बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

बिना किताबों के स्कूल जाएंगे यूपी के बच्चे

ब्यूरो/अमर उजाला,लखनऊ Updated Tue, 31 Mar 2015 04:00 PM IST
विज्ञापन
New session start but books are unavailable

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
सीबीएसई और सीआईएससीई की तरह इस साल से यूपी बोर्ड भी एक अप्रैल से अपने नए सत्र की शुरुआत करने जा रहा है। लेकिन सत्र की शुरुआत के साथ ही बड़ी संख्या में विभिन्न बोर्ड के छात्रों को बिना किताबों के ही स्कूल जाना पड़ेगा।
विज्ञापन


यह समस्या मुख्य रूप से सीबीएसई और यूपी बोर्ड के साथ है। बाजार में एक तरफ जहां सीबीएसई में चलने वाली नेशनल काउंसिल फॉर एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग (एनसीईआरटी) की किताबें गायब हैं वहीं सरकारी परिषदीय स्कूलों में बांटी जाने वाली किताबों के लिए तो अभी तक टेंडर भी पास नहीं हुआ।


परिषदीय व यूपी बोर्ड के अनुदानित कॉलेजों में कक्षा आठ तक किताबों का वितरण किया जाना है। सरकार ने इस साल से परिषदीय स्कूलों और यूपी बोर्ड का सत्र एक अप्रैल से शुरू करने की घोषणा तो कर दी लेकिन इसके लिए आवश्यक तैयारी पर ध्यान नहीं दिया।

कक्षा आठ तक बांटी जाने वाली किताबों के लिए अभी तक टेंडर प्रक्रिया तक नहीं की गई है। विभागीय सूत्रों की माने तो अभी जो स्थिति है उसके अनुसार आने वाले 2-3 महीने तक भी किताबें मिल पाना मुश्किल ही दिखता है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

कहीं नहीं मिल रहीं एनसीईआरटी की किताबें

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us