विज्ञापन

असिस्टेंट प्रोफेसर बनना है तो पढ़ें नए नियम

ब्यूरो/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Tue, 14 Apr 2015 01:01 PM IST
punjab university going to change assistant professor recruitment rules
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पीयू कैंपस और एफिलिएटेड 190 कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति के नियमों में बदलाव करने का फैसला हुआ है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के तहत ही नियुक्ति प्रक्रिया में बदलाव किया जा रहा है। आगामी 20 अप्रैल को होनी वाली पीयू सिंडीकेट में इस प्रस्ताव पर मुहर लग सकती है।
विज्ञापन
सुप्रीम कोर्ट डबल बेंच जस्टिस टीएस ठाकुर और आरएफ नरीमन ने 16 मार्च को असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति के लिए पीएचडी धारकों को नेट से छूट देने के फैसले को गलत ठहराया है। बैंच ने पीएचडी के साथ नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (नेट) अनिवार्य करने का फैसला दिया है।

पीयू सीनेट ने 20 दिसंबर 2011 को ही 31 दिसंबर 2009 से पहले पीएचडी कर चुके या रजिस्टर्ड स्कॉलर को नेट से छूट देने का फैसला किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पीयू डीयूआई प्रो. एके भंडारी की अध्यक्षता में गठित कमेटी की 9 अप्रैल 2015 को महत्वपूर्ण बैठक हुई। कमेटी ने पीयू और कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के तहत करने का सुझाव दिया है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

इन प्रस्तावों पर भी लग सकती है मुहर

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

India News Archives

चाबहार परियोजना पर फिलहाल नहीं बहेगी नाराजगी की बयार  

ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध के कारण भारत के लिए कूटनीतिक दृष्टि से बेहद अहम चाबहार परियोजना पर फिलहाल कोई असर नहीं पड़ेगा।

18 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

19 सितंबर NEWS UPDATES : भागवत के बोल,‘मुस्लिमों के बिना हिंदुत्व नहीं’ समेत देखिए सारी खबरें

RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले, मुसलमानों के बिना हिंदुत्व अधूरा, जम्मू के सांबा में पाकिस्तान रेंजर्स ने जवान को अगवा कर की हत्या और राजस्थान में हर सीट पर EVM के साथ होगा VVPAT का इस्तेमाल समेत देखिए देश-दुनिया की सारी खबरें अमर उजाला टीवी पर।

19 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree