एलयू प्रशासन ने पूछा, क्यों नहीं खर्च किया पैसा?

आशीष कुमार त्रिवेदी/अमर उजाला, लखनऊ Updated Sat, 01 Feb 2014 09:49 AM IST
lu give notice to departments
एलयू में शुक्रवार को 12वीं पंचवर्षीय योजना के तहत मिले बजट को अभी तक न खर्च कर पाने वाले विभागों को चेतावनी दी गई।

उन्हें दो टूक कहा गया कि अगर वे काम नहीं करवा पा रहे हैं तो अपनी रकम सरेंडर कर दें, उसे दूसरे विभाग को दे दिया जाएगा।

फिलहाल, सभी विभागों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि अभी तक जारी की गई छह करोड़ रुपये 15 फरवरी तक खर्च किए जाएं। इसके बाद 28 फरवरी तक हर हालत में रिपोर्ट तैयार कर समविट कर दें।

कुलपति डॉ. एसबी निमसे की अध्यक्षता में हुई बैठक में अरेबिक विभाग की ओर से जब यह जानकारी मिली कि उन्होंने अभी तक पर्चेज कमेटी नहीं बनाई है तो इस पर कुलपति ने नाराजगी जताई।

कुलपति डॉ. एसबी निमसे ने सभी विभागों को सख्त निर्देश जारी कर कहा कि वे हर हाल आवंटित धनराशि खर्च करें और अपने-अपने विभाग को बेहतर बनाएं।

मालूम हो कि पूर्व कुलपति प्रो. मनोज कुमार मिश्रा के शासनकाल में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की ओर से मिली 18 करोड़ रुपये में से मात्र आठ करोड़ रुपये ही एलयू खर्च कर पाया था।

नतीजा यह होगा कि इस पंचवर्षीय योजना में एलयू को मात्र 16 करोड़ रुपये ही मिलेंगे। अगर एलयू पूरी 18 करोड़ रुपये की रकम खर्च कर देता तो उसे इस बार 36 करोड़ रुपये मिल जाते।

ऐसे में कुलपति का फोकस है कि विभाग इस बार अधिक से अधिक बजट की धनराशि खर्चा करें।

Spotlight

Most Read

Campus Archives

अब चलेगा ‘नींद से जागो’ अभियान

14 सितंबर को हिंदी दिवस के मौके पर नैनीताल उच्च न्यायालय में हिंदी में फैसले की मांग पर अमर उजाला की मुहिम नए रंग में रंगती नजर आ रही है।

14 सितंबर 2017

Related Videos

गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार दिखेगा ‘रुद्र’ का जलवा

भारतीय वायुसेना की शान रुद्र पूरी तरह तैयार है गणतंत्र दिवस पर अपना जलवा दिखाने के लिए। पहली बार ये देश के सामने आने वाला है। देश में ही बने रुद्र ने अपने अंदर ढेरों खूबियां समेटी हुई है।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper