नौकरी के नाम पर नेताजी ने बुलाकर किया गैंगरेप

अलीगढ़/ब्यूरो Updated Mon, 25 Jun 2012 12:00 PM IST
on-the-name-of-job-netaji-gangraped-a-girl
ख़बर सुनें
नौकरी दिलाने के नाम पर उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जनपद में टप्पल निवासी एक स्नातक युवती के साथ गैंगरेप का सनसनी खेज मामला प्रकाश में आया है। युवती ने बसपा के जोनल कोआर्डिनेटर सूरज सिंह और उनके भाई समेत चार लोगों पर आरोप लगाया है। इस मामले में बन्ना देवी पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।
मूल रूप से टप्पल के पल्लेदार मोहल्ला के रहने वाले बसपा नेता सूरज सिंह इन दिनों टाइगर लॉक फैक्ट्री के पास रहते हैं। आरोप है कि 19 जून की सुबह करीब दस बजे सूरज सिंह के छोटे भाई फतेह सिंह ने पड़ोस में रहने वाली बीए की 20 वर्षीय छात्रा शिल्पा (नाम काल्पनिक) से नौकरी दिलवाने की बात कही।

चूंकि शिल्पा जानती थी कि फतेह सिंह के भाई बड़े नेता हैं इसलिए वह उसकी बातों में आ गई और घर से अपने प्रपत्र लेकर चली आई। टप्पल से बस में सवार होने के कुछ देर बाद उसे रास्ते में उतार लिया और फिर बाइक से सूरज सिंह के घर लाया गया। युवती के अनुसार उस वक्त घर में सूरज सिंह के अलावा तीन अन्य लोग भी मौजूद थे।

इसी बीच फतेह सिंह ने उसे जूस पिलाया और वह बेहोश हो गई। इसके बाद करीब चार बजे होश आने पर खून से सने कपड़े और खराब हालत से पता चला कि साथ रेप हुआ है। इस दौरान घर में सूरज सिंह की पत्नी मौजूद थी। इस पर तत्काल युवती को कपड़े बदलवाकर चर्च के पास एक नर्सिंग होम में छोड़कर चले गए। मगर गुस्से में युवती थोड़ी ही देर में वापस सूरज सिंह के घर पहुंच गई। इसके बाद रात भर उसे वहीं रखकर समझाया और बात न मानने पर जान से हाथ धोने की धमकी दी गई।

इसके बाद 20 जून की दुपहर सूरज सिंह का एक अन्य भाई युवती को खेरेश्वरधाम के पास एक ढाबे पर छोड़ आया और पुलिस को भी खबर दे दी। तब तक युवती के परिजन टप्पल पुलिस को गुमशुदगी दे चुके थे। सूचना मिलते ही टप्पल पुलिस ने लोधा पुलिस की मदद से युवती को थाने में बुलवाया और परिजनों के साथ घर भेज दिया।

घर पहुंचने के बाद परिवारवालों के पूछने पर युवती टालती रही मगर 21 जून को बुआ के पास दादरी जाने पर उसे आपबीती सुना दी। यह सुनते ही परिवार के पैरों तले जमीन खिसक गई और परिजन रविवार को युवती को लेकर एसएसपी आवास पहुंचे। वहां एसपीआरए व एसपी सिटी की मौजूदगी में युवती के बयानों के आधार पर बन्नादेवी थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया और युवती को चिकित्सकीय परीक्षण के लिए भेज दिया। फिलहाल दो नामजद व दो अज्ञात के खिलाफ धारा 376, 328, 506 के तहत महिला थाने पर निल में दर्ज मुकदमा बन्नादेवी स्थानांतरित कर दिया गया है।

रेप की कीमत दो चूड़ी और कपड़े
युवती की मानें तो रेप के बाद जब उसे होश आया तो घर में मौजूद सूरज सिंह की पत्नी उसे समझाने लगी कि अब जो हुआ उसे भूल जाए। इसके बदले उसने अपने हाथ से दो पीली धातु की चूड़ियां उतारकर उसके हाथों में थमा दीं और चार जोड़ी नए कपड़े भी दिए। इसके बाद उसे नर्सिंग होम लाया गया। मगर जब सभी लोग उसे नर्सिंग होम छोड़कर भाग आए तो युवती वहां एक नर्स को सूरज की पत्नी से मिले कपड़े व अपने प्रपत्र सौंप आई और कहा कि किसी को देना मत। युवती से मिली इस सामग्री को नर्स अपने घर ले गई थी। जिसे रविवार को पुलिस ने बरामद किया है।

पहले भी लगे हैं सूरज सिंह पर गंभीर आरोप

बसपा शासनकाल में जिलाध्यक्ष, जिला प्रभारी, बामसेफ जिलाध्यक्ष और अब जोनल कोआर्डिनेटर जैसे महत्वपूर्ण पदों पर रहे सूरज सिंह पर गंभीर आरोप पहले भी लगते रहे हैं। सूरज पर 2002 में नुमाइश मैदान में एक इंस्पेक्टर को पीटने व बाद में जेडी को बंधक बनाने तक के आरोप लगे थे। हालांकि वे मामले बाद में रफा-दफा हुए। इस प्रकरण में सूरज सिंह से बातचीत करने की काफी कोशिश की गई, लेकिन उनका फोन रिसीव नहीं हुआ।

यह कार्रवाई राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित है। सूरज सिंह बाहर गए हुए हैं उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। इस मामले में एसएसपी से संगठन के एक प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात कर विरोध दर्ज कराया है। शीर्ष नेतृत्व को इस मामले से अवगत कराया जाएगा। वहां से निर्देश मिलने के बाद अगला कदम उठाया जाएगा ।
गजराज विमल, जिलाध्यक्ष, बसपा

- युवती के बयान व आरोपों के आधार पर फिलहाल बसपा नेता सहित चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। युवती का चिकित्सकीय परीक्षण कराया गया है, चिकित्सकीय रिपोर्ट व जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। आरोपियों की गिरफ्तारी आदि मसले पर भी कार्रवाई की जाएगी। - दयानंद मिश्रा एसपी सिटी

Recommended

Spotlight

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree