विज्ञापन

अब स्टूडेंट्स ऑनलाइन करेंगे एग्जाम की तैयारी, प्रोजेक्ट तैयार

ब्यूरो/अमर उजाला, कुरुक्षेत्र Updated Tue, 15 Mar 2016 09:21 AM IST
online exam preparation project by haryana education board
ख़बर सुनें
हरियाणा के सभी सरकारी और निजी स्कूलों के 6 से 10वीं कक्षा के विद्यार्थी अब ऑनलाइन एग्जाम तैयारी करेंगे। इसके लिए प्रोजेक्ट तैयार है।
विज्ञापन
विज्ञापन
इसके तहत दो विषयों का टेस्ट ऑनलाइन देना होगा। विद्यार्थियों की साइंस और मैथ्स जैसे विषयों में रुचि बढ़ाने, परीक्षा परिणाम बेहतर करने और उन्हें सीधे तौर पर सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग से जोड़ने के लिए यह प्रोजेक्ट तैयार किया गया है। इस प्रोजेक्ट का मकसद बच्चों में प्रतियेगिता की भावना पैदा करना भी है।

इस प्रोजेक्ट को प्रदेश में सबसे पहले कुरुक्षेत्र में खंड स्तर से लेकर जिला स्तर पर अमल में लाया जाएगा और इसके सकारात्मक परिणाम मिलने पर प्रदेश के अन्य जिलों में भी इसे विस्तार दिया जाएगा। इस प्रोजेक्ट को एक सप्ताह में अमलीजामा पहना दिया जाएगा।

छठी से 10वीं कक्षा के साईस व मैथ विषय से पूछे जाएंगे प्रश्न
विभाग द्वारा तैयार की गई इस योजना में पहले कक्षा अनुसार छात्रों को पढ़ाए जा रहे साईस व मैथ विषयों से संबधित हर चैप्टर से पांच-पांच प्रश्न इंटरनेट के जरिए पूछे जाएंगे।

बहु वैकल्पिक प्रश्नों के लिए पहले कक्षा अनुसार ग्रुप बनाए जाएंगे और निर्धारित समय के बाद इन प्रश्नों के उत्तर भी इंटरनेट पर पहले से तय तिथि अनुसार जारी किए जाएंगे, ताकि बच्चे भी उन्हें जान सके।

छठी से 10वीं कक्षा के छात्रों के लिए पहले यह योजना बनाई गई है, जिसके बाद अन्य कक्षाओं व अन्य विषयों से संबंधित प्रश्न भी पूछे जाएंगे। विभाग ने उक्त विषयों के गहन अध्ययन के आधार पर बड़ी संख्या में प्रश्न तैयार किए हैं।

विजेता छात्र होंगे सम्मानित, जिला वेबसाइट पर देंगे दिखाई
विषयगत करवाई जाने वाली प्रतियोगिताओं में पहले, दूसरे व तीसरे स्थान पर आने वाले छात्रों को 15 अगस्त व 26 जनवरी को मनाए जाने वाले राष्ट्रीय पर्व के अवसर पर स्कूल व गांव स्तर से लेकर जिला स्तर के कार्यक्रमों में संबधित मुख्य अतिथियों से सम्मानित करवाया जाएगा।

यहीं नहीं इन विजेता छात्रों के फोटो सहित उनका परिवार व स्कूल सहित पूरा ब्यौरा जिले की वेबसाइट पर भी डाला जाएगा, ताकि दूसरे बच्चों से लेकर अभिभावक, अधिकारी व कर्मचारी भी उन्हें जान सकें और बच्चों में प्रोत्साहन बढ़े।

ई-लर्निंग के लिए एकत्रित की गई साढ़े 4 हजार वीडियो
प्रोद्यौगिकी विभाग लगभग एक वर्ष से इस योजना पर जुटा हुआ है, जिसके तहत उक्त सभी कक्षाओं के साईस व मैथ विषयों से संबधित साढ़े 4 हजार वीडियो क्लिप तैयार की है। इनके जरिए इंटरनेट पर विभाग से जुड़ने वाले बच्चों को ई-लर्निंग से पढ़ाने का मौका दिया जाएगा।

डिजिटल लाइब्रेरी में मिलेगी फ्री सदस्यता
इंटरनेट पर क्विज प्रतियोगिताओं में विजेता रहने वाले छात्रों को जिला की डिजिटल लाइब्रेरी में फ्री सदस्यता भी प्रदान की जाएगी, ताकि वह इस लाइब्रेरी व यहां मौजूद तकनीक का भी भरपूर फायदा उठा सकें। इन बच्चों को यहां विषयों से लेकर कैरियर से संबधित अलग-अलग क्षेत्रों अनुसार भी प्रोजेक्टर पर जानकारी दिए जाने की व्यवस्था होगी, जहां उनके लिए  कई एक्सपर्ट भी मौजूद होंगे।

शिक्षा में गुणवत्ता व तकनीक की रूचि बढ़ाने का प्रयास
विभाग के जिला सूचना अधिकारी विनोद कुमार सिंगला का कहना है कि सरकार शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के लिए भरसक प्रयास कर रही है। इसी में ही विभाग ने यह कदम उठाया है। इसके लिए शिक्षा विभाग का भी सहयोग लिया जाएगा तो यह प्रतियोगिताएं होने से बच्चों में अपने विषयों की पढ़ाई व तकनीक से जुड़ने के प्रति रुचि बढ़ पाएगी। सभी विजेता छात्रों को विभाग पूरा रिकार्ड भी मेंटेन करेगा और उनके अभिभावकों को एसएमएस के जरिए समय समय पर सूचित भी किया जाएगा।

Recommended

सवाल करियर का हो या फिर हो नौकरी से जुड़ा, पाएं पूरा समाधान जाने-माने ज्योतिषी से
ज्योतिष समाधान

सवाल करियर का हो या फिर हो नौकरी से जुड़ा, पाएं पूरा समाधान जाने-माने ज्योतिषी से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

जवानों के बलिदान को यूं ही बेकार न जाने दें

हसेरन। पुलवामा आतंकी हमले में शहीद प्रदीप सिंह के पिता अमर सिंह ने रुंधे गले से कहा कि यदि बेटा दुश्मन देश के कम से कम 50 सैनिक मारने के बाद शहीद होता, तो शायद इतना दुख नहीं हुआ होता।

18 फरवरी 2019

विज्ञापन

कुलभूषण जाधव मामले में आईसीजे में सुनवाई, पूर्व सॉलिसीटर जनरल हरीश साल्वे ने गिनवाए पाक के झूठ

आइसीजे में भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मामले में सार्वजनिक सुनवाई शुरू हो गई है। चार दिन चलने वाली इस सुनवाई में भारत और पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र की शीर्ष अदालत में अपनी-अपनी दलीलें पेश कर रहे हैं।

18 फरवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree