विज्ञापन

CTET के लिए ऑनलाइन हो जाएगा प्रमाणपत्रों का सत्यापन

ब्यूरो/ अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 23 Dec 2015 05:21 AM IST
verification of CTET certificates will be online
विज्ञापन
ख़बर सुनें
देश भर में अब स्कूल अपने यहां शिक्षकों की भर्ती के लिए उनके प्रमाणपत्र का सत्यापन ऑनलाइन कर सकेंगे। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (सीटीईटी) के लिए जारी होने वाले प्रमाणपत्र के लिए ऑनलाइन सत्यापन प्रणाली शुरू की है। यह प्रणाली शुरू होने से स्कूल भर्ती के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवार का सारा सत्यापित रिकॉर्ड देख सकेंगे। स्कूलों को मैन्युअल वेरिफिकेशन कराने की आवश्यकता नहीं रहेगी। यह व्यवस्था फरवरी 2015 के बाद जारी होने वाले प्रमाणपत्रों पर लागू होगी।
विज्ञापन
सीटीईटी परीक्षा पास करने के बाद सीबीएसई द्वारा प्रमाण पत्र जारी किया जाता है। अब सीबीएसई ने हाईटेक होते हुए इस प्रमाण पत्र को भी हाईटेक बना दिया है। अब इस प्रमाणपत्र दायें कोने के शीर्ष पर एक ग्लोबल डॉक्यूमेंट टाइप आइडेंटीफॉयर के रूप में जीएस 1 क्यू आर कोड प्रिंट करेगी।

इस जीएस 1 क्यू आर का प्रमाणपत्र पर होने से यह लाभ होगा कि जब इसे मोबाइल क्यू आर कोड स्कैनर से स्कैन किया जाएगा। वैसे ही इस प्रमाणपत्र से संबंधित जानकारी उपलब्ध हो जाएगी। सीबीएसई अधिकारियों के मुताबिक इस क्यू आर कोड को स्कैन करते ही प्रमाणपत्र पर उपलब्ध उम्मीदवार का नाम, फोटोग्राफ, रोल नंबर, जारी करने की तिथि, प्राप्त किए गए अंकों का ब्योरा मोबाइल पर उपलब्ध हो जाएगा।

इस सुविधा का लाभ शैक्षणिक संस्थानों के साथ-साथ भर्ती एजेंसी भी ले सकती है। मैन्युअल वेरिफिकेशन की सुविधा केवल फरवरी 2015 से पहले जारी होने वाले प्रमाणपत्र पर ही लागू होगी। जबकि उसके बाद जारी होने वाले प्रमाणपत्रों के लिए ऑनलाइन सत्यापन ही मान्य होगी।

शैक्षणिक संस्थानों को अपने यहां शिक्षकों की भर्ती के लिए सीटीईटी प्रमाण पत्र के वेरिफिकेशन के लिए सर्वप्रथम मोबाइल पर क्यू आर कोड स्कैनर ऐप्लीकेशन को डाउनलोड करना होगा। इसके बाद प्रमाणपत्र पर मौजूद क्यू आर कोड को स्कैन करना होगा। क्यू आर कोड स्कैन करने के बाद एक लिंक उपलब्ध होगा जिस पर क्लिक करने पर प्रमाणपत्र की जानकारी देखी जा सकेगी।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

ओडीएफ घोषित 204 गांव सत्यापन में फेल

स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) का हाल, गांवों में शौचालय अधूरे मिले

18 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

KMP एक्सप्रेस वे से दिल्लीवालों को मिलेगी ये राहत

केएमपी एक्सप्रेस वे के शुरू होने के साथ ही ढेरों दिक्कतें खत्म हो जाएंगी। ये एक्सप्रेस वे दिल्ली के आसपास एक रिंग रोड की तरह काम करेगा। इसके खुलने से तकरीबन 50 हजार बड़ी गाड़ियों का ट्रैफिक कम होगा।

19 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree