को कन्नौज-कल्याणपुर 68 किमी रेल खंड का निरीक्षण किया है।
नेकपुर चौरासी पुल पर कॉशन से गुजरेंगी गाड़ियां
निरीक्षण के बाद कन्नौज पहुंचे सीआरएस ने पत्रकारों के जवाब में बताया कि ट्रायल सफल रहा है। कन्नौज-फर्रुखाबाद के बीच कुछ जगहों पर सुधार की जरूरत है। इसके लिए निर्देश दिए गए हैं। नेकपुर चौरासी के समीप पुल नीचा होने से इलेक्ट्रिक ट्रेन कॉशन देकर निकाली जा सकेंगी। दूसरा कोई विकल्प नहीं है।
रेलवे बोर्ड तय करेगा मेमू ट्रेनों का संचालन
डीआरएम दिनेश सिंह ने बताया कि सीआरएस का ट्रायल सफल रहा है। ट्रेन को 115 की स्पीड से दौड़ाकर देखा गया। सीआरएस की रिपोर्ट जल्द मिल जाएगी। इसके बाद सुधार कराए जाएंगे। सीआरएस को दोबारा रिपोर्ट भेजी जाएगी। यह रिपोर्ट सीआरएस की ओर से रेलवे बोर्ड को जाएगी। इसके बाद बोर्ड आगे की कार्ययोजना तय करेगा। उन्होंने कहा कि रेलवे का प्रयास है कि रूट पर जल्द इलेक्ट्रिक ट्रेनें दौड़ सकें। मेमू चलाए जाने के बाबत कहा कि यह रेलवे बोर्ड तय करेगा।
... और पढ़ें

जांच करने पहुंचे चौकी प्रभारी और सिपाही को पीटा

कन्नौज। मारपीट की शिकायत पर जांच करने पहुंचे चौकी प्रभारी और सिपाही को आरोपियों ने घेरकर पीट दिया। पिटाई से सिपाही और चौकी प्रभारी घायल हो गए। चौकी प्रभारी ने कोतवाली में सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। घटना मंगलवार रात की है।
मंगलवार शाम करीब सात बजे सदर कोतवाली की कुसुमखोर चौकी के गांव लालपुर निवासी मनोज उर्फ पप्पू और मनमोहन ने किसी बात को लेकर छोटे भाई सुनील कुमार को पीट दिया। इसकी शिकायत पर चौकी प्रभारी अरिमर्दन सिंह रात करीब नौ बजे सिपाही गौरव कुमार के साथ मामले की जांच करने पहुंचे। चौकी प्रभारी अरिमर्दन सिंह के मुताबिक मौके पर मनोज उर्फ पप्पू पुलिस टीम से अभद्रता करने लगा। इसका विरोध करने पर मनोज उर्फ पप्पू, मनमोहन उर्फ गुड्डू पुत्र राम औतार, राम औतार पुत्र भूरालाल, रेखा देवी पत्नी अनिल, खुशबू, गोल्डी पुत्री मनोज और विनीता पुत्री मनमोहन ने घेरकर पकड़ लिया। मारपीट कर वर्दी फाड़ दी। इससे दोनों लोग घायल हो गए। किसी तरह जान बचाई।
बुधवार सुबह चौकी प्रभारी अरिमर्दन सिंह ने आरोपियों के खिलाफ बलवा और सरकारी कार्य में बाधा डालने की रिपोट दर्ज कराई है। कोतवाल नागेंद्र कुमार पाठक ने बताया कि महिलाओं ने पुलिस टीम के साथ धक्का-मुक्की की। इससे सिपाही और चौकी प्रभारी चुटहिल हो गए। दोनों का मेडिकल परीक्षण कराया गया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us